रोप-वे पर फोकस करेगी सरकार-शिमला, मनाली और धर्मशाला में होगा काम

सीएम के अतिरिक्त प्रधान सचिव संजय कुंडू ने मंडी में दी जानकारी

रोप-वे पर फोकस करेगी सरकार-शिमला, मनाली और धर्मशाला में होगा काम

- Advertisement -

मंडी। हिमाचल सरकार (Himachal Govt) प्रदेश में अब सड़कों के बजाय रोप-वे (Rope-way) निर्माण पर अधिक ध्यान दे रही है। यह जानकारी सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) के अतिरिक्त प्रधान सचिव संजय कुंडू ने मंडी में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान दी। उन्होंने इससे पहले जिला के अधिकारियों के साथ सीएम के गृहक्षेत्र सराज (Saraj) में जारी विकास कार्यों की समीक्षा भी की।


यह भी पढ़ें: लगवैली के भुट्टी में गिरा तीन मंजिला मकान, 6 कमरे हुए धराशायी

संजय कुंडू ने बताया कि विदेशों में रोप-वे (Rope-way) यातायात का बेहतरीन माध्यम साबित हुए हैं और वहां रोजाना लाखों की संख्या में लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। प्रदेश सरकार भी यहां की भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए रोप-वे (Rope-way) निर्माण पर ध्यान दे रही है। सीएम जयराम ठाकुर ने हाल ही में केंद्रीय मंत्रियों से मिलकर रोप-वे (Rope-way) निर्माण के लिए अधिक से अधिक धनराशि प्रदेश को देने का आग्रह किया है।

उन्होंने बताया कि पहले चरण में शिमला (Shimla), मनाली (Manali) और धर्मशाला (Dharamshala) को पूरी तरह से रोप-वे (Rope-way) के साथ जोड़ा जाएगा। इन शहरों के चारों तरफ रोप-वे क्नेक्टिविटी होगी और लोग रोप-वे से ही आ-जा सकेंगे। वाहनों की संख्या कम करने और शहर को ट्रैफिक फ्री बनाने के लिए यह प्रयास किया जाएगा। वहीं ग्रामीण और जनजातीय इलाकों में भी रोप-वे निर्माण पर ध्यान दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: झटिंगरी-फूलाधार मार्ग पर खाई में गिरी कार, गाजियाबाद के युवक की मौत

जहां अधिक पेड़ों का कटान हो और जहां सड़क निर्माण की भौगोलिक परिस्थितियां सही न हों वहां पर रोप-वे निर्माण पर ही ध्यान दिया जाएगा। कुंडू के अनुसार रोप-वे (Rope-way) निर्माण पर अधिक खर्चा आता है और पीपीपी मोड़ में इसका निर्माण संभव नहीं, इसलिए राज्य सरकार केंद्र से इसके लिए अतिरिक्त बजट की मांग कर रही है। वहीं, केंद्र सरकार ने प्रदेश की इस प्रपोजल पर गौर करना शुरू कर दिया है।


वहीं, संजय कुंडू ने सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) के गृह विधानसभा क्षेत्र सराज में जारी विकास कार्यों की भी विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सराज में सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, बागवानी, किसानी और पर्यटन के क्षेत्र में अनेकों विकास कार्य किए जा रहे हैं। बीते एक वर्ष में सराज के प्रति पर्यटकों का काफी रूझान बढ़ा है। गत वर्ष सराज (Saraj) के प्रसिद्ध धार्मिक पर्यटन स्थल शिकारी देवी में 1 लाख 80 हजार पर्यटक आए, जबकि इस साल 2 लाख 80 हजार से अधिक पर्यटक शिकारी देवी के दर्शन कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि इलाके के पर्यटन को नया बल मिल रहा है और इससे लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त हो रहे हैं।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

बहला फुसलाकर नाबालिग से बनाए नाजायज संबंध, अश्लील फोटो भी खींची

आयुर्वेदिक डिस्पेंसरी भवन निर्माण को रखा 47 बोरी सीमेंट बना पत्थर

हो जाएं तैयारः हिमाचल में जल्द लागू होगा सेंट्रल मोटर व्हीकल एक्ट

हमीरपुरः वायरल वीडियो लोगों में बना चर्चा, पुलिस मामले की करेगी जांच

सत्ती बोलेः सीआईडी जांच में रायजादा का भी आया नाम, शराब माफिया से हुई बातचीत

डेढ़ साल बाद पकड़ा गया नाबालिग को भगा ले जाने वाला युवक

कांग्रेस बोली, बीजेपी नेताओं पर पत्र में लगे आरोप हमने नहीं लगाए

ठियोग पुलिस ने अफीम के साथ पकड़ा रिकांगपिओ का तस्कर

चंबा महिला मौत मामला : डॉक्टर को कारण बताओ नोटिस

मंडी जिले में भरे जाएंगे नंबरदारों के खाली पद ,तहसीलदारों से मंगवाई रिपोर्ट

धारा 144 के विरोध में सुबाथू छावनी क्षेत्र में व्यापारियों ने बंद रखी दुकानें

INSPIRE, कल्पना चावला छात्रवृत्ति व इंन्दिरा गांधी उत्कृष्ट योजना के लिए ये छात्र हुए सिलेक्ट

टी-20 की टिकटों का पैसा रिफंड करवाने बारिश के बीच स्टेडियम के बाहर उमड़ी भीड़

शिमला बुक कैफ़े को निजी हाथों में सौंपने के पक्ष में नहीं जयराम सरकार

पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह "पीजीआई" क्यों किए गए रेफर, जाने पूरा मामला

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है