Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

जिम में सप्लीमेंट के नाम पर नशाखोरी, पंजाब सरकार को हाई कोर्ट ने भेजा नोटिस

जिम में सप्लीमेंट के नाम पर नशाखोरी, पंजाब सरकार को हाई कोर्ट ने भेजा नोटिस

- Advertisement -

नई दिल्ली। जिम में सप्लीमेंट (Supplement) के नाम पर नशाखोरी करने के मामले में पंजाब (Punjab) हाई कोर्ट (High Court) में दायर एक जनहित याचिका पर कोर्ट ने पंजाब सरकार को नोटिस भेज जवाब मांगा है। कोर्ट ने इस मामले में 27 मई तक रिपोर्ट (Report) देने के आदेश दिए हैं।


यह भी पढ़ें- रूसी महिला से अमृतसर में बरामद हुए सोने के बिस्कुट, यहां छिपाकर लाई थी

दरअसल जिम में ऐसी दवाएं (Drugs) या स्टेरॉयड (Steroids) दिए जा रहे थे जो बैन थे और उनका इस्तेमाल अमेरिका (America) में सिर्फ घोड़ों पर ही किया जाता है। यह ड्रग्स युवाओं (Youth) को नशे का आदि बना रहे थे। इसलिए इनके खिलाफ कोर्ट में याचिका (Petition) दायर की गई थी। पंजाब सरकार से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सभी जिम की निगरानी कैसे की जा सकती है। हाईकोर्ट (High Court) ने इस पर फटकार लगाते हुए कहा कि यदि आपके बस का नहीं है तो बता दो, बाकी हम देख लेंगे। इसके साथ ही पंजाब सरकार को अगली सुनवाई पर एक्शन टेकन रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिए।


यह भी पढ़ें- 32 साल से अमेरिका में रह रहे परिवार के चार लोगों की गोली मारकर हत्या

दरअसल, इस मामले में लुधियाना (Ludhiana) के रहने वाले रवि कुमार ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। उन्होंने कोर्ट में बताया था कि जब उसका बेटा 12वीं क्लास में था और उसने जिम शुरू किया था। जिम ट्रेनर ने उसे बॉडी बनाने के लिए सप्लीमेंट लेने को कहा । इसके बाद उसे स्टेरॉयड व टीके देने शुरू कर दिए जिससे वह नशे का आदी हो गया। याचिकाकर्ता ने अपने बेटे के कमरे में से सप्लीमेंट और दवाओं की फोटो डॉक्टर (Doctor) को दिखाई तो डॉक्टर ने बताया कि इनमें से कुछ ऐसे ड्रग हैं जो बैन कर दिए गए हैं। उन्होंने अपनी याचिका में लिखा, ‘बिना किसी लाइसेंस और बिना किसी डॉक्टर के प्रिसक्रिप्शन के कैसे ड्रग किसी को दी जा सकती है। फूड सप्लीमेंट के नाम पर ज्यादातर जिम यह नशा देकर लोगों को नशे का आदी बना रहे हैं। ऐसे में जिम में किसी भी प्रकार के फूड सप्लीमेंट, स्टेरॉयड या ऐसे किसी भी उत्पाद की बिक्री पर रोक लगाई जाए।’

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Like करें हिमाचल अभी अभी का Facebook Page…. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है