Covid-19 Update

3744
मामले (हिमाचल)
2402
मरीज ठीक हुए
17
मौत
24,11,547
मामले (भारत)
20,850,291
मामले (दुनिया)

ऊना : हादसे में टांगे खोने के बाद भी नहीं टूटी हिम्मत, ऐसे परिवार को पाल रहे हैं विशन दास

12 सालों से बिस्तर पर लेटकर ही वेल्डिंग का काम कर रहे हैं

ऊना : हादसे में टांगे खोने के बाद भी नहीं टूटी हिम्मत, ऐसे परिवार को पाल रहे हैं विशन दास

- Advertisement -

ऊना। हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के जिला ऊना (Una) में रहने वाले विशन दास आज कई लोगों के लिए मिसाल पेश कर रहे हैं। एक हादसे में उन्होंने अपनी टांगे खो दीं लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं छोड़ी। जहां कुछ लोग अपनी लाचारी को अपनी किस्मत मान कर दूसरों के सहारे हो जाते हैं वहीं, ऊना के विशन दास आज खुद काम कर के अपने परिवार का पालन-पोषण कर रहे हैं। उन्होंने 12 साल पहले अपनी टांगें खो दी थी लेकिन हार नहीं मानते हुए वे पिछले 12 सालों से बिस्तर पर लेटकर ही वेल्डिंग का काम कर रहे हैं।


ऊना के वार्ड नंबर एक में रहने वाले विशन दास का करीब 15 साल पहले तक दिल्ली (Delhi) में वेल्डिंग का काम करते थे। लेकिन 2004 में विशन दास के साथ एक दुखद हादसा घटा। आपसी लेन देन के कारण उसी के एक सहयोगी कामगार ने उसकी पीठ में गोली मार दी और इसके चलते उसे पैर गंवाना पड़ गया। विशन दास की कमर के नीचे के हिस्से ने पूरी तरह से काम करना बंद कर दिया तब दिल्ली में सारा काम छोड़ छाड़कर उसे अपने घर ऊना वापिस आना पड़ गया। दिल्ली से विशन दास अकेला नहीं आया बल्कि लोहे के उत्पाद बनाने में प्रयोग होने वाला अपना सारा सामान भी ऊना ले आया।

विशन ने अपने परिवार की जिम्मेवारी संभाली और बिस्तर पर लेटे लेटे ही वेल्डिंग का छोटा छोटा काम करना शुरू कर दिया और उसका नतीजा यह हुआ कि आज विशन दास वेल्डिंग का बड़े से बड़ा काम करने से भी पीछे नहीं हटता है। लेकिन इस दौरान उन्हें उनके परिवार का भी पूरा सहयोग मिला।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Chennel… 

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

















सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है