Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

हेरिटेज टूरिज्म को हिमाचल की 20 साइट्स चिंहित

हेरिटेज टूरिज्म को हिमाचल की 20 साइट्स चिंहित

- Advertisement -

लेखराज धरटा/शिमला। पहाड़ी राज्य हिमाचल (Himachal) में अब हेरिटेज टूरिज्म (Heritage Tourism) को विकसित करने के लिए प्रदेश की जयराम सरकार (Jairam Govt) ने नया कंसेप्ट तैयार कर दिया है। जयराम सरकार के प्रस्ताव पर केंद्र की मोदी सरकार (Modi Govt) ने प्रदेश की 29 हेरिटेज साइट्स (Heritage Sites) को गोद लेने की मंजूरी दे दी है। ऐसे में इन साइट्स को विकसित करने के लिए निजी क्षेत्र से निवेशक हिमाचल आएंगे। प्रदेश के ऐसे मंदिर या किला जो प्राचीन काल से विकास को तरस रहे हैं, उन्हें अब भाषा एवं संस्कृति विभाग गोद लेगा। जिनका विकास पर्यटन विभाग के तहत होना है।

यह भी पढ़ेंः हिमाचल प्रदेश टूरिज्म में जूनियर इंजीनियर पदों के लिए निकली भर्ती, ऐसे करें आवेदन

प्रदेश सरकार (H.P Govt) भाषा एवं संस्कृति विभाग और पर्यटन विभाग ऐसी धराहरों को टूरिज्म की दृष्टि से विकसित करेगी। केंद्र सरकार की योजना अपनी धरोहर, अपनी पहचान के तहत हिमाचल की 20 धरोहरों को विकसित करने जा रही है। प्रदेश सरकार ने फिक्की, सीआईआई, ओबरॉय होटल ग्रुप, रेडिसन होटल ग्रुप, अंबुजा, मिन्ची, एसजेवीएनएल के साथ-साथ उद्योग जगत में अब तक नाम कमा चुकी कंपनियों को सरकार ने निमंत्रण दिया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक प्रदेश की इन 20 हेरिटेज साइट्स को विकसित करने के लिए यदि निजी निवेशक आगे आते हैं तो उसके बाद राज्य सरकार को भी रेवन्यू आएगा। फाइनल एग्रीमेंट होने के बाद निजी कंपनी या निवेशक से वर्ष भी तय होंगे। यानी कितने साल के लिए हेरिटेज साइट्स को चला सकते हैं। बताया गया कि प्रस्ताव फाइनल होने के बाद प्रदेश सरकार टेंडर आमंत्रित करेगी। उससे पहले भाषा एवं संस्कृति विभाग निवेशकों को साइट विजिट पर ले जाएगा।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

प्रधान सचिव भाषा एवं संस्कृति डॉ. पूर्णिमा चौहान ने बताया कि प्रदेश की 20 हेरिटेज साइट्स को टूरिज्म की दृष्टि से विकसित करने के लिए इन धराहरों को गोद लेने की मंजूरी केंद्र सरकार से मिली है। जल्द ही ऐसे साइट्स पर हेरिटेज टूरिज्म को विकसित करेंगे। इन धरोहरों की होगी अपनी पहचान चामुंडा देवी मंदिर कांगड़ा, मगरू महादेव मंदिर छतरी ,पराशर मंदिर मंडी, राधा कृष्ण मंदिर डाडासीबा, जानकी नाथ मंदिर जयसिंहपुर, महादेव मंदिर चंबा, कमलाह किला धर्मपुर, मृकुला देवी मंदिर लाहुल-स्पीति, फू गोंपा ताबो, परशूराम मंदिर निरमंड, चैनी कोठी मंदिर बंजार, मनू महाराज मंदिर कुल्लू, गौंदला किला लाहुल-स्पीति, कंगयूर किला कानम किन्नौर, रॉक आर्ट लाहुल-स्पीति, कालका-शिमला रेलवे ट्रेक, हरिपुर गांव हमीरपुर, रंजौर मैहल सिरमौर, सापनी किला किन्नौर की अपनी पहचान होगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है