Covid-19 Update

2,00,328
मामले (हिमाचल)
1,94,235
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,881,965
मामले (भारत)
178,960,779
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल के इन जिलों में ताउते का दिखा असर, कई घरों-गौशालाओं की उड़ी छतें

फलदार पौधों के नीचे लगे फलों के ढेर, कई घंटों तक बिजली रही गुल

हिमाचल के इन जिलों में ताउते का दिखा असर, कई घरों-गौशालाओं की उड़ी छतें

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल के तीन जिलों में बीती रात को चक्रवाती तूफान ताउते (cyclone tauktae) का असर दिखा। प्रदेश के कांगड़ा, मंडी और चंबा (Chamba) में देर रात आए तूफान ने भारी कहर मचाया। तेज हवाओं से प्रदेश के तीनों जिलों में फलदार पौधों सहित कई घरों और पशुशालाओं को भारी नुकसान हुआ है। करीब सात गौशालाओं (Cow Shed) की छतें उड़ गईं और दो घर क्षतिग्रस्त हो गए। तूफान (Storm) से कई इलाकों में ब्लैक आउट रहा। बिजली के खंभे गिर जाने और ट्रांसफार्मरों को पहुंचे नुकसान से कई गांवों में बिजली (Electricty) गुल रही। जिला कुल्लू के कई हिस्सों में तेज हवाओं के साथ बारिश (Rain) भी हुई। कुल्लू में सेब के पौधों को भारी नुकसान हुआ है। इसी तरह से चंबा जिले में तूफान और ओलावृष्टि से भटियात में आधा दर्जन लोगों की गोशालाओं की छतें उखड़ गईं। सिहुंता क्षेत्र में पेड़ों की टहनियां एचटी/एलटी लाइनों पर गिरने से भटियात विस क्षेत्र में 12 से 14 घंटे तक अंधेरा रहा। जबकि भरमौर की आठ पंचायतों में दस घंटे बिजली गुल रही। चुराह की पंचायतों में ओलावृष्टि से 50 प्रतिशत सेब की फसल बर्बाद हो गई।

यह भी पढ़ें: अब तूफान ने तोड़ी बागवानों की कमर, पकने से पहले ही धड़ाम हुआ आम


कांगड़ा (Kangra) जिले में भी तूफान से आम लीची की टहनियों समेत पेड़ों के नीचे फलों के ढेर लग गए। वहीं धर्मशाला के साथ लगते पासू में एक गोशाला की छत गिरने से पांच गायें घायल हो गईं। पुराना मटौर में एक पेड़ बिजली के खंभे पर गिर गया। जिला मुख्यालय के साथ लगते बड़ोल में एक पेड़ मकान के गेट पर गिर गया। जबकि पुहाड़ा में गोशाला पर पेड़ गिर गया। देर रात आए तूफान से बागबानी विभाग ने जिला भर के बागवानों को करीब 27 लाख रुपये के नुकसान का आकलन किया है। नगरोटा सूरियां विकास खंड में सबसे ज्यादा करीब नौ लाख रुपये का नुकसान हुआ है। वहीं, बीती रात रोहतांग दर्रा (Rohtang Pass) में 15 सेंटीमीटर तक बर्फबारी हुई है। बारालाचा व कुंजुम दर्रा में भी ताजा हिमपात हुआ है। लाहुल के कोकसर व ग्रांफू में पांच सेंटीमीटर बर्फबारी (Snowfall) हुई। कोकसर में मई में पहली बार बर्फ के फाहे गिरे और ओलावृष्टि हुई।

यह भी पढ़ें: ताउते तूफान में हिमाचल का युवक लापता, परिजनों ने सीएम जयराम से लगाई गुहार

बता दें कि मौसम विभाग (weather department) ने हिमाचल के ऊंचाई और मध्यम ऊंचाई वाले इलाकों में 24 मई तक मौसम के खराब रहने का पूर्वानुमान लगाया है। जबकि ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी और बारिश और मध्यम ऊंचाई वाले भागों में बारिश और तूफान की चेतावनी जारी की है। मैदानी क्षेत्रों में अगले पांच दिन मौसम साफ रहेगा। 27 मई को समूचे प्रदेश में फिर से मौसम बिगड़ेगा। प्रदेश में न्यूनतम तापमान सामान्य से 1 से 2 डिग्री और अधिकतम तापमान सामान्य से 5 से 6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है