Covid-19 Update

1,98,313
मामले (हिमाचल)
1,89,522
मरीज ठीक हुए
3,368
मौत
29,419,405
मामले (भारत)
176,212,172
मामले (दुनिया)
×

तीन मुख्य राजकीय फार्मेसियों को निजी हाथों में सौंपने का विरोध

तीन मुख्य राजकीय फार्मेसियों को निजी हाथों में सौंपने का विरोध

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल की तीन मुख्य राजकीय फार्मेसियों को निजी हाथों में सौंपने का हिमाचल आयुर्वेदिक चिकित्साधिकारी परिषद ने विरोध किया। परिषद ने सरकार से अपील की है कि प्रदेश कि तीनों राजकीय फार्मेसियों को निजी हाथों में न सौंपा जाए। इस संबध में हिमाचल आयुर्वेदिक चिकित्साधिकारी परिषद की एक बैठक परिषद प्रदेशाध्यक्ष डॉ. केश्व शर्मा की अध्यक्षता में संपन्न हुई।

इस दौरान प्रदेश में आयुर्वेद विभाग द्वारा संचालित तीन राजकीय फामेस जोगेंद्रनगर जिला मंडी, माजरा जिला सिरमौर और पपरोला जिला कांगड़ा को निजी क्षेत्र को न सौंपने की अपील की गई। इस अवसर पर डॉ. केश्व शर्मा ने कहा कि यह फार्मेसियां आयुर्वेद की धरोहर हैं और लंबे समय से रोगियों को उच्च गुणवक्ता युक्त औषधियां उपलब्ध करवा रही हैं। इसके अलावा सैकड़ों लोगों की आजीविका सीधे तौर पर इनसे जुड़ी है।


परिषद ने सरकार से आग्रह करती है कि इन फार्मेसियों में उपलब्ध मानव संसाधनों का सुमिचत रूप से प्रयोग कर आधुनिक उपकरणों द्वारा उच्च गुणवक्ता की दवाइयां का निर्माण किया जाए, ताकि विभाग के साथ रोगियों को भी लाभ पहुंच सके। परिषद इन्हें स्वयं संचालित रखने की गुजारिश करती है। बैठक में प्रदेश भर के परिषद सदस्य मौजूद रहे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है