Covid-19 Update

2,05,874
मामले (हिमाचल)
2,01,199
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,612,794
मामले (भारत)
198,030,137
मामले (दुनिया)
×

वीडियोः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्षों के दबाव में राठौर, माना उन्हीं के कहने पर बदला डीसीसी का स्वरूप

वीडियोः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्षों के दबाव में राठौर, माना उन्हीं के कहने पर बदला डीसीसी का स्वरूप

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर (Himachal Congress President Kuldeep Rathore)ने माना है कि पार्टी के ही पूर्व अध्यक्षों (Former Presidents)का उन पर दबाव था,जिसके चलते ही उन्हें डीसीसी का स्वरूप बदलना पडा है। उन्होंने आज कैमरे पर ये बात मानी है कि चाहे वो वीरभद्र सिंह हो, विद्या स्टोक्स, कौल सिंह ठाकुर, विप्लव ठाकुर, कुलदीप कुमार या जीएस बाली सबने पार्टी के पुराने पैर्टन पर चलने का दबाव (Pressure)बनाया। यानी राठौर का कहने का मतलब था कि ये सभी चाहते थे कि संगठनात्मक जिले खत्म होने चाहिए,उसके चलते ही अब नए ढांचे में 13 जिले (DCC) व 72 ब्लॉक होंगे।

 


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group No 10… 

संगठनात्मक जिलों का सजन सुखविंदर सिंह सुक्खू ने अपने कार्यकाल के दौरान किया था। उस वक्त भी वीरभद्र सिंह व जीएस बाली सरीखे नेताओं ने इसका जबरदस्त विरोध जताया था,पर सुक्खू ने उन सबकी एक ना मानते हुए संगठनात्मक जिलों का गठन कर डाला था। अब राठौर ने पुराने पैटर्न पर लौटते हुए ही संगठनात्मक ढांचे के गठन की बात कही है। उन्होंने ये भी स्पष्ट किया है कि इसमें वरिष्ठ लोगों के साथ-साथ युवाओं की भागीदारी ज्यादा हो सकती है। इसमें उन्हीं लोगों को तरजीह दी जाएगी जो पूर्णकालिक बनकर काम कर सके, इस सबके लिए अभी उन्हें पार्टी हाईकमान से भी विचार-विमर्श करना है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है