कहीं यह तो नहीं नड्डा को अध्यक्ष की जगह कार्यकारी अध्यक्ष बनाने का कारण

नड्डा की ताजपोशी से हिमाचल का बढ़ा कद, जश्न का माहौल

कहीं यह तो नहीं नड्डा को अध्यक्ष की जगह कार्यकारी अध्यक्ष बनाने का कारण

- Advertisement -

शिमला। पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा (Former Union Health Minister JP Nadda) को बीजेपी (BJP) का राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष (National executive president) बना दिया गया है। हालांकि, उनके अध्यक्ष बनने के कयास लगाए जा रहे थे। पर नड्डा को अध्यक्ष न बनाकर कार्यकारी अध्यक्ष बनाने के पीछे एक कारण यह भी हो सकता है। बीजेपी के नियमों के मुताबिक मंडल स्तर से लेकर राज्य के संगठनात्मक चुनावों के बाद ही बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव किया जाता है। इसके लिए बकायदा एक प्रक्रिया को फॉलो किया जाता है। इसमें पहले सदस्यता अभियान छेड़ा जाता है। इसके बाद संगठनात्मक चुनाव राज्यों में संपन्न होते हैं। पूरे राज्यों में बीजेपी के संगठनात्मक चुनावों की प्रक्रिया सितंबर व अक्टूबर के बाद तक चलने की उम्मीद है। अगर बीजेपी के इस नियम पर गौर करें तो नड्डा को अध्यक्ष न बनाकर कार्यकारी अध्यक्ष बनाने के पीछे यह कारण भी हो सकता है। इसलिए नड्डा को दिसंबर तक कार्यकारी अध्यक्ष का दायित्व सौंपा है। ऐसे में कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में जेपी नड्डा का कार्यकाल काफी चुनौती भरा रह सकता है।


 

यह भी पढ़ें:  नूरपुरः खेतों में मिला रॉकेट लॉन्चर, पुलिस ने सील किया इलाका-आर्मी बुलाई


वहीं, हिमाचल (Himachal) के नेता को देश की सबसे बड़ी पार्टी का कार्यकारी राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बनाए जाने से हिमाचल का भी कद बढ़ा है। हिमाचल बीजेपी के प्रभारी का दायित्‍व निभा चुके पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के भरोसेमंद नेताओं में शामिल जेपी नड्डा (JP Nadda)को बीजेपी की कमान सौंपे जाने से खासकर बिलासपुर में जश्‍न का माहौल है। मोदी सरकार में अमित शाह के कैबिनेट मंत्री बनने और हिमाचल से अनुराग ठाकुर के राज्यमंत्री बनने के बाद जेपी नड्डा को बीजेपी संगठन की जिम्‍मेवारी सौपे जाने की पूरी संभावना बनी हुई थी। लोकसभा चुनावों में यूपी से बीजेपी के उम्‍मीद से ज्‍यादा बेहतर प्रदर्शन के चलते नड्डा बीजेपी के शीर्ष रणनीतिकारों में गिने जाने लगे थे। उधर, कभी हिमाचल की राजनीति में हाशिये पर धकेले जाने का दंश झेल चुके जेपी नड्डा को इतनी बड़ी जिम्‍मेदारी मिलने के साथ ही वह राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष बनने वाले हिमाचल के पहले नेता बन गए हैं।

यह भी पढ़ें: आनी: पानी की पाइप में निकला सांप, लोगों में मचा हड़कंप-देखें वीडियो


बिलासपुर से संबध रखने वाले जेपी नड्डा का जन्म बिहार राज्‍य के पटना में 2 दिसंबर, 1960 में डॉ. नारायण लाल नड्डा के घर हुआ। उनकी शिक्षा सेंट जेवियर्स स्कूल पटना में हुई। पटना कॉलेज और पटना विश्वविद्यालय में बीए और एलएलबी की शिक्षा ग्रहण की। नड्डा 16 साल की उम्र में छात्र राजनीति में आ गए थे और वर्ष 1977 में पटना विश्वविद्यालय में छात्र संघ चुनाव में सचिव के पद पर चुने गए। उन्‍होंने करीब 13 साल विद्यार्थी परिषद में सक्रिय तौर पर योगदान दिया था। फि‍र वर्ष 1993 में नड्डा पहली बार हिमाचल विधानसभा पहुंचे।

