Covid-19 Update

3497
मामले (हिमाचल)
2278
मरीज ठीक हुए
16
मौत
2,325,026
मामले (भारत)
20,378,854
मामले (दुनिया)

टांडा अस्पताल में शुरू होगी डिजिटल भुगतान सुविधा, दिन-रात खुली रहेगी लैब

परमार की अध्यक्षता में रोगी कल्याण समिति की बैठक आयोजित

टांडा अस्पताल में शुरू होगी डिजिटल भुगतान सुविधा, दिन-रात खुली रहेगी लैब

- Advertisement -

धर्मशाला। स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार( Health Minister Vipin Singh Parmar) की अध्यक्षता में डॉ. राजेन्द्र प्रसाद राजकीय मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल टांडा की रोगी कल्याण समिति( Rogi Kalyan Samiti)की बैठक आयोजित की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि अस्पताल में डिजिटल भुगतान सुविधा ( Digital payment facility) आरंभ की जाएगी, जिसके लिए कैश कांउटर में स्वाइप मशीनें लगाई जाएंगी। बैठक में मरीजों के लिए ओपीडी टोकन डिस्पले सिस्टम तथा पीए सिस्टम लगाने की अनुमति दी गई। सुपर स्पेशिलिटी( Super specialty) में वाई-फाई सुविधा आरंभ करने का प्रस्ताव पारित किया गया।



यह भी पढ़ें: आशा की नसीहतः सरकार के पैसे का उपयोग लोक हित में करें अधिकारी

स्वास्थ्य मंत्री परमार ने इस दौरान कहा कि गरीब मरीजों की सहायता के लिए सहायता फंड बनाया जाएगा जिसमें कोई भी दान दे सकता है। अस्पताल की लैब को 24 घंटे चलाया जाएगा ताकि संस्थान में आने वाले रोगियों को दिन-रात टेस्ट सुविधा का लाभ प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि टांडा अस्पताल में एक अतिरिक्त एमआरआई मशीन ( MRI machine) उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि सुपरस्पेशिलिटी में चिकित्सक और अन्य स्टाफ मुहैया करवाया गया है। पीपीपी मोड पर डायलिसिस सुविधा शुरू की जाएगी। आरकेएस( RKS) के धन का उपयोग मरीजों की सहायता के लिए खर्च किया जाएगा। स्पेशल वार्ड का शुल्क 1000 से 1200 रुपये और स्पेशल वार्ड वीआईपी का 1000 से 1500 रुपये करने का प्रस्ताव पारित किया गया।


अस्पताल परिसर में 300 नए बैंच लगाने की अनुमति प्रदान की

प्रबंधन समिति ने वर्ष 2018-19 की आय 4787 लाख और खर्चा 3852 लाख का बजट पास किया। समिति द्वारा वर्ष 2019-20 के लिए प्रस्तावित आय 60 करोड 44 लाख रूपये तथा प्रस्तावित खर्च 64 करोड़ 80 लाख रुपये का अनुमान रखा गया है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि रोगी कल्याण समिति का उद्देश्य अस्पताल में रोगियों को प्रदान की जाने वाली सुविधाओं में सुधार एवं सहायता प्रदान करना है। समिति रोगियों के कल्याण के लिए सरकार द्वारा चलाई गई कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सभी उपकरणों की गुणवत्ता जांचने, प्रतिदिन अस्पताल की चादरें बदली जाए, इसे सुनिश्चित करने के लिए चदरों की मार्किंग दिन अनुसार की जाएगी।

उन्होंने वार्डों में 50 आयरन लॉकर लेने, सॉलिड वेस्ट के लिए बारकोड मशीन, अस्पताल परिसर में 300 नए बैंच लगाने की अनुमति प्रदान की। बैठक में स्नातकोत्तर छात्रों की टयूशन फीस ( Tuition fee) मुद्दा रोगी कल्याण समिति में रखने का प्रस्ताव रखा गया। बैठक में एआरटी भवन से दुकानें खाली करने का प्रस्ताव पारित किया गया जिससे इस पुराने भवन को हटाकर नया गेरियाट्रिक सेंटर का निर्माण किया जा सके। मरीजों की सहायता के लिए विभिन्न श्रेणियों के 210 आक्सीजन तथा ऑक्साइड सिलेंडर लेने की अनुमति दी गई।उन्होंने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से टांडा अस्पताल में सीसीटीवी कैमरों की संख्या बढ़ाई जाएगी। इस दौरान बैठक में पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन पर दो मिनट का मौन रखा गया।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

















सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है