सुरेश भारद्वाज का ऐलानः हिमाचल में अब नहीं खोले जाएंगे नए कॉलेज

शिक्षकों की रिटायरमेंट एकेडिमक सेशन में ही होगी

सुरेश भारद्वाज का ऐलानः हिमाचल में अब नहीं खोले जाएंगे नए कॉलेज

- Advertisement -

धर्मशाला। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि प्रदेश में अब नए कॉलेज (Colleges) नहीं खोले जाएंगे। हिमाचल में साक्षरता की समस्या नहीं है, बल्कि क्वालिटी एजुकेशन पर ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि छात्रों की पढ़ाई प्रभावित न हो इसके लिए अब शिक्षकों की रिटायरमेंट एकेडिमक सेशन में ही होगी। यह बात उन्होंने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के ड्राफ्ट को लेकर आयोजित वर्कशाप के बाद सचिवालय में मीडिया से बातचीत में कही। वर्कशाप शिक्षा बोर्ड धर्मशाला  के   सौजन्य से सचिवालय में  आयोजित की गई।


यह भी पढ़ें: ऊना में कार चालक और बिलासपुर में बस यात्री से पकड़ा चिट्टा

 

शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ( Education Minister Suresh Bhardwaj ) ने कहा कि शिक्षा नीति को लेकर एक सुझाव यह भी आया है कि भारत की हिमालयन स्टेटों के लिए एक अलग नीति बने। इसके लिए जल्द ही एक सेमिनार आयोजित करने की योजना है। सेमिनार में उत्तराखंड, जम्मू व हिमाचल आदि हिमालयन स्टेट के शिक्षा मंत्री, शिक्षा सचिव व शिक्षाविदों से चर्चा की जाएगी।

शिक्षा बोर्ड शुरू करेगा मुख्यमंत्री हरित विद्यालय अभियान

उन्होंने कहा कि शिक्षा बोर्ड (Education board) ने नकल को रोकने के लिए बड़े पैमाने पर कदम आगे बढ़ाए हैं। नकल की प्रवृत्ति पर काफी हद तक रोक भी लगी है। नकल पर पूरी तरह से अंकुश लगाने के लिए शिक्षा बोर्ड ने करीब चार करोड़ मांगे हैं। इसके तहत डिजीटल प्रोजेक्ट पर काम किया जाएगा।

शिक्षा बोर्ड में बैठे ही परीक्षा केंद्रों पर नजर रखी जा सकेगी। इस पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शिक्षा बोर्ड ने मुख्यमंत्री हरित विद्यालय अभियान छेड़ने का भी निर्णय लिया है। इसकी अभी डेट तय नहीं हुई है। एक दो दिन में तिथि तय कर दी जाएगी। इसके तहत स्कूलों को हरा भरा रखने के लिए पौधारोपण किया जाएगा।

शिक्षा को गुणवत्ता को 5-3-3 और 4 के फार्मूले पर विचार

शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि सरकार शिक्षा की गुणवत्ता (Quality of education) को बढ़ाने के लिए हर प्रयास कर रही है। 5-3-3 और 4 के फार्मूले पर विचार किया जा रहा है। इसमें प्री प्राइमरी की पांच और उसके बाद तीन और उसके बाद तीन फिर चार में कक्षाओं को बांटा जाएगा।

उन्होंने कहा कि हिमाचल के 3391 स्कूलों में पिछले साल से प्री प्राइमरी कक्षाएं शुरू कर दी हैं और साढ़े तीन सौ स्कूलों में इस बार से शुरू की हैं। सरकार का प्रयास है कि अगर स्कूलों में जगह हो तो आंगनबाड़ी और प्री प्राइमरी कक्षाएं एक साथ चलाई जाएं।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

मनालीः पेंट का काम करते सीढ़ी से गिरा मजदूर, अस्पताल में मौत

सैर को निकले बुजुर्ग पर तेंदुए ने किया हमला, टांगों पर लगे टांके

बहला फुसलाकर नाबालिग से बनाए नाजायज संबंध, अश्लील फोटो भी खींची

आयुर्वेदिक डिस्पेंसरी भवन निर्माण को रखा 47 बोरी सीमेंट बना पत्थर

हो जाएं तैयारः हिमाचल में जल्द लागू होगा सेंट्रल मोटर व्हीकल एक्ट

हमीरपुरः वायरल वीडियो लोगों में बना चर्चा, पुलिस मामले की करेगी जांच

सत्ती बोलेः सीआईडी जांच में रायजादा का भी आया नाम, शराब माफिया से हुई बातचीत

डेढ़ साल बाद पकड़ा गया नाबालिग को भगा ले जाने वाला युवक

कांग्रेस बोली, बीजेपी नेताओं पर पत्र में लगे आरोप हमने नहीं लगाए

ठियोग पुलिस ने अफीम के साथ पकड़ा रिकांगपिओ का तस्कर

चंबा महिला मौत मामला : डॉक्टर को कारण बताओ नोटिस

मंडी जिले में भरे जाएंगे नंबरदारों के खाली पद ,तहसीलदारों से मंगवाई रिपोर्ट

धारा 144 के विरोध में सुबाथू छावनी क्षेत्र में व्यापारियों ने बंद रखी दुकानें

INSPIRE, कल्पना चावला छात्रवृत्ति व इंन्दिरा गांधी उत्कृष्ट योजना के लिए ये छात्र हुए सिलेक्ट

टी-20 की टिकटों का पैसा रिफंड करवाने बारिश के बीच स्टेडियम के बाहर उमड़ी भीड़

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है