प्रदेश में दूसरी से 5वीं कक्षा तक पढ़ाई जाएगी संस्कृत, पाठ्यक्रम को मिली मंजूरी

निजी स्कूलों में डम्मी एडमिशन पर कड़ी नजऱ रखी जाएगी

प्रदेश में दूसरी से 5वीं कक्षा तक पढ़ाई जाएगी संस्कृत, पाठ्यक्रम को मिली मंजूरी

- Advertisement -

धर्मशाला। हिमाचल (Himacha Pradesh) की दूसरी राजभाषा संस्कृत (Sanskrit) अब प्रदेश के स्कूलों में दूसरी कक्षा से पांचवीं कक्षा तक पढ़ाई जाएगी। यह निर्णय मंगलवार को हिमाचल प्रदेश स्‍कूल शिक्षा बोर्ड धर्मशाला में शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज की अध्‍यक्षता में आयोजित शिक्षा बोर्ड के निदेशक मंडल की बैठक में लिया गया। हिमाचल की इसके लिए सोलन स्थित एनसीआरटी ने दूसरी कक्षा से पांचवीं कक्षा तक का पाठ्यक्रम तैयार कर लिया है, जिसे हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के निदेशक मंडल की बैठक में स्वीकृति (Approved) दी गई है। संस्कृत विषय के दूसरी कक्षा से शुरू होने के बाद इसी भाषा में बच्चों में संवाद शुरू हो पाएगा। अगले शैक्षणिक सत्र से स्कूलों में यह विषय शुरू किया जाएगा। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि इस दिशा में शुरुआत हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड से ही होगी। इसके लिए बकायदा शिक्षा बोर्ड को भी निर्देश दे दिए गए हैं कि वह अपने जितने भी कार्यालय के बोर्ड हैं उनमें हिंदी के साथ-साथ संस्कृत में भी नाम अंकित करें।


 

डम्मी एडमिशन पर कड़ी नजऱ रखेगा शिक्षा बोर्ड

 

दूसरा बड़ा निर्णय बैठक में यह लिया गया है कि पांचवीं से दसवीं कक्षा तक के छात्रों को पढ़ाए जा रहे नैतिक शिक्षा व स्वतंत्रता संग्राम की कहानी नामक पाठय पुस्तकों की पाठ्य सामग्री पर पुन: विचार करने के बाद अधिक प्रासंगिक व रुचिकर बनाया गया है, जिसे बोर्ड ने स्वीकृति प्रदान करते हुए इसका नया नामकरण भारतीय प्रतिरोध एवं स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास रखा है। छात्रों को अपने प्राचीन मूल्यों से अवगत करवाया जा सके, इसके लिए कक्षा छठी से दसवीं तक गणित विषय के पाठयक्रम में वैदिक गणित को सम्मलित करने के लिए विषय सामग्री तैयार की है। स्कूलों में मोर्निंग एसेंबली में सुधार करते हुए उसमें पर्यावरण, स्वच्छता और नशा मुक्ति के विषय जोड़कर अधिक रोचक और गुणवत्तापूर्ण बनाया जाएगा। वहीं निजी स्कूलों में डम्मी एडमिशन (Dummy Admission) पर कड़ी नजऱ रखी जाएगी और ऐसा पाए जाने पर निजी स्कूलों की एफिलेशन रद्द कर दी जाएगी। परीक्षा प्रणाली में भी बड़े स्तर पर सुधार किए गए हैं। इसके तहत अब छात्रों को पूनर्मूल्यांकन करवाने के बाद निर्धारित तिथि पर दोनों में से कोई भी परिणाम प्राप्त करने की छूट प्रदान की गई है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group No 10…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

शीतकालीन सत्र का तीसरा दिन : प्रश्नकाल के दौरान सुक्खू ने उठाए मुख्यमंत्री आवास योजना पर सवाल

सुंदरनगर में फर्जी आईएएस बनकर मांगे 5 लाख, धमकी भी दी

जातीय भेदभाव मामलाः बच्चों के बयान दर्ज करने पहुंचे स्कूल पहुंचे डीएसपी व एसएचओ

ऊना बहस करने के बाद किया दराट से हमला, घायल अस्पताल में

हिमाचल : पिस्तौल और जिंदा कारतूस सहित दिल्ली निवासी धरा, क्या था प्लान जानिए

सलौणी में टैंकर और स्कूटी की टक्कर में एक की मौत, एक घायल

जवालीः करोड़ों के फर्जीवाड़े मामले में तीन कंपनियों सहित पांच लोगों पर एफआईआर

अलर्ट: हिमाचल में निर्मित इन 6 जरूरी दवाओं के सैंपल हुए फेल, खरीदने की गलती मत करना!

वीडियो: मंडी के सरकारी स्कूल में मिड डे मील के दौरान जातीय भेदभाव, मामला दर्ज

मंडीः घर निर्माण में लगाया जा रहा था सरकारी सीमेंट, महिला सहित दो पर एफआईआर

बिक्रम ठाकुर का इन्वेस्टर मीट में गड़बड़ियों से इनकार, बताया कितना हुआ खर्च

जयराम का वार-इन्वेस्टर मीट से अधिक तो कांग्रेस ने मिट्टी हटाने पर ही खर्च डाले

खुशखबरी: HPPSC ने निकाली स्कूल लेक्चरर के 396 पदों पर वैकेंसी, पुराने आवेदकों के लिए सूचना

हिमाचल: भारी बारिश-बर्फबारी की चेतावनी के बीच सात जिलों में येलो अलर्ट जारी

प्रश्नकालः कांगड़ा हवाई अड्डा विस्तारीकरण, पौंग विस्थापित मामले में क्या बोली सरकार

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है