शहीद का मां और पत्नी से आखिरी वादाः मैं छुट्टी लेकर जल्द आउंगा, बेटे वरूण के साथ खूब खेलूंगा

अनिल आएगा तो जरूर पर छह माह के बेटे से खेल नहीं पाएगा

शहीद का मां और पत्नी से आखिरी वादाः मैं छुट्टी लेकर जल्द आउंगा, बेटे वरूण के साथ खूब खेलूंगा

- Advertisement -

ऊना। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों से हुई मुठभेड़ में शहीद हुआ हिमाचल के ऊना जिला के लाल का मां और पत्नी से किया एक वादा (Promise) अब कभी पूरा नहीं हो पाएगा। दस दिन पहले 15 दिन की छुट्टी काटकर ड्यूटी (Duty) पर जाते वक्त अनिल कुमार ने पत्नी श्वेता व मां अनिता से वादा किया था कि वह जल्द दोबारा छुट्टी लेकर आएंगे और अपने छह माह के बेटे वरूण से खूब खेलेंगे। शहीद अनिल कुमार वापस तो लौटेगा लेकिन अपने छह माह के बेटे के साथ नहीं खेल पाएगा। वरूण चाहे अभी गोद में है, लेकिन पिता की शहादत का उन्हें आने वाले कुछ वर्ष बाद पता चलेगा, जिस पर वरूण गर्व महसूस करेगा। वहीं, मां से जन्मदिन की बधाई लेने के दो दिन बाद ही हिमाचल के ऊना (Una) जिला का जाबांज बेटा अनिल कुमार भारत माता के लिए कुर्बान (martyr) हो गया।


यह भी पढ़ें: अनंतनाग मुठभेड़ में शहीद हुआ हिमाचल का जवान

लंबे समय तक देश की सेवा कर रिटायर्ड हुए अशोक कुमार को जितनी गर्व बेटे के फौज में भर्ती के समय हुआ थी, उतना ही गर्व 6 वर्ष बाद भी बेटे की शहादत पाने पर हो रहा है। लेकिन समय ऐसा है कि इस गर्व के बीच पूर्व सैनिक पिता अशोक कुमार के आंखों से आंसू रूकने का नाम नहीं ले रहे हैं। किसी तरह खुद को संभालकर न केवल परिवार का ढांढस बंधा रहे हैं। वहीं छह माह के पौते वरूण जसवाल में ही अपने बेटे अनिल (Anil) को देख अपने भविष्य के बारे में सोच रहे हैं।

बेटे के घायल होने के समाचार पहुंच चुका था, उसकी सलामती के लिए दुआएं कर रहे थे। लेकिन मंगलवार सुबह की सेना अधिकारी (Army officer) का फोन आया कि घायल अनिल देश के लिए शहीद हो गए। ये शब्द सुनते ही जैसे पिता पर पहाड़ टूट गया हो। लेकिन, पिता ने नम आंखों को जाहिर नहीं होने दिया और काफी घंटे तक परिवार को इस बात की जानकारी के लिए तैयार किया। जैसे ही शहीद की माता अनिता को खबर लगी, तो उसका रो-रोकर हाल बेहाल हो गया।

दोपहर बाद बताई बहू को शहादत की बात

शहीद की पत्नी श्वेता अपने पति की शहादत को लेकर अकेलापन महसूस कर रही है। ऐसे समय में श्वेता के लिए अपने छह के बेटे वरूण जसवाल का ही सहारा है। पति की शहीदी का समाचार पाते ही पत्नी रोती-बिलखती रही। पति की शहादत की बात भले ही पिता अशोक कुमार को शहीद ( (martyr)) होने के कुछ समय बाद ही पता चल गई थी, लेकिन बहू से इस बात को छुपाए रखा, ताकि मासूम बच्चे के स्वास्थ्य कोई असर न पड़े।

दोपहर बाद जैसे ही पत्नी श्वेता ने पति की शहादत की खबर सुनीं, तो पूरे घर सहित गांव का माहौल गमगीन हो गया। आंखों में आंसू भरे श्वेता दुधमुहे बच्चें को कलेजे से लगाए रखा। मासूम के ज्यादा रोने पर मां श्वेता खुद को संभालकर वरूण जसवाल को चुप भी कराती रही। वहीं संगे संबंधियों व पड़ोसियों ने भी श्वेता का ढाढंस बंधाया। 25 वर्षीय अनिल कुमार पुत्र अशोक कुमार जिला ऊना के उपमंडल बंगाणा की ग्राम पंचायत चमियाडी के गांव सरोह का रहने वाले थे।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

ब्रेकिंगः हिमाचल विधानसभा सचिवालय में विभिन्न पदों के लिए शुरू की भर्ती रद्द

हिमाचल का मामलाः बेटे का इलाज करवाने तांत्रिक के पास आई महिला से गैंगरेप

जिला स्तर पर बड़े हॉस्पिटल की मिलेगी सुविधा, सरकार खोलेगी संपूर्ण अस्पताल

कांगड़ा में संवेदनशील सरकारी तथा निजी भवनों तुरंत करवाएं खाली

मायावती के भाई-भाभी पर आयकर विभाग का शिकंजा, 400 करोड़ की संपत्ति जब्त

रात में बिना बताये निकला था घर से , सुबह पेड़ से लटकी मिली लाश

किसानों को बड़ी राहत : अब 15 दिन के अंदर बनेगा किसान क्रेडिट कार्ड

शिवोथान मंदिर भरमाड़ में मेला लगाने आए युवक को सांप ने काटा, मौत

हेल्थ चेकअप के लिए आईजीएमसी पहुंचे सीएम जयराम

भूस्खलन से मनाली-लेह मार्ग पर घंटों फंसे रहे जवान और पर्यटक

चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग को इसरो फि‍र तैयार, 22 जुलाई का समय तय

कांगड़ा बस अड्डे के बाहर कार व स्कूटर में टक्कर, दो युवक घायल

चंडीगढ़- मनाली एनएच पर टाइलों से भरा ट्राला पलटा, चालक गंभीर

घरेलू कलह से तंग आकर महिला ने उठाया ये खौफनाक कदम

श्रीखंड महादेव यात्रा फिर शुरू, पार्वती बाग तक ही जाएंगे श्रद्धालु

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है