पुलिस टीम पर हमले को लेकर गरमाई सियासत, सत्ती ने साधा निशाना-राठौर बचाव में उतरे

पुलिस टीम पर हमले को लेकर गरमाई सियासत, सत्ती ने साधा निशाना-राठौर बचाव में उतरे

- Advertisement -

शिमला। ऊना क्षेत्र के निकटवर्ती पेखुवेला गांव में शराब माफिया पर कार्रवाई के दौरान पुलिस टीम पर ही हमले (Attack police team) के मामले में कांग्रेस विधायक सतपाल रायजादा के पीएसओ और चालक की संलिप्ता के बाद सियासत भी गरमा गई है।


यह भी पढ़ें: पुलिस टीम पर हमले के विरोध में बीजेपी ने सड़क पर उतरकर कांग्रेस विधायक पर बोला हमला

 

एक तरफ जहां बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती (BJP state president Satpal Singh Satti) ने विधायक के संरक्षण में ऊना में शराब, खनन माफिया और नशे का कारोबार चलने का आरोप जड़ा है, वहीं कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर (Congress state President Kuldeep Rathore) विधायक सतपाल रायजादा के बचाव में उतर आए हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस विधायक सतपाल रायजादा ने मामले को लेकर उनके खिलाफ जानबूझकर साजिश रचने के आरोप लगाए हैं।


विधायक के फोन की मांगी जांच, पीएसओ हो सस्पेंड

बीजेपी अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने आरोप लगाते हुए कहा कि ऊना में लंबे समय से कांग्रेस (Congress) के लोग शराब, खनन माफिया और नशे के कारोबार में संलिप्त हैं। विधायक के संरक्षण में कारोबार चल रहा है। अब तक जितने लोग पकड़े गए हैं, उसमें अधिकतर कांग्रेस के लोग हैं।

शराब पंजाब (Punjab) से अवैध रूप से लाई जा रही है। सत्ती ने कहा कि ऊना (Una) में पुलिस ने अवैध शराब पकड़ी, लेकिन तस्करों को बचाने के लिए विधायक की गाड़ी में पीएसओ (PSO) और चालक ने पुलिस के साथ मारपीट की है। नशा माफिया के तार कहा तक जुड़े हैं और कहां-कहां बात करते हैं, इसकी जांच होनी चाहिए। अगर विधायक भी इसमें संलिप्त हैं तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने विधायक सतपाल रायजादा के फोन की जांच करने और विधायक के पीएसओ को सस्पेंड करने की मांग की है।


राठौर ने कहा- विधायक पर बीजेपी लगा रही झूठे आरोप

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने विधायक सतपाल रायजादा का बचाव करते हुए कहा कि बीजेपी जनता का ध्यान भटकाने के लिए कांग्रेस के विधायक पर नशा तस्करों को संरक्षण देने के झूठे आरोप लगा रही है, जोकि सरासर गलत हैं। ऊना सदर के कांग्रेस विधायक सतपाल रायजादा ने पहले भी नशा व खनन तस्करों के खिलाफ आवाज उठाई थी और तस्करों के विरोध में ऊना के पुलिस अधीक्षक का घेराव भी किया था। कुलदीप राठौर ने कहा कि उनकी मामले को लेकर विधायक से बात हुई है और विधायक हर पुलिस जांच करवाने के लिए तैयार हैं। बीजेपी के आरोप निराधार हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

शिमला: अगले पांच दिन फिर सताएगा मौसम, इस दिन होगी भारी बारिश

मानसून सत्रः सरवीण चौधरी और मुकेश अग्निहोत्री में तीखी नोकझोंक

बद्दी में तैनात सहायक ड्रग कंट्रोलर के आवास पर 5 घंटे से विजिलेंस रेड जारी

हिमाचलः बीजेपी संगठनात्मक चुनाव का बजा बिगुल, 11 सितंबर से होंगे शुरू

हिमाचल में बनेगी ई-वाहन नीति, पहली इलेक्ट्रिक कार में सफर करेंगे जयराम

हिमाचलः 2 अक्टूबर को एक साथ एक लाख लोग बीपीएल सूची से होंगे आउट

बुजुर्ग की फरियादः साहब ! मुझे मेरे परिवार से बचाओ, डंडे से करते हैं पिटाई

बच्चा चोर गिरोह समझ तीन नकली किन्नरों की लोगों ने की जमकर धुनाई

बीडीओ ने नहीं दिया स्वीकृति पत्र, चलवाड़ा पंचायत में 60 बैग सरकारी सीमेंट बना पत्थर

स्वास्थ्य विभाग में करुणामूलक आधार पर नियुक्ति पर क्या बोली सरकार-जानिए

पेरिस में बोले मोदी, गांधी के देश में टेंपरेरी के लिए कोई जगह नहीं

गहरी खाई में गिरा आर्मी का ट्रक, महार रेजिमेंट के एक जवान की मौत, 3 घायल

सुक्खू बोले-विधायक वेबसाइट में डालें संपत्ति का ब्यौरा, सरकार लाए बिल

कांग्रेस के विधायक हर्षवर्धन चौहान ने क्यों मांगी सदन में माफी-जानिए

बिग ब्रेकिंगः पैट का इंतजार खत्म, 14 अक्टूबर को होगी सुप्रीम कोर्ट में अंतिम सुनवाई

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है