×

Satti का पलटवार : Budget के आंकड़े मायाजाल, घोषणाएं भी झूठी

Satti का पलटवार : Budget के आंकड़े मायाजाल, घोषणाएं भी झूठी

- Advertisement -

himachal budget : कहा, हिमाचल में बीजेपी जनता की चोट से बनाएगी सरकार

himachal budget : शिमला। बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने सीएम वीरभद्र सिंह द्वारा पेश किए गए बजट के आंकड़ों का माया जाल और झूठी घोषणाओं का पिटारा बताया। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश को वोटों से जीता है, जबकि गोवा को कोर्ट से और मणिपुर में गठजोड़ से सरकार बनाई है। उन्होंने कहा कि अब हिमाचल में बीजेपी जनता की चोट से सरकार बनाएगी। सत्ती ने विधानसभा में आज बजट चर्चा में हिस्सा लेते हुए कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया कि उसने हर बजट में पुरानी घोषणाओं को भुलाया है और हर बार वाहवाही लूटने के लिए नई संस्थान खोलने का ऐलान किया, लेकिन जमीन पर स्थिति यह है कि सरकार ने दर्जनभर एसडीएम कार्यालय खोलने की घोषणा कर दी, लेकिन इसके लिए सरकार ने न तो कार्यालय का प्रबंध किया और न ही स्टाफ का।


उन्होंने यह भी कहा कि बजट में की गई घोषणाएं अगले 10 से 15 साल में भी पूरी नहीं हो सकती। सत्ती ने सरकार द्वारा अंधाधुंध खोले जा रहे संस्थानों पर भी सवाल उठाया और कहा कि इनकी मजबूती के लिए कोई काम नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि नए संस्थान तब तक न खोले जाएं, जब तक पूरा स्टाफ तैनात न किया जाए। उन्होंने सरकार पर ट्रांसफर के नाम पर डॉक्टरों को तंग करने का आरोप लगाया और कहा कि इस कारण अनेक डॉक्टर नौकरी छोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि रूसा के कारण आज पूरे प्रदेश के छात्र परेशान हैं। क्योंकि इसे बिना सोचे समझे लागू किया गया।

15 साल से घंटों चर्चा, समस्या का हल नहीं

सत्ती ने कहा कि प्रदेश विधानसभा में पिछले 15 साल से जंगली जानवरों और आवारा पशुओं पर घंटों चर्चा हो चुकी है, लेकिन सरकार के पास इस समस्या के हल के लिए कोई योजना ही नहीं है। इस कारण किसान 15 साल पहले भी परेशान था और आज भी उसकी वही स्थिति है। उन्होंने आवारा पशुओं की समस्या के समाधान  के लिए तुरंत प्रदेश के शक्तिपीठों के पास मौजूद पैसे का सदुपयोग करने की सलाह दी। उन्होंने प्रदेश सरकार पर केंद्र विभिन्न योजनाओं में मदद लेने में नाकाम रहने का आरोप लगाया और कहा कि यदि सरकार एम्स के लिए भूमि ट्रांसफर करती है तो बीजेपी अप्रैल माह में ही पीएम मोदी को हिमाचल लाकर इसका शिलान्यास करवाने को तैयार है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार हिमाचल को उदारता से वित्तीय सहायता दे रही है। कीरतपुर-नेरचौक फोरलेने को 6304 करोड़ रूपए और परवाणु-शिमला फोरलेन के लिए 2627 करोड़ रुपए एक मुश्त जारी करना इसका बड़ा उदाहरण है।

48 हजार ने मांगा अनुदान, फिर खुला शौच मुक्त कैसे

सत्ती ने हिमाचल को खुला शौच मुक्त राज्य घोषित करने पर भी सवाल उठाया और कहा कि अभी तक 48 हजार लोगों ने शौचालय बनाने के लिए अनुदान की मांग की है। ऐसे में प्रदेश को खुला शौच मुक्त कहना एक बहुत बड़ा धोखा है। उन्होंने कहा कि जब लोकसेवा आयोग और स्टाफ सेलेक्शन कमीशन है तो ठेके पर भर्तियां क्यों की जा रही हैं। उन्होंने भर्ती प्रक्रिया पर सवाल उठाया और कहा कि क्यों आउटसोर्सिंग के माध्यम से भर्ती हो रही है। इससे बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ हो रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार का समान विकास का दावा झूठा है। सीएम बताए कि ऊना में उन्होंने क्या शिलान्यास किए हैं। ऊना विधानसभा हलके में पूर्व सरकार के समय बस अड्डे का शिलान्यास किया था, उसमें कोई कार्य नहीं हुआ। मिनी सचिवालय बनना था, लेकिन वहां एक ईंट भी नहीं लगी। उन्होंने प्रदेश के सीमावर्ती इलाकों में कानून व्यवस्था की खराब स्थिति पर भी चिंता जताई।

जमा दो पेपर चोरी मामलाः  सुपरिटेंडेंट सहित चार सस्पेंड

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है