Covid-19 Update

1,99,197
मामले (हिमाचल)
1,91,732
मरीज ठीक हुए
3,394
मौत
29,633,105
मामले (भारत)
177,414,471
मामले (दुनिया)
×

Industry Department के आदेशों से क्रशर मालिक खफा, सचिव पर गुमराह करने का आरोप

Industry Department के आदेशों से क्रशर मालिक खफा, सचिव पर गुमराह करने का आरोप

- Advertisement -

शिमला। उद्योग विभाग (Industry Department) के ताजा आदेशों से क्रशर मालिक (Crusher owner) तिलमिला उठे हैं। शिमला में पत्रकार वार्ता में हिमाचल प्रदेश क्रशर कल्याण संघ के प्रदेशाध्यक्ष अजय राणा ने उद्योग सचिव पर सरकार को गुमराह करने का आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने इन आदेशों को जल्द वापस लेने की भी सरकार से मांग की है। उन्होंने कहा कि माइनिंग लीज से एक किलोमीटर दूर खनिज को डंप करने की शर्त न्यायसंगत नहीं है। इस से कैरिज बहुत ज्यादा बढ़ेगा। साथ ही निर्माण सामग्री भी महंगी हो जाएगी। उन्होंने कहा कि उद्योग विभाग के ताजा आदेशों के बाद सैकड़ों लोगों को रोजगार छीनने का भी डर सता रहा है। पीडब्ल्यूडी (PWD) महकमे का सारा मटीरियल भी क्रशर से जाता है। इससे विभागीय काम और विकास कार्य प्रभावित होंगे। ठेकेदार काम नहीं कर पाएंगे।

यह भी पढ़ें: चंबा-होली मार्ग पर अनियंत्रित Tipper सड़क से लुढ़का, Driver घायल

प्रदेश क्रशर कल्याण संघ ने अधिकारी पर चेहतों को लाभ पहुंचाने का आरोप भी लगाया है। प्रदेश क्रशर कल्याण संघ ने अधिकारी को कार्यशैली में बदलाव को नसीहत दी है। प्रदेशाध्यक्ष अजय राणा ने कहा कि अधिकारी को अपनी कार्यशैली में सुधार करना चाहिए, यदि अधिकारी की कार्यशैली में सुधार नहीं हुआ, तो सूबे के वैद्य क्रशर मालिक अधिकारी का घेराव करने से भी गुरेज नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 300 क्रशर मालिक पंजीकृत हैं। जो प्रदेश सरकार को 600 करोड़ रुपए की रॉयल्टी हर साल देते हैं। प्रदेश में रोजगार के साधन भी क्रशर के माध्यम से मुहैया करवाए जा रहे हैं। जिन्होंने लीज पर काम ले रखा है, वह भी नियमों के तहत ही काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि क्रशर मालिक भी हर हाल में पर्यावरण का संरक्षण चाहते हैं। वे भी अवैध रूप से खनन करने वालों के खिलाफ हैं। ऐसे खननकारियों के खिलाफ सरकार को सख्त कार्रवाई अमल में लानी चाहिए। उन्होंने उद्योग विभाग से अवैध खनन करने वालों के खिलाफ सख्ती बरतने की मांग की है। अजय राणा ने सरकार से इन आदेशों को जल्द वापस लेने की मांग की है। इसी मांग को लेकर प्रदेशभर के क्रशर मालिक जल्द सीएम जयराम ठाकुर और उद्योग मंत्री विक्रम सिंह ठाकुर से मुलाकात करेंगे। उन्होंने सरकार से आग्रह किया कि इस तरह के फैसले लेने से पहले क्रशर मालिकों को भी विश्वास में लेना चाहिए।


हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel...

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है