Expand

पराशर में बनेगा हेलिपैड, सरकार ने जारी किए दस लाख

पराशर में बनेगा हेलिपैड, सरकार ने जारी किए दस लाख

- Advertisement -

मंडी। विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल पराशर अब शीघ्र ही हवाई मार्ग से जुड़ जाएगा। पराशर में हेलिपैड बनाने के लिए सरकार ने हरी झंडी दे दी है। पराशर में लोक निर्माण विभाग के रेस्टहाउस से पहले मंडी की तरफ को एक हेक्टेयर के लगभग भूमि को इसके लिए फाइनल कर दिया गया है। यही नहीं इस भूमि की फोरेस्ट क्लीरेंस  का केस भी प्रदेश सरकार ने एनओसी के लिए भेज दिया है। जिसकी अनुमति मिलने के बाद पराशर में हेलिपैड बनने का काम शुरू होगा। प्रदेश सरकार ने इसके लिए पर्यटन विभाग के माध्यम से  फिलहाल दस लाख रुपए भी जारी कर दिए हैं, जबकि हेलिपैड के निर्माण पर 50 लाख के लगभग का खर्चा आएगा। प्रदेश सरकार ने पराशर में हेलिपैड बनाने का जिम्मा लोक निर्माण विभाग मंडी एक को दिया है। लोक निर्माण विभाग अब हेलिपैड बनाने की फाइनल प्रपोजल बनाने में लगा हुआ है। एफसीए क्लीरेंस मिलने के बाद हेलिपैड बनाने के टेंडर लोक निर्माण विभाग जारी करेगा।

kaulउल्लेखनीय है कि पिछले कई वर्षो से पराशर में हेलिपैड बनाने की घोषणाएं होती आई हैं। जो कि असल में अब पूरी होने जा रही है। पराशर पर्यटन स्थल पर सर्दियों के तीन महीनों को  छोड़ कर बड़ी संख्या पर्यटक पहुंचते हैं, लेकिन विश्व प्रसिद्ध पराशर पर्यटन स्थल सर्दियों में शेष दुनिया से कट जाता है। क्षेत्र सर्दियों में भारी बर्फबारी होने के कारण सड़क मार्ग दिसंबर महीने से लेकर फरवरी महीने तक बंद रहता है। पराशर झील भी पूरी तरह से जम जाती है। हालांकि पराशर में कई ऐसे स्थल है, जहां पर पर्यटन की दृष्टि से सर्दियों में भी कई एक्टिविटी करवाई जा सकती है। देश-विदेश के पर्यटकों को यहां आकर्षित किया जा सकता है। ऐसे में अगर अब पराशर में हेलिपैड का निर्माण होता है तो सर्दियों में इस जगह को हेलिटेक्सी से जोड़ा जा सकता है। इससे देश विदेश से पर्यटक पराशर पहुंच सकेंगे। उधर, लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता प्रदीप ठाकुर ने बताया कि भूमि फाइनल कर दी गई है। एफसीए का केस भी सबमिट कर दिया गया है। शीघ्र ही हेलिपैड निर्माण के टेंडर जारी किए जाएंगे। स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि हेलिपैड बनने के बाद पराशर में पर्यटन को और बढ़ावा मिलेगा। सरकार कई ऐसी योजनाओं पर विचार कर रही है। जिससे देश-विदेश के पर्यटकों को पराशर में आकर्षित किया जा सके।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है