यह भी पढ़ें:  तपती गर्मी पर राहत की बूंदें-कूल हुआ मौसम, बारिश के साथ हुई ओलावृष्टि

यह भी पढ़ें: नीदरलैंड के एमस्टरडैम में दिखाई हिमाचल की लघु फिल्म

वर्ष 1994 से 1998 तक पार्टी के नेता रहे और वर्ष 1998 में दोबारा विधायक चुने जाने पर धूमल सरकार में उन्‍हें स्‍वास्‍थ्‍य और संसदीय मामलों का मंत्री बनाया गया। उन्‍हें वर्ष 2007 के चुनावों में फिर से विधायक बने और धूमल सरकार (Dhumal Government) में वन, पर्यावरण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग मंत्री का जिम्‍मा सौंपा गया, मगर इस दौरान राजनीतिक विवाद के चलते उन्‍हें पद से इस्‍तीफा देकर केंद्र की राजनीति में पलायन करना पड़ा था। बीजेपी में उनकी अहमियत इसी से पता चलती है कि हिमाचल से केंद्र में आने के बाद बीजेपी ने उन्‍हें 2012 में हिमाचल से राज्‍यसभा का सदस्‍य बनाकर संसद में भेजा और वर्ष 2014 में मोदी सरकार बनने के बाद उन्‍हें को केंद्रीय कैबिनेट में जगह मिली और नवंबर, 2014 स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री का कार्यभार सौंपा गया था।

यह भी पढ़ें:  ब्रेकिंग: जेपी नड्डा बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष होंगे, संसदीय बोर्ड की बैठक में फैसला

बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने दी बधाई

ऊना। हिमुडा के उपाध्यक्ष प्रवीण शर्मा, जिला बीजेपी अध्यक्ष बलवीर बग्गा, प्रदेश बीजेपी के सह मीडिया प्रभारी हरिओम भनोट, विधायक राजेश ठाकुर, बलवीर चौधरी, प्रदेश बीजेपी के प्रवक्ता राम कुमार, बीजेपी नेता रामपाल सैनी, जिला बीजेपी मीडिया प्रभारी राजकुमार पठानिया आदि सहित अनेक बीजेपी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने जेपी नड्डा के कार्यकारी अध्यक्ष बनने पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए उन्हें बधाई दी।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित का निधन, राहुल बोले- खबर से टूट गया हूं

सत्ती बोलेः घर पर बैठी हुई थीं इंदु, हमने बनाया महिला मोर्चा की प्रदेशाध्यक्ष

विवादों के बीच शिमला में जयराम से मिले ध्वाला, क्या हुई बात-जानिए

शिक्षा बोर्ड ने एसओएस परीक्षाओं के लिए पंजीकरण तिथियों का किया ऐलान

कार से उतरते ही टाटा सूमो से टकराई 4 साल की मासूम, मौत

हिमाचल-हरियाणा समेत चार राज्यों में डोली धरती, जानें कितनी थी तीव्रता

छात्रा को मैसेज कर करता था परेशान, परिजनों ने कॉलेज पहुंचकर की धुनाई

यूपी में राम नाईक की जगह "इस बड़े नाम वाली महिला" को बनाया गया राज्यपाल

कांग्रेस कार्यालय से चंद कदम पर "प्रियंका मसले" पर प्रदर्शन,मोदी-योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी

जिस्मफरोशी के धंधे में धकेली युवती, महिला दलाल समेत तीन गिरफ्तार

आग की चपेट में आने से झुलसी धुसाड़ा की महिला के टांडा में निकले "प्राण"

अब मंडी बस अड्डे पर खड़ी नहीं हो पाएगी बसें, आखिर क्या है कारण

भुंतर बाजार में मकान में लगी आगः व्यक्ति झुलसा,दो कमरे जलकर राख

Breaking: छोटे ने बड़े भाई पर तलवार से हमला कर किया लहूलुहान, जमीनी विवाद पर उलझे थे दोनों

हिमाचल Police को मिल गई वो "गन" जिससे रूकेंगे अब हादसे

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है