जयराम का खुलासाः विधायकों की परफॉर्मेंस तय करेगी मंत्री पद

मंत्रियों की परफॉर्मेंस के आधार पर मंत्रिमंडल में होगी री-शफलिंग

जयराम का खुलासाः विधायकों की परफॉर्मेंस तय करेगी मंत्री पद

- Advertisement -

ऋषि महाजन/नूरपुर। पूर्व ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा के इस्तीफे के लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के बाद जयराम कैबिनेट (Cabinet) में फेरबदल की संभावनाएं बढ़ गई हैं। वहीं, जयराम कैबिनेट में खाद्य आपूर्ति मंत्री किशन कपूर (Kishan Kapoor) लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। अगर वह जीतते हैं तो उनका पद भी खाली होगा। इस सूरत में किन्हीं भी दो विधायकों की लॉटरी लग सकती है। इसी बीच सीएम जयराम ठाकुर ने नूरपुर में मीडिया से बातचीत में खुलासा किया है कि चुनाव के बाद सभी समीकरणों के साथ-साथ विधायकों की परफॉर्मेंस (legislators Performance) के आधार पर खाली होने वाले मंत्री पद को भरा जाएगा। उन्होंने कहा कि मंत्रियों की परफॉर्मेंस के आधार पर मंत्रिमंडल में री-शफलिंग भी हो सकती है। चुनावों में विधायकों और मंत्रियों कि परफॉर्मेंस देखने के बाद सरकार स्वतंत्र होगी कि मंत्रिमंडल कैसा होगा, कौन विधायक शामिल होगा।

वीरभद्र सिंह प्रदेश के बजुर्ग नेता करता हूं सम्मान

ठाकुर ने पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह (Former CM Virbhadra Singh) प्रदेश के बजुर्ग नेता हैं, उनका सम्मान करते हैं। जयराम ने कहा कि राजनीति में उनको 22 साल हो गए हैं। इस दौरान मैं पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष भी रहा, मंत्री भी रहा, 5 बार विधायक भी रहा हूं। तजुर्बा बयानबाजी से नहीं मिलता, काम से मिलता है और इन चुनावों में सरकार का काम ही प्रदेश की चारों सीटें जिताएगा।

चंदेल के पार्टी से जाने पर दुखी

जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की स्थिति दयनीय है, जिसका उदाहरण है कि लोकसभा के प्रत्याशियों की घोषणा (Candidates Announcement) तीन चरणों में की है। उन्होंने कहा कि हार के डर के कारण बड़े नेता चुनावों से कन्नी काट गए हैं। कांग्रेस के बड़े नेता भांप गए है कि इस बार टिकट (Ticket) लेकर कोई फायदा नहीं, जीत बीजेपी की सुनिश्चित है। सुखराम और सुरेश चंदेल के कांग्रेस में जाने के सवाल पर सीएम ने कहा कि सुखराम आए ही नहीं थे तो जाएंगे कहां। बीजेपी की सदस्यता सिर्फ अनिल शर्मा ने ग्रहण की थी, इसलिए सुखराम उनके पिता होने के नाते उनके साथ खड़े थे। सुरेश चंदेल हमारी पार्टी के साथ थे, पार्टी से गए हैं, इस बात का दुःख जरूर है।


 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

शिक्षा बोर्ड ने एसओएस परीक्षा के लिए आवेदन तिथि बढ़ाई

गंगथ : छात्र की मौत गैर इरादतन हत्या - शिक्षकों और एक स्टूडेंट पर केस

मौसम: अगले दो दिन अंधड़, ओलावृष्टि की चेतावनी, येलो अलर्ट जारी

पौंग बांध विस्थापित मामले को लेकर दिल्ली में चर्चा, जल्द होगी समिति की बैठक

फौजी बनने को हो जाएं तैयारः सेना में भर्ती 3 जून से, 15 जून तक चलेगी

पोस्ट कोड 556-हाईकोर्ट की सरकार को हरी झंडी, गठित होगी कमेटी

हिमाचल हाईकोर्ट ने किए 14 न्यायिक अधिकारियों के तबादले

बिग ब्रेकिंगः एसपी ने खुद संभाला छात्र मौत मामले की जांच का जिम्मा, पहुंचे नूरपुर

दिल्ली में जयराम के पैर पर चढ़ा प्लास्टर, आठ दिन करनी होगी रेस्ट

शिमला दुराचार मामलाः वीरभद्र ने जयराम से मांगा इस्तीफा

अनिल शर्मा की दो टूकः पहले रहने की व्यवस्था करो, तभी छोड़ूंगा मंत्री की कोठी

सत्ती ने अनिल को घेरा-बोले, कार्यकर्ताओं की मेहनत पर सवाल उठाने का नहीं अधिकार

सरकार अगले छह महीने तक नहीं भरेगी मंत्री पद, जानिए क्या हैं कारण

आश्रय शर्मा का आरोप-सराज में बीजेपी ने की बूथ कैप्चरिंग

सरकाघाट : किचन में बेसुध पड़ी मिली महिला टीचर, संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है