नम आंखों से शहीद राजेश ऋषि को अंतिम विदाई, भाई ने दी मुखाग्नि  

रविवार सुबह पहुंचा शव जोंघो जगतपुर 

नम आंखों से शहीद राजेश ऋषि को अंतिम विदाई, भाई ने दी मुखाग्नि  

- Advertisement -

नालागढ़। किन्नौर (Kinnaur) के नामज्ञा डोगरी में हिमस्खलन (Avalanche) में दबे पांच जवानों में से एक राजेश ऋषि का आज उनके पैतृक गांव जोंघो जगतपुर में सैन्य सम्मान अंतिम संस्कार किया गया। शहीद राजेश के भाई ने उनकी चिता को मुखाग्नि दी। शहीद राजेश ऋषि ( Martyr Rajesh Rishi) को अंतिम विदाई देने के लिए हजारों लोग पहुंचे और उसकी शहादत पर हर आंख नम थी।

 

यह भी पढ़ें  :  शहीद विनोद का पार्थिव शरीर पहुंचा घर, झलक पाने के लिए लोगों का उमड़ा हुजूम

रविवार सुबह जैसे ही शहीद का तिरंगे में लिपटा पार्थिव शरीर जोंघो जगतपुर पहुंचा उसे देख परिजन बिलख पड़े। शहीद की माता और पत्नी बेसुध हो गई। राजेश का विवाद दो माह पहले ही हुआ था। अंतिम संस्कार के दौरान स्थानीय विधायक व प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद रहे। शहीद का शव शुक्रवार को 11 दिन बाद बरामद किया गया था। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने शहीद राजेश को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की है।
उन्होंने अपने ट्विटर संदेश में कहा है कि भगवान दिवंगत आत्मा को शांति दें तथा शोकग्रस्त परिवार को इस असहनीय दुःख को सहने की शक्ति प्रदान करें। सीएम ने कहा कि भारी बर्फबारी के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन (Rescue operation) में दिक्कत आ रही है एवं बाकी जवानों की तलाश जारी है। सरकार दुःख की इस घड़ी में शहीद के परिवार के साथ है।
बता दें कि शिपकिला बॉर्डर से लगते नामज्ञा डोगरी (Namgia Dogri) के पास 20 फरवरी को ग्लेशियर खिसकने से नियमित गश्त पर निकले जम्मू-कश्मीर राइफल्स के 16 सैनिकों में से छह बर्फ में दब गए थे। हादसे में दबे हवलदार राकेश कुमार (41) को बाहर निकाल लिया गया पर वह शहीद हो गए। उसके बाद से लगातार सर्च ऑपरेशन चल रहा है। 11वें दिन शनिवार को शहीद जवान राजेश ऋषि का शव बरामद हुआ था। अभी भी चार जवानों का पता नहीं लग पाया है और उनकी तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन अभी भी जारी है

 

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है