Covid-19 Update

2,17,140
मामले (हिमाचल)
2,11,871
मरीज ठीक हुए
3,637
मौत
33,504,534
मामले (भारत)
229,927,024
मामले (दुनिया)

लाहुल में फंसे सभी पर्यटक हेलिकॉप्टर से सुरक्षित पहुंचाए कुल्लू ,सीएम ने अपना हेलिकॉप्टर किया था तैनात

एनडीआरएफ, आईटीबीपी, बीआरओ को बचाव अभियान के लिए तैनात किया गया है

लाहुल में फंसे सभी पर्यटक हेलिकॉप्टर से सुरक्षित पहुंचाए कुल्लू  ,सीएम ने अपना हेलिकॉप्टर किया था तैनात

- Advertisement -

हिमाचल प्रदेश के लाहुल में फंसे सभी पयर्टकों को आज हेलिकॉप्टर द्वारा कुल्लू पहुंचाया गया। एसडीएम उदयपुर कहा कि सभी पर्यटकों को उनके उपमंडल से खाली कराया गया है। उधर तहसीलदार केलांग ने कहा लगभग 175 पर्यटकों और स्थानीय लोगों ने शांशा को पार किया है । पर्यटकों को बस से मनाली पहुंचाया गया है । स्थानीय लोगों की आवाजाही लगातार झालमन और शांशा में जारी है। इसके अलावा शंशा में फुट ब्रिज की स्थापना का काम पूरा हो गया है। दोनों जगहों पर स्थानीय लोगों की आवाजाही जारी है।
उधर  सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने एक उदाहरण पेश करते हुए अपने नए 16.सीटर हेलीकॉप्टर को लाहुल घाटी में फंसे कम से कम 66 लोगों को सुरक्षित निकालने (Evacuate People) के लिए तैनात किया है। रविवार को मौसम साफ होने के बाद, ठाकुर ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे पर्यटकों सहित लोगों को निकालने के लिए अपनी पहली उड़ान में उनका हेलीकॉप्टर तैनात करें, जो पांच दिनों के लिए लाहुल -स्पीति जिले में सड़कों के बंद होने के कारण फंसे हुए हैं। अपनी दिन भर की चार उड़ानों में, हेलीकॉप्टर टांडी से लगभग सभी फंसे हुए लोगों को निकालेगा और उन्हें बारिंग और कुल्लू छोड़ देगा, जहां से उन्हें सड़क मार्ग से सार्वजनिक परिवहन में उनके गंतव्य तक भेजा जाएगा।

यह भी पढ़ें: लाहुल से हुई दो रेस्क्यू फ्लाइट, गर्भवती महिला सहित 18 किए एयरलिफ्ट

दरअसल, लाहुल -स्पीति (Lahaul-Spiti) के जिला मुख्यालय केलांग पहुंचे ठाकुर ने शनिवार को जारी राहत और बचाव कार्यों की देखरेख के लिए राज्य की राजधानी पहुंचने के लिए रविवार को अपने पुराने हेलीकॉप्टर से यात्रा करने का फैसला किया ताकि नए हेलीकॉप्टर (Helicopter) का इस्तेमाल फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए किया जा सके। नई दिल्ली, पंजाब, ओडिशा और महाराष्ट्र के पर्यटकों सहित कुल 221 लोगों को शनिवार तक विभिन्न स्थानों से सड़क मार्ग से बचाया गया। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी), सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) और स्थानीय प्रशासन की टीमों को बचाव अभियान के लिए तैनात किया गया है।

एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि इससे पहले खराब मौसम के कारण फंसे हुए लोगों को एयरलिफ्ट नहीं किया जा सका था। उन्होंने बताया कि सीएम जयराम ठाकुर के निर्देश पर नया हेलीकॉप्टर कुल्लू शहर में तैनात था ताकि मौसम साफ होने पर इसे लोगों को एयरलिफ्ट करने में लगाया जा सके। 27 जुलाई को बादल फटने के बाद जिला मुख्यालय केलांग से करीब 15 किलोमीटर दूर उदयपुर अनुमंडल के तोजिंग नदी में अचानक आई बाढ़ में सात लोग बह गए। तीन लोग अब भी लापता हैं।

-आईएएनएस

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है