Covid-19 Update

1101
मामले (हिमाचल)
825
मरीज ठीक हुए
09
मौत
7,69,574
मामले (भारत)
12,190,196
मामले (दुनिया)

हिमाचल में बेरोजगार ग्रामीण MNREGA के तहत अपनी भूमि पर कर सकते हैं कार्य

समीक्षा बैठक में सीएम जयराम ठाकुर ने दी जानकारी

हिमाचल में बेरोजगार ग्रामीण MNREGA के तहत अपनी भूमि पर कर सकते हैं कार्य

- Advertisement -

शिमला। राज्य सरकार ने इच्छुक बेरोजगार ग्रामीणों को मनरेगा (MNREGA) के अंतर्गत अपनी भूमि में कार्य करने की स्वीकृति प्रदान की है। ये कार्य ग्राम सभा द्वारा स्वीकृत परियोजनाओं की शेल्फ में शामिल ना होने पर भी किए जा सकेंगे। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने आज यहां ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभाग की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पिछले वित्त वर्ष के दौरान 260 लाख कार्य दिवसों का सृजन कर कुल 859 करोड़ रुपए की धनराशि व्यय की गई, जबकि इस वित्त वर्ष अभी तक मनरेगा के अंतर्गत 54 करोड़ रुपए खर्च करके 22 लाख कार्य दिवस सृजित किए जा चुके हैं।


यह भी पढ़ें: Lockdown में सुंदरनगर फंसा कोलकाता का परिवार तीन माह बाद नम आंखों से हुआ विदा- जाने क्यों

बचे शेष जिलों में शीघ्र होगी लोकपाल की नियुक्ति

जयराम ठाकुर ने कहा कि विभाग ने मनरेगा के तहत हुए कार्यां में गुणवत्ता सुधार के लिए एक गुणवत्ता नियंत्रण प्रकोष्ठ (सेल) स्थापित किया है। प्रदेश के छः जिलों- बिलासपुर (Bilaspur), हमीरपुर, कांगड़ा (Kangra), मंडी, शिमला और सोलन (Solan) में लोकपाल नियुक्त किए गए हैं तथा बचे शेष जिलों में शीघ्र ही लोकपाल की नियुक्ति की जाएगी। सीएम ने कहा कि ग्रामीण विकास विभाग ने भी मनरेगा के अंतर्गत बनी लोक निर्माण विभाग (PWD) की सड़कों और जल शक्ति विभाग की ट्रेंचिज के रख-रखाव के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। मनरेगा कार्य में पारदर्शिता सुनिश्चित बनाने के लिए विभाग ने सिक्योर सॉफ्टवेयर लागू किया है। उन्होंने कहा कि मनरेगा के अंतर्गत शत-प्रतिशत कार्य सीधे हंस्तातरण (डीबीटी) के माध्यम किया जा रहा है। कार्य स्थल पर मनरेगा कार्यकर्ताओं को घर में निर्मित फेस कवर, साबुन और जल आदि प्रदान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भवन और अन्य सन्निर्माण कल्याण बोर्ड के अंतर्गत पंजीकृत 12,835 मनरेगा कार्यकर्ताओं ने 90 दिन का कार्य पूर्ण किया है।

यह भी पढ़ें: आठ को होगी Patwari परीक्षा में चयनित उम्मीदवारों के प्रमाण पत्रों की जांच

मुख्यमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 610 भवनों का निर्माण किया

उन्होंने कहा कि पिछले वित्त वर्ष (Financial Year) के दौरान मुख्यमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 610 भवनों का निर्माण किया गया जबकि वर्तमान वित्त वर्ष के दौरान गरीबों की सुविधा के लिए 998 भवनों के निर्माण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। विभिन्न आवास योजनाओं के अंतर्गत गृह निर्माण के कार्य में गुणवत्ता व सुधार लाने के लिए विभाग इच्छुक ग्रामीण राज-मिस्त्रियों को प्रशिक्षित करने की भी योजना बना रहा है। जयराम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार ने हाल ही में राष्ट्रीय ग्रामीण मिशन और मनरेगा के अभिसरण से मुख्यमंत्री एक बीघा योजना आरंभ की है। अभी तक 2000 महिला स्वयं सहायता समूहों (Women Self Help Groups) ने इस योजना के अंतर्गत आवेदन किया है। सरकार ग्रामीण गरीबों को न्यूनतम वेतन से अधिक देने के लिए औपचारिक क्षेत्र में कौशल और रोजगार प्रदान करने पर विशेष बल दे रही है। उन्होंने कहा कि उन्नति परियोजना के अंतर्गत युवाओं को नए ट्रेड जैसे- फैशन डिजाइनिंग, सहायक हेयर-स्टाइलिस्ट, मल्टी-स्किल तकनीशियन, डेयरी प्रोसेसिंग उपकरणों आदि में प्रशिक्षित करने के लिए लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं।

यह भी पढ़ें: Big News: संकट की घड़ी में जयराम सरकार ने दी राहत, नहीं बढ़ेंगी बिजली की दरें

