- Advertisement -

अचानक दिल्ली दरबार क्यों पहुंचे सुक्खू, गहलोत से मुलाकात के क्या मायने

प्रदेशाध्यक्ष को लेकर शुरू उठापटक के बीच सुक्खू का दिल्ली दौरे पर कई सवाल

0

- Advertisement -

शिमला। विधानसभा चुनाव के पहले से ही प्रदेश कांग्रेस में सब कुछ ठीक नहीं है। पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू के बीच विवाद जगजाहिर है।

पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह ने तो सुक्खू के खिलाफ सीधी जंग का ऐलान किया हुआ है। वह विधानसभा चुनाव के पहले से ही सुक्खू को हटाने पर अड़े हुए हैं। इसी बीच हिमाचल कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के पद को लेकर लोबिंग भी शुरू हो चुकी है। राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा के करीबी व पूर्व महासचिव कुलदीप सिंह राठौर का नाम सामने आ रहा है।

इसके अलावा विधायक आशा कुमारी, हर्षवर्धन चौहान और रामलाल ठाकुर भी दौड़ में हैं। इन सबके बीच कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू अचानक दिल्ली पहुंचे। उन्होंने दिल्ली में पार्टी महासचिव अशोक गहलोत से मुलाकात की व संगठन की गतिविधियों के बारे चर्चा की। हालांकि यह बात पूरी तरह साफ नहीं हो पाई है कि सुक्खू अचानक दिल्ली क्यों पहुंचे। लेकिन, जानकार इसे प्रदेशाध्यक्ष के पद पर चल रही उठापटक को इससे जोड़ रहे हैं।

बता दें कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद सुक्खू की अध्यक्षता में कांग्रेस अधिकांश चुनाव हार चुकी है। 2014 का लोकसभा चुनाव, उसके बाद नगर निगम शिमला और 2017 में विधानसभा चुनाव भी कांग्रेस हार चुकी है। इसे देखते हुए पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह हमेशा से ही सुक्खू को पार्टी अध्यक्ष पद से हटाने की सिफारिश हाईकमान से करते आ रहे हैं।

- Advertisement -

Leave A Reply