Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

इन्वेस्टर्स मीट से पहले जनविरोधी नीतियों के खिलाफ परसों से सड़कों पर होगी कांग्रेस

इन्वेस्टर्स मीट से पहले जनविरोधी नीतियों के खिलाफ परसों से सड़कों पर होगी कांग्रेस

- Advertisement -

शिमला। केंद्र व राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ हिमाचल कांग्रेस छह नवंबर यानी बुधवार से 14 नवंबर तक प्रदेश भर में प्रदर्शन करेगी। इस दौरान पार्टी की कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल,सह प्रभारी गुरकीरत सिंह ,नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री सहित कांग्रेस के तमाम नेता हिस्सा लेंगे।

तय कार्यक्रम के अनुसार 6 नवंबर को चम्बा में प्रतिपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री व कांग्रेस की बरिष्ठ नेता आशा कुमारी की अगुवाई में विरोध प्रदर्शन का आगाज़ होगा।इसी दिन जिला सिरमौर के मुख्यालय नाहन में भी इसका आगाज विधायक हर्षवर्धन चौहान व विनय कुमार सयुंक्त तौर पर करेंगे।


7 नवंबर को बिलासपुर में विधायक इंद्र दत्त लखनपाल करेगे।8 को जिला मुख्यालय कुल्लू में,9 को मंडी में,10 को धर्मशाला में,11 को ऊना में,12 को हमीरपुर में,13 को सोलन व किन्नौर जिला मुख्यालय रिकांगपिओ में और 14 को शिमला में बड़े स्तर पर इस विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया जायेगा।

मीडिया से बातचीत के दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि आर्थिक मंदी के लिए केंद्र सरकार की नीतियां जिम्मेदार है, बेरोजगारी और महंगाई बीजेपी सरकार की देन, देश की अर्थव्यवस्था सबसे निचले स्तर पर पहुंच चुकी है। ये प्रदर्शन धर्मशाला में होने जा रहे ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट (Global Investors Meet) से ठीक एक दिन पहले शुरू होने जा रहा है।

राठौर ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि नोटबंदी और जीएसटी की मार के चलते आज देश भारी आर्थिक मंदी से गुजर रहा है और बेरोजगारी के साथ महंगाई बढ़ी है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2014 में कांग्रेस सरकार के समय में बेरोजगारी दर 3.4 फीसदी थी जबकि 2019 में बीजेपी सरकार में यह बढ़कर 8.1 फीसदी हो गईए जो कि पिछले 45 साल में सबसे ज्यादा है। नोटबन्दी के कारण 90 लाख लोगों का रोजगार छीन गया है और अर्थव्यवस्था पिछले साल 7.4 से 5 प्रतिशत के निम्न स्तर पर आ गई है।

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार के राज में डॉलर के मुकाबले रुपया सबसे कमजोर हो गया है। पेट्रोल, डीजल और एलपीजी की कीमतें आसमान छू रही है।देश बहुत बुरे आर्थिक मंदी के दौरान से गुजर रहा है औऱ सरकार सोई हुई है जिसे जगाने के लिए कांग्रेस सड़कों पर उतरेगी। वहीं, कुलदीप सिंह राठौर ने प्रदेश सरकार की इन्वेस्टर्स मीट को लेकर कहा कि सरकार फिजूलखर्ची कर रही है, सरकारी खर्चे पर निवेशक हिमाचल आ रहे हैं, जिसका बोझ जनता पर पड़ेगा। सरकार कह रही है पीएम मोदी आ रहे हैं। जबकि सवाल यह है कि पीएम मोदी का इन्वेस्टर मीट में क्या काम है,यह बात किसी की समझ नही आ रही है। पीएम मोदी को चाहिए कि प्रदेश के आर्थिक हालात को देखते हुए हिमाचल प्रदेश को कोई आर्थिक पैकेज दें जिससे प्रदेश को फायदा हो। इन्वेस्टर मीट को लेकर केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर भी कह चुके है कि पूरा निवेश नहीं आएगा।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है