Covid-19 Update

38,995
मामले (हिमाचल)
29,753
मरीज ठीक हुए
613
मौत
9,390,791
मामले (भारत)
62,314,406
मामले (दुनिया)

Exclusive: कांगड़ा में पकी BJP की खिचड़ी, Dhumal समर्थकों के बीच Kishan Kapoor भी जा बैठे

Exclusive: कांगड़ा में पकी BJP की खिचड़ी, Dhumal समर्थकों के बीच Kishan Kapoor भी जा बैठे

- Advertisement -

कांगड़ा। हिमाचल बीजेपी (Himachal BJP) में आखिर खिचड़ी पकनी शुरू हो ही गई। शुरूआत आज कांगड़ा (Kangra) से हुई है। ये ठीक उस वक्त हुआ जब केंद्र में मोदी सरकार अपना एक वर्ष का कार्यकाल पूरा कर रही है, तो दूसरी तरफ प्रदेश की बीजेपी सरकार स्वास्थ्य महकमे (Health Deptt) में सामने आए एक घोटाले के तीरों से छलनी हो रही है। टाइमिंग के हिसाब से देखा जाए तो इस मोर्चाबंदी को डाॅ राजीव बिंदल (Dr. Rajeev Bindal) के इस्तीफे के बाद अगली रणनीति से जोड़कर देख सकते हैं।

यह भी पढ़ें: डाॅ बिंदल के बाद BJP किसके हाथ, चर्चा शुरू-Working President बना पहले तो ये-ये हैं प्रमुख दावेदार

इस रणनीति के तहत आज पहली बैठक कांगड़ा के पीडब्लयूडी रेस्ट हाउस (Pwd Rest House) में हुई है। अब इसे कोई ये कहकर भी नकार सकता है कि संयोग से सभी इस तरफ से गुजर रहे थे, तो चाय पीने बैठ गए, लेकिन हकीकत ये बयां कर रही है कि राजनीतिक तौर पर अपने लिए जमीन की तलाश में धूमल खेमे की इस मोर्चाबंदी में कांगड़ा-चंबा से पार्टी सांसद किशन कपूर (MP Kishan Kapoor) ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज करवा दी है। जाहिर है वह पार्टी से नाराज चल रहे हैं।

रविंद्र रवि, संजय चौधरी, घनश्याम शर्मा रहे मौजूद

पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल (Former CM Prem Kumar Dhumal) का जिस वक्त प्रदेश की राजनीति में ढंका बजता था, उस वक्त उनके कांगड़ा में सबसे दमदार सिपाही के तौर पर अगर किसी का नाम सबसे पहले आता था तो वह रविंद्र रवि (Ravindra Ravi) का। इस रणनीतिक बैठक में रविंद्र रवि मौजूद थे। रविंद्र रवि देहरा से विधानसभा चुनाव हारने के बाद से अपने लिए राजनीतिक जमीन की तलाश कर रहे हैं। ऐसे में इस तरह की बैठक आने वाले दिनों में कई नाराज चल रहे नेताओं को अपने साथ जोड़ सकती है। इसी मोर्चाबंदी में आज कांगड़ा के पूर्व पार्टी विधायक एवं पूर्व में कांगड़ा जिला के पार्टी अध्यक्ष रहे संजय चौधरी (Sanjay Chaudhary) भी बराबर मौजूद थे। उन्हें भी धूमल खेमे के साथ ही जोड़कर देखा जाता रहा है। लेकिन विधानसभा चुनाव हारने के बाद व संगठनात्मक पद जाने के बाद वह भी हाशिए पर ही चल रहे हैं। इसी बैठक में धूमल समर्थकों में एक और भी चेहरा शामिल बताया गया है, वह है पार्टी की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य घनश्याम शर्मा (Ghanshyam Sharma)।

डाॅ नरेश बिरमानी ने भी दर्ज करवाई उपस्थिति

 

 

 

यह भी पढ़ें: BJP प्रदेश अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल के इस्तीफे पर क्या बोले जयराम-जानिए

इस मोर्चाबंदी के गवाह एक और पार्टी नेता बने हैं, वह नगरोटा बगवां से ताल्लुक रखते हैं। पूर्व में पार्टी के नगरोटा बगवां मंडल के अध्यक्ष रहे डाॅ नरेश बिरमानी (Dr. Naresh Birmani) ने भी बाकायदा अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई। बिरमानी भी धूमल समर्थकों में शुमार रहे हैं। पार्टी में अरूण मेहरा कूका की एंट्री के बाद से वह स्वयं को असहज महसूस करते रहे हैं। उन्होंने विधानसभा चुनाव के बाद सार्वजनिक तौर पर अपनी नाराजगी जाहिर भी की थी। उसके बाद पैचअप की कोशिशें भी हुईं, पर बात ज्यादा बनी नहीं। उनके साथ रोमी ठाकुर (Romi Thakur) नामक एक और शख्स इस मोर्चाबंदी के गवाह बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि ये सभी सुबह 11 बजे के आसपास कांगड़ा स्थित पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में मिले, वहां ये सभी दो बजे तक मौजूद थे। इस मोर्चाबंदी में शामिल एक नेता का कहना है कि हमें सांसद से कुछ काम करवाने थे, उसके लिए बैठे, कुछ और भी चर्चाएं हुई। खैर,बीजेपी में मोर्चाबंदी शुरू हो गई है, ये तय मान लीजिए इसकी नींव आज कांगड़ा से पड़ गई है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है