Covid-19 Update

3497
मामले (हिमाचल)
2278
मरीज ठीक हुए
16
मौत
2,325,026
मामले (भारत)
20,378,854
मामले (दुनिया)

चीन बॉर्डर पर फंसे जवानों का रेस्क्यू ऑपरेशन भारी बर्फबारी की चपेट में

सेना ने फंसे हुए आखिरी जवान के रेस्क्यू तक ऑपरेशन चलाने का किया ऐलान

चीन बॉर्डर पर फंसे जवानों का रेस्क्यू ऑपरेशन भारी बर्फबारी की चपेट में

- Advertisement -

रिकांगपियो। किन्नौर जिले में चीन से लगी भारतीय सीमा में हिमस्खलन में फंसे भारतीय सेना के 5 जवानों की तलाश में भारी बर्फबारी और ग्लेशियर का खिसकना रोड़ा बन गया। गुरुवार तड़के शुरू हुए रेस्क्यू ऑपरेशन को आखिर में रोकना पड़ा। हालांकि, सेना ने कहा है कि फंसे हुए आखिरी जवान को सुरक्षित निकाल लाने तक रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रहेगा।


यह भी पढ़ेंः किन्नौर के नामज्ञा डोगरी में फिर हुआ हिमस्खलन, रेस्क्यू में बाधा

ये जवान बुधवार सुबह से किन्नौर के शिपकी ला बॉर्डर पर फंसे हुए हैं। वे वहां पानी की पाइपलाइन सुधारने गए थे कि हिमस्खलन की चपेट में आ गए। इस हादसे में बिलासपुर के जवान हवलदार राकेश कुमार शहीद हो गए थे। बताया जाता है कि गुरुवार को पूह के पास एक बार फिर ग्लेशियर खिसका है। सेना के सूत्रों ने यह भी बताया कि शिपकी ला गांव में 4 इंच तक बर्फ गिरी है। यह जगह 13000 फुट की ऊंचाई पर है। भारी बर्फबारी के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन में भारी दिक्कत आ रही है। सेना और आईटीबीपी के 150 जवान बचाव कार्य में जुटे हैं।

फंसे हुए जवानों के नाम

फंसे हुए सभी जवान सातवीं जम्मू-कश्मीर राइफल्स के हैं। इनके नाम हैं नायक विदेश चंद, राइफलमैन गोविंद बहादुर छत्री, राइफलमैन राजेश रिषी, राइफलमैन अर्जुन कुमार और राइफलमैन नितिन राणा।

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

















सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है