Covid-19 Update

34,781
मामले (हिमाचल)
27,518
मरीज ठीक हुए
550
मौत
9,170,900
मामले (भारत)
59,245,882
मामले (दुनिया)

हिमाचलः Covid-19 सेंटरों में होगा मनोरंजन, संगीत और टेलीविजन की होगी व्यवस्था

सीएम जयराम ठाकुर ने दिया सुझाव, भोजन गर्म करने की मशीनें लगाने को भी कहा

हिमाचलः Covid-19 सेंटरों में होगा मनोरंजन, संगीत और टेलीविजन की होगी व्यवस्था

- Advertisement -

शिमला। सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि सर्दियों का मौसम शीघ्र आरंभ होने जा रहा है, इसलिए लोगों को अधिक बचाव के उपाय अपनाने के लिए प्रेरित करने की आवश्यकता है। कोविड देखभाल केंद्रों में दाखिल रोगियों को गर्म पानी और पौष्टिक भोजन उपलब्ध करवाया जाना चाहिए। इन केंद्रों को भोजन गर्म करने की मशीनें खरीदनी चाहिए और हीटर सहित मनोरंजन के विभिन्न साधनों जैसे संगीत और टेलीविजन (Television) आदि की भी व्यवस्था की जानी चाहिए।

Home Isolation में रह रहे सभी लोगों की होगी स्वास्थ्य जांच

सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश जारी किए हैं कि उन सभी लोगों की स्वास्थ्य जांच की जाए, जिन्होंने कोविड-19 की स्थिति के चलते घर पर आइसोलेशन (Home Isolation)  में रहने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि यह महसूस किया गया है कि ऐसे लोग उस समय अस्पताल जाते हैं, जब उनकी तबीयत खराब हो जाती है। सीएम आज यहां से प्रदेश के डीसी (DC), एसपी, सीएमओ (CMO), मेडिकल कॉलेजों के प्रधानाचार्यों और वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षकों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित कर रहे थे।

अस्पताल पहुंचाने के 24 घंटों में हो रही 90 प्रतिशत रोगियों की मौत

 

 

जयराम ठाकुर ने कहा कि शिक्षा, सूचना और संचार पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है ताकि कोरोना (Corona) जैसे लक्षण सामने आने के बाद संबंधित व्यक्ति तुरंत अस्पताल जाकर अपनी जांच करवा सकें। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के ‘मास्क अप कैंपेन’ को सफल बनाने के लिए विशेष प्रयास करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों को कोविड-19 (Covid-19) रोगियों के साथ समुचित संपर्क बनाए रखना चाहिए क्योंकि इससे रोगियों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ में सहायता मिलती है। यह पाया गया है कि कोविड के कारण 90 प्रतिशत मृत्यु रोगियों को अस्पताल पहुंचाने के 24 घंटों में हो रही है। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ चिकित्सकों को अस्पतालों में दाखिल कोविड मरीजों से मिलना चाहिए, ताकि उनके अंदर सुरक्षा की भावना पैदा हो। उन्होंने चिकित्सकों से मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए मरीजों का उपचार करने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि वरिष्ठजनों और पहले से विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रसित लोगों के उपचार पर विशेष ध्यान दिया जाए, क्योंकि उनका स्वास्थ्य काफी तेजी से बिगड़ सकता है। उन्होंने घर पर ही आइसोलेशन में रह रहे कोविड मरीजों की स्वास्थ्य जांच के लिए किसी प्रभावकारी तंत्र विकसित करने की आवश्यकता पर भी बल दिया।

लोगों को अनावश्यक रूप से सामाजिक समारोहों में शामिल ना होने को करें प्रेरित

जयराम ठाकुर ने कहा कि त्योहारों के मौसम को ध्यान में रखते हुए लोगों को समुचित परस्पर दूरी बनाए रखने, फेस मास्क (Mask) और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने के लिए त्वरित किया जाना चाहिए, क्योंकि केवल बचाव से ही इस वायरस के संक्रमण से बचा जा सकता है। इसके अलावा लोगों को अनावश्यक रूप से सामाजिक समारोहों में शामिल नहीं होने के लिए भी प्रोत्साहित करना चाहिए। इस दिशा में गैर सरकारी संगठनों और स्थानीय नेताओं की सहायता भी ली जा सकती है।

 

प्रदेश में टेस्टिंग सुविधा बढ़ाने को भी कहा

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में टेस्टिंग सुविधा बढ़ाने की दिशा में विशेष बल दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि एचएलएल (HLL) को अस्पतालों में पर्याप्त मशीनों के साथ-साथ आउटसोर्स आधार पर स्टाफ उपलब्ध करवाने का आग्रह किया गया है। उन्होंने कहा कि इससे कोविड अस्पतालों और कोविड केयर केंद्रों का भार कम होगा। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल (Health Minister Dr. Rajiv Saizal) ने सीएम का स्वागत करते हुए स्वास्थ्य विभाग को सुदृढ़ करने में गहरी रूचि लेने के लिए सीएम का आभार व्यक्त किया। उन्होंने सार्वजनिक कार्यक्रमों जैसे शादियों में भीड़ के कारण संक्रमण को फैलने से रोकने की आवश्यकता पर बल दिया। मुख्य सचिव अनिल खाची ने कहा कि प्रदेश को अब शून्य मृत्यु दर प्राप्त करने का लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए, जिसके लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि होम आइसोलेशन के नियमों का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने कहा कि पुलिस सार्वजनिक स्थलों में लोगों को सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करवाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है। स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने कहा कि विभाग यह सुनिश्चित बना रहा है कि प्रदेश में प्रतिदिन चार हजार कोविड टेस्ट किए जाएं। उन्होंने कहा कि लोगों को अधिक सजग रहने की आवश्यकता है, क्योंकि शरद ऋतु के दौरान संक्रमण में बढ़ोतरी देखी जा सकती है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन परियोजना निदेशक डॉ. निपुण जिंदल ने ‘गाइडलाइन फॉर क्रिएशन ऑफ हेल्थ केयर वर्कर डाटा बेस फॉर कोविड-19 वैक्सीनेशन’ पर प्रस्तुति दी।

 

 

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है