Covid-19 Update

1,53,717
मामले (हिमाचल)
1,11,878
मरीज ठीक हुए
2185
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

पारिवारिक बंदोबस्त को न तो पंजीकरण और न ही स्टांप पर लिखने की जरूरत 

पारिवारिक बंदोबस्त को न तो पंजीकरण और न ही स्टांप पर लिखने की जरूरत 

- Advertisement -

शिमला। फैमिली सेटलमेंट यानी पारिवारिक बंदोबस्त को न तो पंजीकृत करवाने की आवश्यकता है और न ही किसी स्टांप पेपर (Stamp paper) पर लिखने की जरूरत है। प्रदेश हाईकोर्ट ने भूमि विवाद से जुड़े मामले का निपटारा करते हुए यह महत्वपूर्ण व्यवस्था दी। कोर्ट ने स्पष्ट किया कि फैमिली सेटलमेंट (Family settlement) यदि रजिस्टर्ड न भी हो तब भी उसमें हिस्सा लेने वाले सभी भागीदार उसके तहत पाबंद माने जाते हैं।


यह भी पढ़ें:असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर की जमानत याचिका पर अब 30 अगस्त को होगी सुनवाई


मामले के अनुसार अपीलकर्ता रत्तन चंद व अन्यों ने दीवानी दावा कर प्रतिवादियों को विवादित भूमि पर किसी तरह का निर्माण करने पर पाबंदी लगाने की गुहार लगाई थी। वादियों का कहना था कि सभी पक्षकार विवादित भूमि के संयुक्त मालिक है और भूमि का बंटवारा नहीं किया गया है। इसके बावजूद प्रतिवादी ऋषि केश व अन्य ने भूमि के अवल हिस्से पर निर्माण कार्य शुरू कर दिया है। वादियों का आरोप था कि प्रतिवादियों ने ऐसा करते समय उनकी सहमति नहीं ली और कार्य करते जा रहे हैं। प्रतिवादियों का कहना था कि विवादित भूमि का फैमिली पार्टीशन 13 मई, 1958 को हो गया था जो उनके दादा नरोत्तम ने किया था। निचली अदालतों ने वादियों का दावा खारिज कर दिया।


यह भी पढ़ें: आरबीआई के खज़ाने से 1.76लाख करोड़ लेने पर राठौर ने जताई हैरानी

वादियों ने निचली अदालत के फैसलों को हाईकोर्ट में यह कहते हुए चुनौती दी कि पार्टीशन डीड पंजीकृत न होने और उस पर कोई स्टांप न होने के कारण उसे नजरअंदाज किया जाना चाहिए। न्यायाधीश तरलोक सिंह चौहान ने निचली अदालतों के फैसलों को उचित ठहराते हुए कहा कि फैमली सेटलमेंट को न तो रजिस्टर्ड करने की जरूरत थी और न ही कानून के तहत उस पर किसी स्टांप ड्यूटी की जरूरत थी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है