बड़ी खबरः Himachal में जहरीला हो रहा Ground Water, आने वाला है गंभीर सूखा

सदन में IPH Minister Mahendra Singh Thakur ने किया खुलासा

बड़ी खबरः Himachal में जहरीला हो रहा Ground Water, आने वाला है गंभीर सूखा

- Advertisement -

लोकिन्दर बेक्टा / शिमला। प्रदेश में भूजल (Ground Water) की स्थिति बहुत की खराब हो रही है। मैदान क्षेत्रों में स्थिति ज्यादा खराब है। साथ ही शहरी इलाकों में भूजल जहरीला हो रहा है। यहीं नहीं प्रदेश में गंभीर सूखा आने के संकेत भी मिल रहे हैं। जी हां यह हम नहीं कह रहे, बल्कि प्रदेश सरकार का कहना है। Himachal Vidhan Sabha के बजट सेंशन में यह खुलासा IPH Minister Mahendra Singh Thakur ने कांग्रेस विधायक दल के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने नियम 130 के तहत प्रदेश की water conservation नीति के मामले की चर्चा का जवाब देते हुए किया है। उन्होंने कहा कि शहरी इलाकों में भूजल को जहरीला होने से रोकने के लिए कदम उठाए जाएंगे।


उन्होंने कहा कि देश में वर्षा जल का केवल 18 फीसदी ही इस्तेमाल हो पा रहा है और इसे बढ़ाना है। उन्होंने सतलुज नदी के सुरंग में जाने पर कहा कि इससे सतलुज की पहचान खत्म हो रही है। इसके लिए छोटे-छोटे बांध बनाए जाएंगे। इससे जमीन में पानी रिचार्ज होगा और इसका लाभ लोगों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि अब हमें भी सिंगापुर की तर्ज पर कानून बनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सरकार सीवरेज के पानी को रीसाइकल कर इसे इस्तेमाल योग्य बनाने की दिशा में भी काम करेगी। उन्होंने कहा कि जल संग्रहण सबकी सांझी जिम्मेदारी है और इसे इच्छा शक्ति से ही पूरा किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि गंभीर सूखा सामने आने वाला है और सभी सदस्य लोगों को समझाएं कि पानी का दुरुपयोग न करें। इसके लिए सरकार भी जागरुकता अभियान चलाएगी।

प्रदेश सरकार ने 4751 करोड़ रुपये का कंसेप्ट नोट केंद्र को भेजा

सिंचाई मंत्री महेंद्र सिंह ने कहा कि जल संग्रहण के लिए प्रदेश सरकार ने 4751 करोड़ रुपये का कंसेप्ट नोट बनाकर केंद्र सरकार को भेजा है। इसके तहत राज्य के चंगर क्षेत्र को प्राथमिकता दी जाएगी और इसके माध्यम से राज्य में भूजल को बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार स्नो हारवेस्टिंग की तरफ भी बढ़ रही है और जल्द ही इसकी योजना बनाकर केंद्र को भेजी जाएगी। उन्होंने कहा कि पीएमजीएसवाई की तर्ज पर प्रधानमंत्री जल संग्रहण योजना शुरू करने को लेकर इसका प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि शिक्षा संस्थानों में विशेष अभियान चलाया जाएगा, जिसमें जल संसाधन को विश्वविद्यालय स्तर तक इसे एक विषय के रूप में पढ़ाया जाएगा।

जल संरक्षण के साथ जल प्रबंधन भी आवश्यक

कांग्रेस विधायक दल के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने नियम 130 के तहत प्रदेश की water conservation नीति पर चर्चा शुरू करते हुए कहा कि आज यह सबसे गंभीर मसला है। उन्होंने कहा कि आज जल संरक्षण के साथ-साथ जल प्रबंधन करना आवश्यक है और इसके लिए सरकार को अपनी नीति बतानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सिंचाई मंत्री ने जल संरक्षण के लिए 4751 करोड़ रूपए का प्रोजेक्ट केंद्र को भेजा है और उसमें जो इलाके लिए हैं, वो वे लिए हैं, जिनकी जरूरत नहीं थी, जिन इलाकों में पानी का भारी संकट है, वे एरिया इसमें शामिल होने चाहिए थे। मंत्री ने इसमें अपने एरिया को पहले लिया है।

ग्लोबल वार्मिंग से बढ़ रही पानी की समस्या

रमेश धवाला ने चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि ग्लोबल वार्मिंग से पानी की समस्या और बढ़ रही है। गर्मी शुरू होते ही लोग सुबह से ही पानी की लिए हाहाकार करने लगे हैं। उन्होंने कहा कि पानी के स्रोत सूख रहे हैं। उनका कहना था कि पहले तालाब बनते थे और उनमें पानी होता था, लेकिन वे अब सूख गए हैं। धवाला ने कहा कि पानी की कमी को दूर करने के लिए जमीन के जल स्तर को बढ़ाना होगा। पूर्व मंत्री व कांग्रेस सदस्य कर्नल धनीराम शांडिल ने कहा कि पानी की भारी कमी से लोग परेशान हैं। आज जरूरत ग्लेशियरों को बचाने की है। उनका कहना था कि पानी को बचाने को सभी को एक संकल्प के रूप में लेना होगा और पौधरोपण हर व्यक्ति के लिए जरूरी करना होगा। बीजेपी सदस्य कर्नल इंद्र सिंह, जगत सिंह नेगी, बलवीर चौधरी, लखविंद्र राणा, जेआर कटवाल ने भी इसमें हिस्सा लिया।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

रात को टहलने निकला फैजाबाद का पर्यटक, पार्वती नदी में गिर कर हुआ लापता

कुपवाड़ा : पाकिस्तानी सेना ने तोड़ा सीजफायर, फायरिंग में दो जवान शहीद, एक नागरिक की मौत

ऊनाः लावारिस गाय से टकराईं दो कारें, एक बीच सड़क पलटी - 4 घायल

पंजाब नवांशहर के सैनिक ने कसौली के गेस्ट हाउस में लगाया फंदा

हंगामाः एचआरटीसी चालक ने छात्रा को दी गाली, आया चक्कर-अस्पताल में भर्ती

स्वामी बोले-गोडसे की गोली से ही हुई थी महात्मा गांधी की मौत, यह जांच का विषय

भुंतर एयरपोर्ट पर ज्वाइनिंग लेटर लेकर पहुंचा युवक, सच पता चला तो उड़ गए होश

टैट के लिए आए 60254 आवेदन, 3008 हो सकते हैं रद्द-जानिए कारण

कौन महात्मा और कौन चूहा, भाषण में यह क्या कह गए सुधीर-जानिए

जयराम बोले- दिल्ली और शिमला दोनों तरफ से होगा धर्मशाला का विकास

रंगड़ों का हमलाः बच्ची की मौत के बाद मां ने भी आईजीएमसी में तोड़ा दम

शांता बोले, धर्मशाला में बहुत सुनी नेताओं की, आखिरी दो बातें मेरी भी सुन लें

21 को वोट डालने जाना तो इन्हें साथ जरूर लेकर जाना

जॉनसन बेबी पाउडर में मिला कैंसर कारक तत्व, कंपनी ने 33 हजार डिब्बे वापस मंगवाए

बाली बोले,सुनो सरकार इन्वेस्टर मीट की करते हो बात, मेरे ही होटल का नक्शा नहीं हो रहा पास

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है