Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

आफत की बारिशः हिमाचल को अब तक 775 करोड़ की चपत

आफत की बारिशः हिमाचल को अब तक 775 करोड़ की चपत

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान हुई भारी वर्षा से जान-माल को हुए नुकसान को देखते हुए राज्य सरकार ने राहत एवं बचाव कार्यों के लिए 96.50 करोड़ रुपये जारी किए हैं। पहली जुलाई से अब तक 775 करोड़ का नुकसान हुआ है। पीडब्ल्यूडी को सबसे अधिक 391 करोड़ की चपत लगी है।  आईपीएच को 117 करोड़ और बिजली बोर्ड को 2 करोड़ का चूना लगा है।
मुख्य सचिव विनीत चौधरी ने आज यहां प्रदेश में बारिश से हुए नुकसान की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह जानकारी दी। प्रदेश के सभी डीसी ने भी वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से इस बैठक में भाग लिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार एक अप्रैल, 2018 से लेकर कुल 229 करोड़ रुपये जारी कर चुकी है और जिलों की आवश्यकता के अनुरूप और धनराशि जारी की जाएगी। मुख्य सचिव ने उपायुक्तों को खराब मौसम के पूर्वानुमान के दृष्टिगत विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिए शिक्षण संस्थानों को 14 अगस्त, 2018 को बंद करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने उपायुक्तों को पर्यटक तथा स्थानीय लोगों को नदियों के किनारे नहीं जाने देने के लिए कदम उठाने व ट्रैकिंग गतिविधियों पर नजर रखने के भी निर्देश दिए।

भू-स्खलन के कारण 923 सड़कें और 6 एनएच अवरूद्ध

अतिरिक्त मुख्य सचिव राजस्व एवं लोक निर्माण मनीषा नंदा ने कहा कि प्रदेश में भू-स्खलन के कारण 923 सड़कें अवरूद्ध हैं, जिनमें 6 राष्ट्रीय उच्च मार्ग भी शामिल हैं। विभाग इन सड़कों को शीघ्रातिशीघ्र खोलने के लिए युद्ध स्तर पर प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि बचाव और राहत कार्यों के लिए पर्याप्त धनराशि उपलब्ध है और अगर आवश्यक हो तो डीसी सड़कों को बहाल करने व अन्य कार्यों के लिए स्थानीय स्तर पर भी मशीनरी किराये पर ले सकते हैं।

सीएम ने सड़कों, जल व विद्युत आपूर्ति की तत्काल बहाली के निर्देश दिए

सीएम जयराम ठाकुर ने प्रदेश में भारी वर्षा के कारण उत्पन्न स्थिति की समीक्षा के लिए आज यहां आयोजित वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता की।  सीएम ने राज्य उच्च मार्गों तथा राष्ट्रीय उच्च मार्गों पर भू-स्खलन से निपटने के लिए अधिकारियों को तत्काल श्रमशक्ति व मशीनरी तैनात करने के निर्देश दिए, ताकि लोगों को किसी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पड़े। उन्होंने सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग को जल आपूर्ति योजनाओं को तुंरत बहाल करने और राज्य विद्युत बोर्ड को तत्काल विद्युत आपूर्ति बहाल करने को सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा आज बचाव, बहाली व पुनर्वास कार्यों के लिए 96.50 करोड़ रुपये की राशि जारी की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भारी बारिश के कारण 775 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा पुनःस्थापन कार्य के लिए अभी तक 229 करोड़ रुपये जारी किए हैं।

 


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है