रोप-वे पर फोकस करेगी सरकार-शिमला, मनाली और धर्मशाला में होगा काम

सीएम के अतिरिक्त प्रधान सचिव संजय कुंडू ने मंडी में दी जानकारी

रोप-वे पर फोकस करेगी सरकार-शिमला, मनाली और धर्मशाला में होगा काम

- Advertisement -

मंडी। हिमाचल सरकार (Himachal Govt) प्रदेश में अब सड़कों के बजाय रोप-वे (Rope-way) निर्माण पर अधिक ध्यान दे रही है। यह जानकारी सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) के अतिरिक्त प्रधान सचिव संजय कुंडू ने मंडी में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान दी। उन्होंने इससे पहले जिला के अधिकारियों के साथ सीएम के गृहक्षेत्र सराज (Saraj) में जारी विकास कार्यों की समीक्षा भी की।


यह भी पढ़ें: लगवैली के भुट्टी में गिरा तीन मंजिला मकान, 6 कमरे हुए धराशायी

संजय कुंडू ने बताया कि विदेशों में रोप-वे (Rope-way) यातायात का बेहतरीन माध्यम साबित हुए हैं और वहां रोजाना लाखों की संख्या में लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। प्रदेश सरकार भी यहां की भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए रोप-वे (Rope-way) निर्माण पर ध्यान दे रही है। सीएम जयराम ठाकुर ने हाल ही में केंद्रीय मंत्रियों से मिलकर रोप-वे (Rope-way) निर्माण के लिए अधिक से अधिक धनराशि प्रदेश को देने का आग्रह किया है।

उन्होंने बताया कि पहले चरण में शिमला (Shimla), मनाली (Manali) और धर्मशाला (Dharamshala) को पूरी तरह से रोप-वे (Rope-way) के साथ जोड़ा जाएगा। इन शहरों के चारों तरफ रोप-वे क्नेक्टिविटी होगी और लोग रोप-वे से ही आ-जा सकेंगे। वाहनों की संख्या कम करने और शहर को ट्रैफिक फ्री बनाने के लिए यह प्रयास किया जाएगा। वहीं ग्रामीण और जनजातीय इलाकों में भी रोप-वे निर्माण पर ध्यान दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: झटिंगरी-फूलाधार मार्ग पर खाई में गिरी कार, गाजियाबाद के युवक की मौत

जहां अधिक पेड़ों का कटान हो और जहां सड़क निर्माण की भौगोलिक परिस्थितियां सही न हों वहां पर रोप-वे निर्माण पर ही ध्यान दिया जाएगा। कुंडू के अनुसार रोप-वे (Rope-way) निर्माण पर अधिक खर्चा आता है और पीपीपी मोड़ में इसका निर्माण संभव नहीं, इसलिए राज्य सरकार केंद्र से इसके लिए अतिरिक्त बजट की मांग कर रही है। वहीं, केंद्र सरकार ने प्रदेश की इस प्रपोजल पर गौर करना शुरू कर दिया है।


वहीं, संजय कुंडू ने सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) के गृह विधानसभा क्षेत्र सराज में जारी विकास कार्यों की भी विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सराज में सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, बागवानी, किसानी और पर्यटन के क्षेत्र में अनेकों विकास कार्य किए जा रहे हैं। बीते एक वर्ष में सराज के प्रति पर्यटकों का काफी रूझान बढ़ा है। गत वर्ष सराज (Saraj) के प्रसिद्ध धार्मिक पर्यटन स्थल शिकारी देवी में 1 लाख 80 हजार पर्यटक आए, जबकि इस साल 2 लाख 80 हजार से अधिक पर्यटक शिकारी देवी के दर्शन कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि इलाके के पर्यटन को नया बल मिल रहा है और इससे लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त हो रहे हैं।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

गडकरी से मिले जयराम, रज्जू मार्ग परियोजनाओं के लिए मांगें 500 करोड़

मंडीः नशे में टल्ली महिला ने मचाया हुड़दंग, बुलानी पड़ी पुलिस

Important: हिमाचल भवन में चल रही संघ की बैठक खत्म, निकले नड्डा-जयराम भी गए 'सदन'

रविंद्र रवि के खिलाफ फोरेंसिक रिपोर्ट के बाद अब BJP-In-Action

वायरल पत्र मामलाः परमार बोले-जयराम सरकार के खिलाफ था बड़ा षड्यंत्र

संभलकरः इस जिला में ब्रांडेड कंपनी के दूध में पाया गया यूरिया

In Depth: जयराम के दिल्ली दौरे की मिल गई असल वजह, फिलवक्त बिंदल से हो रही है गुफ्तगू

बिना SPG रॉबर्ट संग शिमला से वापस लौटीं प्रियंका, संसद में मचा है सुरक्षा हटने पर बवाल

HP पटवारी परीक्षा: जारी हुई उत्तर कुंजी, जानें कितने सवालों का दिया है सही उत्तर

सियाचिन में हिमस्खलन की चपेट में आकर हिमाचल का जवान शहीद

सत्ती बोले, राठौर के अध्यक्ष बनने के बाद से हुई कांग्रेस की दुर्गति

इंदिरा गांधी की 102वीं जयंती : रिज पर सीएम जयराम ने आयरन लेडी को किया याद

इंदिरा गांधी की 102वीं जयंती पर पीएम मोदी, सोनिया गांधी व अन्य ने दी श्रद्धांजलि

ब्रेकिंग: सियाचिन में हिमस्खलन, चार सैनिक और दो नागरिकों की मौत

बिग ब्रेकिंगः Ravinder Ravi के कहने पर ही मसंद ने वायरल की थी पोस्ट, रिपोर्ट में खुलासा

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है