पंचायतें अपने राजस्व संसाधनों को बढ़ाने का करे प्रयास

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण के अंतर्गत एक विशेष पहल की है तथा जल शक्ति विभाग को मंडी (Mandi) जिला के थुनाग, धर्मपुर और जंजैहली और ऊना जिला के बंगाणा में पायलट आधार पर मल-संयंत्र स्थापित करने के लिए 23.70 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं। सड़कों के किनारे सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए शिमला (Shimla), सोलन, सिरमौर और ऊना (Una) जिलों के लिए एक-एक करोड़ रुपए की परियोजना स्वीकृत की गई है। पंचायतों के समावेशी स्थानीय शासन की क्षमताओं में वृद्धि पर बल देते हुए सीएम ने कहा कि उपलब्ध संसाधनों और अभिसरण योजनाओं के अधिकतम उपयोग के प्रयास किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि पंचायतों को भी अपने राजस्व संसाधनों को बढ़ाने के प्रयास करने चाहिए।

यह भी पढ़ें: Una में मां-बेटे ने गलती से निगला जहरीला पदार्थ, जांच में जुटी पुलिस

तकनीकी स्वीकृतियों में विलंब रोकने के लिए प्रभावी तंत्र की जरूरत

ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर (Virendra Kanwar) ने कहा कि विभिन्न तकनीकी स्वीकृतियों में विलंब रोकने के लिए प्रभावी तंत्र बनाने की आवश्यकता है, ताकि कार्य शीघ्र आरंभ हो सकें। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश मनरेगा के अंतर्गत 100 दिनों की सीमा को 120 दिनों तक करने में अग्रणी राज्य रहा है। ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभाग के सचिव डॉ. सदीप भटनागर ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा। निदेशक ग्रामीण विकास और पंचायती राज ललित जैन ने विभाग की विभिन्न गतिविधियों की प्रस्तुति दी। मुख्य सचिव अनिल खाची, प्रधान सचिव वित्त प्रबोध सक्सेना और अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

शिमला ग्रामीण से भेदभाव का आरोप लगाने वालों को शिलान्यास-उद्घाटन करारा जवाब

Himachal का नादौन पुलिस थाना देश भर में शीर्ष स्थान पर, गृह मंत्रालय ने जारी की रैंकिंग

Jio का टावर लगाने के नाम पर Sirmour निवासी से 1.53 लाख की ठगी

Una में बाइक पर जा रहे थे दो युवक, Police ने तलाशी ली तो मिली Charas

बीच सड़क पर बैठे MLA Vikramaditya, नगर निगम के खिलाफ की नारेबाजी, कर दिया चक्का जाम

Indu Goswami को हिमाचल BJP President बनने का ये कैसा ट्वीट

Vikramaditya बोले - Virbhadra की देन के उद्घाटन कर गए CM जयराम

हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने TET के लिए आवेदन तिथि बढ़ाई, कल तक कर सकते हैं आवेदन

कोविड-19 के प्रकोप के बीच शहरी निकायों के Election की तैयारी,आरक्षित सीटों का मांगा ब्यौरा

कोरोना संकट के बीच kangra पहुंच गया Chinese Tourist, मचा हड़कंप, इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन किया

Breaking : कानपुर मुठभेड़ का मास्टरमाइंड Vikas Dubey गिरफ्तार, उज्जैन में किया Surrender

Vikas Dubey के दो और साथी Encounter में ढेर, प्रभात मिश्रा कानपुर, बउआ दुबे इटावा में मारा

हिमाचल में Tourists की एंट्री पर HC ने सरकार से मांगा जवाब; जारी किया नोटिस

Covid-19 Update: हिमाचल में संक्रमितों का आंकड़ा 1100 पार, 18 नए केस; 43 हुए ठीक

सांसद किशन कपूर की पत्नी के लिए बदले नियम, डिप्टी डायरेक्टर कांगड़ा लगाईं

loading...
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने TET के लिए आवेदन तिथि बढ़ाई, कल तक कर सकते हैं आवेदन

CBSE ने सिलेबस से हटाए राष्ट्रवाद, Secularism जैसे Chapters,और भी बहुत कुछ

HRD मंत्री का ऐलान: CBSE कक्षा 9 से 12वीं तक के सिलेबस को 30% तक करेगा कम

हिमाचल में B.Ed करने के इच्छुकों के लिए राहत देने वाली है ये रपट, क्लिक करें

UGC के निर्देश : सितंबर के अंत तक करवानी होंगी UG Final Semester की परीक्षाएं, और भी बहुत कुछ, जानें

Kendriya Vidyalaya: फेल नहीं होंगे 9वीं-11वीं के छात्र; बिना परीक्षा के प्रोजेक्ट वर्क के जरिए होंगे प्रोमोट

हिमाचल के स्कूलों में Morning Prayer सभा एक जैसी हो, शिक्षा बोर्ड कर रहा तैयारी

SOS अगस्त व सितंबर की परीक्षाओं के ऑनलाइन पंजीकरण की तिथियां घोषित

CBSE ने टीचर्स के लिए शुरू किए Online कोर्स: यहां देखें डीटेल्स

Himachal में अध्यापकों को 12 तक छुट्टियां; 13 से होगी Online पढ़ाई शुरू

HPU सहित प्रदेश के 17 Colleges को मिलेगा कुल 27 करोड़ का ग्रांट; जानें किसके हिस्से में कितना

HPBOSE: SOS का 10वीं व 8वीं कक्षा का Result Out, दसवीं में  32.07 फीसदी हुए पास

15 जुलाई तक जारी होंगे CBSE- ICSE के नतीजे, असेसमेंट स्कीम को Supreme Court की मंजूरी

NCERT: स्कूलों के लिए अब आएगा नया सिलेबस; 15 साल बाद सरकार ने दिया ये आदेश

CBSE 10वीं की परीक्षा रद्द, 12वीं को दो ऑप्शन!, ICSE बोर्ड भी बोला- रद्द करने के लिए सहमत


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है