बड़ी खबरः हिमाचल में बड़ा भूकंप आने की कैसे बन रही संभावना, जानिए

जनवरी के बाद 14 भूकंप के झटके, चंबा में 6 बार कांपी धरती

बड़ी खबरः हिमाचल में बड़ा भूकंप आने की कैसे बन रही संभावना, जानिए

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल (Himachal) में बड़ा भूकंप ( Earthquake) आ सकता है। बड़ा भूकंप आने की संभावनाओं को नहीं नकारा जा सकता है। विभिन्न शोधों से सामने आया है कि भविष्य में हिमालय के इस क्षेत्र में बड़ा भूकंप ( Earthquake) आने की संभावना को नकारा नहीं जा सकता, क्योंकि काफी समय से कोई बड़ा भूकंप इस क्षेत्र में नहीं आया है।



यह भी पढ़ें: हिमाचल में स्वास्थ्य से जुडे़ दो बड़े प्रोजेक्टों को लेकर क्या बोले परमार-जानिए

प्रदेश में आज भूकंप के झटके महसूस किए गए जिसका अधिकेंद्र (ऐपीसेंटर) जिला लाहुल-स्पीति ( Lahul-Spiti) था। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 4.3 आंकी गई। भूकंप का समय प्रातः 9 बजे था और इसकी गहराई 20 किलोमीटर थी।


1905 के बाद हिमाचल में 297 भूकंप के झटके दर्ज

राजस्व व आपदा प्रबंधन के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि हिमाचल में जनवरी 2019 के बाद से 4.3 या इससे कम तीव्रता के 14 झटके महसूस किए गए हैं, जिसमें से चंबा जिला में 6 बार, किन्नौर में तीन बार, मंडी में दो बार, शिमला और कांगड़ा में एक-एक बार भूकंप दर्ज किए गए हैं।

इनमें से अधिकांश झटके 20 किलोमीटर की अधिकतम गहराई वाले थे। प्रवक्ता ने कहा कि अतीत में राज्य में कई भूकंप ( Earthquake) दर्ज किए गए हैं और 1905 का कांगड़ा भूकंप इतिहास में अब तक का सबसे शक्तिशाली दर्ज किया गया है, जिसमें लगभग 20 हजार लोगों की जान गई और एक लाख से अधिक घर ढह गए। तब से राज्य में तीन मैग्निट्यूड के 297 भूकंप दर्ज किए गए। वर्ष 1975 किन्नौर में आया भूकंप ( Earthquake) प्रदेश के लिए एक और बढ़ा झटका था।


लोगों को किया जा रहा है जागरूक

राजस्व व आपदा प्रबंधन के एक प्रवक्ता ने बताया कि भूकंप कुछ क्षणों में समुचे समुदाय को नुकसान पहुंचा सकता है और बड़ी संख्या में लोग बेघर हो सकते हैं और उन्हें पालयन करना पड़ सकता है। हिमाचल प्रदेश सरकार विभिन्न कार्यक्रमों के द्वारा लोगों में प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए जागरुकता पैदा कर रही है और समय-समय पर चेतावनी भी जारी कर रही है और विशेषकर आम लोगों को भूकंप रोधी आवास बनाने के लिए प्रेरित कर रही है।

उन्होंने कहा कि लोगों को आपदाओं से निपटने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए और इसके लिए आपदा किटस तैयार रखनी चाहिए, जिसमें दवाईयां व खाद्य पदार्थ शामिल होने चाहिए। आपदा के समय संयम बनाए रखना चाहिए और सुरक्षित स्थानों पर आश्रय लेना चाहिए तथा टोल फ्री नंबर 1077/1070/112 पर सहायता के लिए संपर्क करना चाहिए।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

चंडीगढ़ व दिल्ली की मंडियों में जाते हैं ऊना के इस किसान के फूल

राजगढ़ में कांग्रेस का लोकतंत्र बचाओ मार्च, जोरदार नारेबाजी के बीच माहौल बनाने पर जोर

सीएम जयराम के गृह जिला के इस स्कूल में 4 माह से खाली है अध्यापकों के पद

फिलीपींस में 6.4 तीव्रता का भूकंप, पांच की मौत, कई घायल

लगघाटी में पहाड़ी से गिरा पत्थरः सड़क से नीचे गिरा सवार, बाइक के उड़े परखच्चे

खुदाई करने वाली मशीन से टकराई बस, 35 तीर्थयात्रियों की मौत

बिना बिल और टैक्स भुगतान किए ले जा रहा था 20 लाख के आभूषण, कारोबारी पर एक लाख जुर्माना

पांच बीवियों का खर्च नहीं उठा पाया तो बन गया ठग, एम्स में नौकरी के बहाने लड़कियों से ऐंठता था पैसे

कांगड़ा और ऊना में कार्यरत पंजाब के इन कर्मचारियों को अवकाश घोषित

काम में कौताही पर पंचायत प्रधान और वार्ड सदस्य बर्खास्त

संतोषगढ़ के चौकी प्रभारी लाइन हाजिर, एसपी के आदेशों को हल्के में ले रहे थे

सेल्फी ले रही दो सहेलियां पार्वती नदी में बही, एक बच निकली दूसरी का अता-पता नहीं

शांता क्यों बोले ,जीवन के अंतिम पड़ाव पर मुझे किसी से भी प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं

धूमल बोलेः कागजी सवाल करते हैं कांग्रेसी, कागजों में बनती है राजधानी

ऊना में नशा माफियाः अवैध शराब, चरस और प्रतिबंधित दवाओं सहित दो धरे

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है