Covid-19 Update

2,18,000
मामले (हिमाचल)
2,12,572
मरीज ठीक हुए
3,646
मौत
33,617,100
मामले (भारत)
231,605,504
मामले (दुनिया)

राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ ने टेनिस में आजमाया हाथ, संजय कुंडू के साथ मारे शॉट

अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन अरबिंद एंड इंडिया रेनिसेंस की अध्यक्षता की

राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ ने टेनिस में आजमाया हाथ, संजय कुंडू के साथ मारे शॉट

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर (Governor Rajendra Vishwanath Arlekar) ने आईआईएएस शिमला में टेनिस कोर्ट (Tennis Court) का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू (Sanjay Kundu) और आरट्रेक मेजर जनरल राज शुक्ला के साथ टेनिस खेला। इससे पहले राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन अरबिंद एंड इंडिया रेनिसेंस (Aurobind And India Renaissance) की अध्यक्षता की। राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने कहा कि श्री अरबिंद घोष एक विद्वानए कवि और राष्ट्रवादी थे,जिन्होंने आध्यात्मिक विकास के माध्यम से सार्वभौमिक मुक्ति के दर्शन को प्रतिपादित किया। वह न केवल भारतीय क्रांतिकारियों में एक अग्रणी थे, बल्कि दूरदर्शी भी थे, जिन्होंने एक उभरते हुए भारत (India) का पूर्वाभास किया और राष्ट्र निर्माण में उल्लेखनीय योगदान दिया।

यह भी पढ़ें: जांच पर राज्यपाल राजेंद्र आर्लेकर बोले- ऐसा विषय मेरे पास नहीं आया, आएगा तो देखेंगे

 

 

यह बात राज्यपाल ने आज यहां भारतीय उच्च अध्ययन संस्थान, शिमला (Shimla) द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन (International Conference) श्री अरबिंद एंड इंडिया रेनिसेंस विषय पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में कहीं। राज्यपाल ने कहा कि श्री अरबिंद का पूरा जीवन बलिदान भरा रहा। उन्होंने कहा कि त्याग अलग.अलग विषयों में अलग-अलग तरीके से किया जा सकता है लेकिन त्याग की भावना का होना आवश्यक है। मन में त्याग का भाव हो तो सारा संसार तुम्हारा है, क्योंकि जब भी त्याग की भावना होती है, तो उसके दृष्टिकोण से भिन्न-भिन्न विषयों का समाधान किया जा सकता है।

 

 

हिमांजलि नामक पुस्तक का किया अनावरण

राज्यपाल ने कहा कि श्री अरबिंद ने राष्ट्रवाद की विचारधारा और त्याग की भावना का देश में प्रसार किया था। उन्होंने देश की राजनीति में भी बहुमूल्य योगदान दिया। वह आधुनिक भारत के योगी थे जिन्होंने सर्वप्रथम स्वराज का नारा दिया था। वे कहते थे कि यदि स्वराज पाकर भी आप देश नहीं चला सकते हैं तो फिर वही स्थिति उत्पन्न हो जाएगी, इसलिए श्री अरबिंद ने देश को दिशा और दृष्टि प्रदान की। राज्यपाल ने श्री अरबिंद घोष के चित्र और “हिमांजलि” नामक पुस्तक (Book titled “Himanjali”) का अनावरण भी किया। इसके बाद राज्यपाल ने आईआईएएस शिमला में टेनिस कोर्ट का भी उद्घाटन किया और पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू और आरट्रेक मेजर जनरल राज शुक्ला के साथ टेनिस खेला।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है