- Advertisement -

ऊना, सिरमौर, चंबा में जमकर बरसे बादल, कई रास्ते बंद 

हिमाचल में 13 जुलाई से सक्रिय होगा मानसून, लोगों को उमस से मिलेगी राहत  

0

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश के सिरमौर, ऊना और चंबा में मंगलवार और बुधवार को जोरदार बारिश दर्ज की गई। बारिश और भूस्खलन के कारण कई रास्ते बंद हो गए। बीते 24 घंटे में पांवटा साहिब और सिरमौर में सबसे ज्यादा बारिश हुई है। मौसम विभाग ने राज्य के कुछ और हिस्सों में अगले 24 घंटे में बारिश की संभावना जताई है। 
ये रास्ते हुए जाम 
बारिश से जहां ऊना में दुकानों में पानी भर गया, वहीं भूस्खलन से चंबा-भरमौर दिनका घार के पास बंद हो गया। इससे चंबा से भरमौर जाने वाली तीन एचआरटीसी और आधा दर्जन निजी बसों सहित सैकड़ों छोटे वाहन फंस गए। चंबा-तीसा मार्ग पर कल्हेल नामक स्थान पर चट्टानें गिरने से रास्ता बंद हो गया। नाहन-पांवटा एनएच बोहलियों के पास मलबा आने से एक घंटा बंद रहा। नाहन-रामाधौण, नाहन-कौलांवालाभूड़ वाया सैनवाला और वाया सुरला, ददाहू-संगड़ाह, जमटा-बिरला के अलावा गिरिपार क्षेत्रों और पच्छाद इलाके की कई मुख्य सड़कों समेत संपर्क मार्ग बंद रहे।

वैकल्पिक झूला पुल बहा

वहीं, भारी बरसात के चलते माजरा को मोहटली खरड़ से जोड़ने वाला वैकल्पिक झूला पुल पानी के तेज बहाव के कारण बह गया। बताया जा रहा है कि यह झूला पुल देर रात वहां जिससे कोई जानी नुकसान नहीं हुआ। सूचना मिलने पर पंचायत प्रधान सुरिंद राजू ने एसडीएम गौरव महाजन को सूचित किया। गौरव महाजन ने बताया कि स्थिति का जायजा ले लिया गया है शीघ्र ही इस क्षतिग्रस्त झूला पुल का एस्टीमेट बनाकर उच्च प्रशासन को भेजा जाएगा। रहे हैं।
मौसम केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि पांवटा साहिब में 20, नाहन में 10, पालमपुर में करीब 9 सेंटीमीटर बारिश हुई। उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश के कुछ स्थानों पर आंधी-बारिश और कुछ जिलों में भारी बारिश होने की आशंका है। उन्होंने यह भी कहा कि 13 जुलाई से प्रदेश में मॉनसून सक्रिय हो जाएगा, जिससे लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिलेगी। मौसम विभाग का आंकलन है कि 15 जुलाई तक प्रदेश में बादल जमकर बरसेंगे। 

- Advertisement -

Leave A Reply