गरीब और लाचार, इनका कौन है सरकार, हरेक से गुहार लगा हारा पृथी सिंह

दिहाड़ी लगाए या लाचार पत्नी को संभाले 

गरीब और लाचार, इनका कौन है सरकार, हरेक से गुहार लगा हारा पृथी सिंह

- Advertisement -

चंबा। 57 साल के पृथी सिंह (Prithi Singh) उन लोगों की नुमाइंदगी करते हैं, जिन्हें सरकार की योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता। 47 वर्षीय पत्नी इस कदर लाचार (Helpless) है कि खुद खाना भी नहीं खा सकती। एक तो गरीबी और उपर से लाचार पत्नी लिहाज़ा हालात बद से बदतर हो रहे हैं। फिर भी इस परिवार को उम्मीद है भगवान से। गरीबों के कल्याण की योजनाओं  (Welfare Schemes) का लाभ पात्रों को न मिल पाना सरकारी तंत्र की खामी नहीं तो क्या है।
चंबा जिला (Chamba District) के उपमंडल भट्टियात उपमंडल के लुहणी गांव का गरीब और लाचार परिवार इसी खामी का नतीजा भुगत रहा है। इस बीपीएल परिवार में पृथी सिंह तथा माया देवी हैं। खदेट पंचायत के इस परिवार को अब तक किसी भी सरकारी योजना का लाभ नहीं मिल पाया है। सरकार की उज्जवला, आयुष्मान, वृद्धा पेंशन, घर निर्माण तथा शौचालय बनाने जैसी किसी भी योजना का लाभ इन लोगों को नहीं मिल पाया है। पृथ्वी सिंह की मानें तो पंचायत के सभी प्रतिनिधियों से गुहार लगाने के बाद भी कोई सरकारी मदद नहीं मिल पाई है। इस परिवार को गिला है उन आश्वासनों से जो इन्हें दिए जाते रहे। पुराने घर की दिवार तक क्षतिग्रस्त (Damaged) होने के कारण घर पर मंडराते खतरे के बावजूद कोई सरकारी मदद (Government Help) मिलती नहीं दिखती। उधर घर के नीचे का डंगा भी पृथी सिंह की चिंता बढ़ा रहा हैं।
सोशल मीडिया (Social Media) पर एनजीओ प्राउड ऑफ नेशन (NGO Proud of Nation) ने यह वीडियो डाल अपनी और से यथासंभव मदद का आश्वासन दिया है तो वहीं इस परिवार की मदद करने को दूसरों को भी आगे आने का आह्वान किया है। उधर, इस संदर्भ में जब डीसी चंबा (DC Chamba) हरिकेष मीणा से संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि इस मामले में जल्द कार्रवाई के निर्देश एसडीएम (SDM)भट्टियात को जारी कर दिए गए हैं, ताकि गरीब परिवार को जल्द राहत मुहैया करवाई जा सके। उधर, प्राउड ऑफ नेशन संस्था के प्रदेशाध्यक्ष संजीव कुमार विक्की बावा ने जल्द ही प्रभावित परिवार को एनजीओ के तहत आर्थिक मदद देने की बात कही। उन्होंने बताया कि संस्था के जिलाध्यक्ष कुलभूषण बावा तथा भारतीय सेना में कार्यरत रविंद्र कुमार के इस मामले को उजागर करने के बाद एनजीओ ने गरीब परिवार की मदद का फैसला किया है। लिहाज़ा अब देखना यह है कि पृथी सिंह तथा माया देवी को कब कोई सरकारी या गैर सरकारी राहत मिल पाती है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है