Expand

हिमाचल का सौभाग्य है कि दलाई लामा ने प्रदेश को दूसरा घर चुना : CM

Himachal is fortunate that dalai lama has chosen the state as his second home 

हिमाचल का सौभाग्य है कि दलाई लामा ने प्रदेश को दूसरा घर चुना : CM

- Advertisement -

मंडी। CM जयराम ठाकुर ने कहा है कि हिमाचल प्रदेश का सौभाग्य है कि परम पावन दलाई लामा ने प्रदेश को अपना दूसरा घर चुना। उन्होंने कहा कि उनकी पावन मौजूदगी से धर्मशाला विश्व प्रसिद्ध गंतव्य के रूप में उभरा है। CM आज मण्डी में भारत तिब्बत सहयोग मंच की 19वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भारत तिब्बत सहयोग मंच तिब्बत से जुड़े मसलों पर विचार-विमर्श के लिए एक महत्वपूर्ण मंच उपलब्ध कर रहा है। यह मंच तिब्बत के पक्ष में आवाज उठाने के उद्देश्य से उभरा है। उन्होंने कहा कि दलाई लामा का प्रदेश तथा यहां के लोगों के प्रति विशेष स्नेह व लगाव है। CM ने कहा कि प्रदेश के कुछ हिस्सों की सीमा चीन के साथ लगती है और ऐसे में यह आवश्यक है कि भारत सीमा के नजदीक संचार नेटवर्क को सुदृढ़ किया जाए।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण भानुपल्ली-बिलासपुर-लेह रेलवे लाइन निर्माण का मामला केन्द्र के सामने उठाया है। CM ने मंच को प्रदेश सरकार की ओर से हर सम्भव सहायता प्रदान करने का आश्वासन दिया तथा आशा व्यक्त की कि भविष्य में भी मंच भारत व तिब्बत क बीच दोस्ती व अच्छे सम्बन्धों के लिए कार्य करता रहेगा। उन्होंने कहा कि मंच ने 20वें वर्ष में प्रवेश किया है। इन वर्षों में मंच ने भारत तिब्बत के बीच दोस्ती को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने मंच के 20वें वर्ष में प्रवेश के इस अवसर पर फोटो भी जारी किया।
आरएसएस के वरिष्ठ प्रचारक एवं मंच के संरक्षक इन्द्रेश कुमार ने कहा कि हिमालयी क्षेत्र अपने प्राचीन सांस्कृतिक इतिहास और पवित्रता के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि तिब्बत के लोगों के लिए भारत कर्म भूमि है और तिब्बत उनकी मातृ भूमि। उन्होंने कहा कि भारत तथा तिब्बत को क्षेत्र की शान्ति व विकास के लिए संयुक्त रूप से कार्य करना होगा। निर्वासन में तिब्बती सरकार के स्वास्थ्य मंत्री वांगचुक ने कहा कि भगवान पद्मसंभव ने अपनी शिक्षाओं के लिए 18वीं शताब्दी में मण्डी को चुना था। उन्होंने कहा कि भारत तथा तिब्बत की प्राचीन संस्कृति व इतिहास है, जो शांतिपूर्ण सहअस्तित्व का सन्देश देता है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है