Budget Session: पुरानी सिंचाई योजनाओं और पेयजल के लिए बनेगा 800 Crore का नया Project

केंद्र को भेजा जाएगा, विपक्ष के कटौती प्रस्ताव पर आईपीएच मंत्री ने दी जानकारी

Budget Session: पुरानी सिंचाई योजनाओं और पेयजल के लिए बनेगा 800 Crore का नया Project

- Advertisement -

लेखराज धरटा / शिमला। Budget Session: प्रदेश सरकार पुरानी बनी सिंचाई योजनाओं के आधुनिकीकरण और घर-घर तक पेयजल पहुंचाने के लिए इन योजनाओं के संबर्धन हेतु प्रदेश सरकार 800 करोड़ का नया Project तैयार करेगी। इस Project की डीपीआर तैयार कर मंजूरी के लिए केंद्र सरकार को भेजी जाएगी, ताकि पुरानी तमाम योजनाएं बहाल हो सकें और उनसे लोगों को लाभ मिल सके। सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ( IPH Minister Mahender Singh Thakur ) ने मंगलवार को सिंचाई व जनस्वास्थ्य विषय पर विपक्ष द्वारा लाए गए कटौती प्रस्ताव पर हुई चर्चा के जवाब में यह जानकारी दी। बाद में विपक्ष ने अपना कटौती प्रस्ताव को वापस लिया और मंत्री द्वारा दिए गए आश्वासन से उठाई गई समस्याओं के हल होने की उम्मीद जताई।
सिंचाई मंत्री ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग के चलते प्रदेश में जलवायु परिवर्तन होने से ग्लेशियरों का पिघलना लगातार जारी है। बारिश व कम बर्फबारी होने से प्रदेश में सूखे की स्थिति उत्पन्न हो गई है तथा इस स्थिति से निपटने के लिए सरकार वर्षा जलसंग्रहण की तरफ कदम बढ़ा रही है। उन्होंने कहा कि 4751 करोड़ रुपये की वर्षा जल संचय योजना का प्रस्ताव तैयार कर केंद्र सरकार को भेजा गया है। इस योजना से सूखाग्रस्त इलाकों में सिंचाई का प्रावधान होगा और सूखे व ग्लोबल वार्मिंग जैसी स्थिति में भी हर खेत को पानी पहुंच सकेगा। उन्होंने आगे कहा कि पूर्व सरकार द्वारा प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत 5664 करोड़ रुपये की 60 से अधिक अधूरी स्कीमें केंद्र सरकार को भेजी गईं थीं, जो कि लंबित हैं और इन्हें मंजूर करवाने के लिए प्रयास जारी हैं।  सिंचाई मंत्री ने कहा कि नाबार्ड में राज्य की 800 योजनाएं कई सालों से लटकी हुई हैं और इन्हें विधायकों की प्राथमिकता के आधार पर केंद्र से मंजूर करवाया जाएगा। इसके लिए भेजी गई 800 योजनाओं की सूची विधायकों को उपलब्ध करवाई जाएंगी।
उन्होंने कहा कि कमांड एरिया डिवेलपमेंट के माध्यम से 6 स्कीमों को स्वीकृति के लिए केंद्र को भेजा जा रहा है। मंत्री ने सदन को आश्वसत किया सरकार हर हालत में पेयजल व सिंचाई की व्यवस्था को सुधारने के लिए गंभीरता से प्रयास कर रही है। महेंद्र सिंह ने कहा कि ब्रिक्स सम्मेलन में राज्य सरकार अभी तक तीन बैठकें कर चुकी है। इसमें 4751 करोड़ का प्रस्ताव राज्य की ओर से भेजा गया है। जिसमें 6 चरणों में राशि के आबंटन का प्रावधान है। पहले चरण में 708 करोड़ रुपये राज्य को आएगा। मंत्री ने आगे कहा कि शिमला शहर में पेयजल की किल्लत से निपटने के लिए 775 करोड़ की काल डैम परियोजना विश्व बैंक के पास विचाराधीन है। कुछ शर्तों को पूरा करने के बाद ही यह राशि मिलेगी। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में सीवरेज की उचित व्यवस्था न होने के कारण बीमारियां फैल रही हैं, इसलिए शहरी क्षेत्र के साथ ग्रामीण इलाकों में भी सीवरेज व्यवस्था का प्रावधान किया जाएगा। वर्तमान में केवल 56 शहरी क्षेत्रों व नगर निकायों में ही सीवरेज व्यवस्था की सुविधा है, जबकि 31 योजनाबद्व क्षेत्रों सहित ग्रामीण इलाकों में भी इस सीवरेज व्यवस्था को लागू किया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि पीले, नीले व मटमैले रंग का पानी उगनले वाले हैंडपंपों को बंद किया जाएगा।


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

पंजाब नवांशहर के सैनिक ने कसौली के गेस्ट हाउस में लगाया फंदा

हंगामाः एचआरटीसी चालक ने छात्रा को दी गाली, आया चक्कर-अस्पताल में भर्ती

स्वामी बोले-गोडसे की गोली से ही हुई थी महात्मा गांधी की मौत, यह जांच का विषय

भुंतर एयरपोर्ट पर ज्वाइनिंग लेटर लेकर पहुंचा युवक, सच पता चला तो उड़ गए होश

टैट के लिए आए 60254 आवेदन, 3008 हो सकते हैं रद्द-जानिए कारण

कौन महात्मा और कौन चूहा, भाषण में यह क्या कह गए सुधीर-जानिए

जयराम बोले- दिल्ली और शिमला दोनों तरफ से होगा धर्मशाला का विकास

रंगड़ों का हमलाः बच्ची की मौत के बाद मां ने भी आईजीएमसी में तोड़ा दम

शांता बोले, धर्मशाला में बहुत सुनी नेताओं की, आखिरी दो बातें मेरी भी सुन लें

21 को वोट डालने जाना तो इन्हें साथ जरूर लेकर जाना

जॉनसन बेबी पाउडर में मिला कैंसर कारक तत्व, कंपनी ने 33 हजार डिब्बे वापस मंगवाए

बाली बोले,सुनो सरकार इन्वेस्टर मीट की करते हो बात, मेरे ही होटल का नक्शा नहीं हो रहा पास

एसबीआई राजपुर से लूट का उद्घोषित अपराधी सहारनपुर से गिरफ्तार

कमलेश तिवारी हत्याकांड : तीनों आरोपियों के कबूला अपना जुर्म , 2015 में दिए बयान के कारण की हत्या

बाली संग कांग्रेसी एक मेज पर,सुधीर पका रहे अलग खिचड़ीः देखें तस्वीरें

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है