मणिमहेश यात्राः तीन लाख श्रद्धालुओं ने डल में लगाई आस्था की डुबकी

राधाष्टमी के समापन के बाद भी शिव भक्तों का डल झील की और जाना जारी

मणिमहेश यात्राः तीन लाख श्रद्धालुओं ने डल में लगाई आस्था की डुबकी

- Advertisement -

चंबा। राधाष्टमी के समापन के बाद भी शिव भक्त डल झील को रवाना हो रहे हैं। यही वजह है कि हेली टैक्सी (Heli Taxi) सेवा आज भी जारी रही। उत्तर भारत की विख्यात मणिमहेश यात्रा (Manimahesh Yatra) के दौरान इस बार तकरीबन 3 लाख श्रद्धालु शिव के दरबार पहुंचे। हालांकि यात्रियों की गणना विगत साल से ही बंद है, लेकिन आधिकारिक अनुमान के अनुसार देश के कोने-कोने से पहुंचे 3 लाख के लगभग श्रद्धालु इस बार यात्रा के दौरान डल में डुबकी लगाने पहुंचे।



यह भी पढ़ें: जयराम ने नवाजे पोषण अभियान में बेहतर काम कर रहे अधिकारी और कर्मचारी

 

इस बार मणिमहेश यात्रा (Manimahesh Yatra) के दौरान बारिश ने यात्रा को खासा प्रभावित किया। बावजूद इसके अगाध श्रद्धा लिए खासी तादाद में शिव भक्त कैलाश के दर्शन करने पहुंचे। मौसम के कहर से कदम-कदम पर आई मुश्किलों में जहां पुलिस-प्रशासन समेत सरकारी तंत्र की कारगुजारी बेहतर रही तो वहीं शिव भक्तों का हौंसला भी कम न हुआ। कुल मिलाकर बारिश ने यहां की गई व्यवस्था की कई बार परीक्षा ली।

प्रशासन को भी यहां काफी कसरत करनी पड़ी तो वहीं पुलिस और स्थानीय टैक्सी चालकों में भी विवाद हुआ, जिसे सुलझा लिया गया। यात्रा के दौरान लोक निर्माण विभाग की बढ़िया कारगुजारी से बाधित मार्ग और पुल बहाल हो पाए। कानून-व्यवस्था पर कड़ी नजर रखने के लिए 700 से 800 पुलिस तथा होमगार्ड जवान यात्रा के दौरान एएसपी (ASP) चंबा रमन शर्मा की अगुवाई में तैनात रहे। इस बार यात्रा के दौरान 50 नए टॉयलेट्स बनाए गए थे जिनको जोड़ कर यात्रा के दौरान कुल 300 टॉयलेट्स यात्रियों की सुविधा के लिए बने थे।

मणिमहेश यात्रा के दौरान चढ़ावे की गिनती भी जारी है। उधर, शनिवार को भी हेली टैक्सी (Heli Taxi) सेवा जारी रही तो वहीं कल भी हवाई सेवा जारी रहने की संभावना है। कुल मिलाकर प्रशासन की मानें तो इस बार यात्रा को लेकर बेहतर इंतजाम रहे। उधर, इस संदर्भ में जब एडीएम (ADM) भरमौर पृथ्वी पाल सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि यात्रा का आयोजन सफल रहा तथा यात्रियों की सुविधा के लिए हर विभाग ने बढ़िया काम किया। उन्होंने कहा कि इस दौरान मणिमहेश की चढ़ाई के दौरान पत्थर आदि गिरने से हादसों में भी कमी आई। लिहाजा भले ही मौसम ने कई बार रौद्र रूप दिखाया, लेकिन न तो शिव भक्तों की श्रद्धा डोली और न ही पुलिस-प्रशासन की चुस्त दुरुस्त व्यवस्था।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

जवाली और फतेहपुर के बीयर बार में एक्साइज विभाग की दबिश, रिकॉर्ड जब्त

कांगड़ा सहित 5 जिलों में येलो अलर्ट जारी, भारी बारिश और बर्फबारी की संभावना

जयराम सरकार ने बदले जवाली और धीरा के एसडीएम, इन्हें दी तैनाती

अनुराग की जयराम सरकार को सलाह-सड़कों की दशा सुधारों, फिर आएगा निवेश

हाईकोर्ट के कड़े रुख के बाद हिमाचल में मानवाधिकार आयोग का होगा गठन

बुजुर्ग महिला क्रूरता मामलाः हत्या के प्रयास का मामला हो दर्ज

आर्मी जवान के खाते से निकाले एक लाख 40 हजार रुपए, धोखाधड़ी का केस

बुजुर्ग से अमानवीय घटना दर्शाती है, सत्ता की चाबी कमजोर हाथों में, ये बोली कांग्रेस की रजनी

विक्रमादित्य शिमला को लेकर करने जा रहे हैं ऑनलाइन सिग्नेचर कैंपेन, क्यों मांगा योगदान पढ़ें

वीरभद्र सिंह के आईजीएमसी में डायलिसिस के साथ अन्य चेकअप, वापस हॉली लॉज लौटे

बर्थडे का केक लेकर बाइक पर जा रहे थे, सड़क हादसे में भाई की मौत, बहन गंभीर

रमेश राणा को बीजेपी संगठनात्मक जिला नूरपुर की कमान

नशे पर लगाम लगाने को ऊना प्रशासन शुरू करेगा अभियान, लोगों से मांगा सहयोग

एलआईसी पॉलिसी के नाम पर धोखाधड़ी, इस तरह के फोन कॉल से रहें सावधान

बुजुर्ग महिला से क्रूरता: माता-पिता के साथ 8 माह का मासूम भी पहुंचा जेल

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है