शिवरात्रि महोत्सव : मंडी शहर को सुरक्षा कवच दे गए देव आदि ब्रह्मा

अंतिम दिनशहर की परिक्रमा के दौरान फेंका गया आटा

शिवरात्रि महोत्सव : मंडी शहर को सुरक्षा कवच दे गए देव आदि ब्रह्मा

- Advertisement -

वी कुमार/मंडी। देव आदि ब्रह्मा (Dev Aadi Brahma) मंडी शहर को सुरक्षा कवच दे गए। अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव (International Shivratri Festival) के समापन से पहले देव आदि ब्रह्मा ने पूरे शहर की परिक्रमा की और शहर को सुरक्षा कवच प्रदान किया। अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव में शामिल होने के लिए आने वाले देवी-देवताओं में से एक देवता ऐसे भी हैं जो हर वर्ष शिवरात्रि महोत्सव के समापन पर मंडी शहर को सुरक्षा कवच देकर जाते हैं। यह हैं देव आदि ब्रह्मा।

यह भी पढ़ेंः सी-विजिल एप से नहीं कर सकेंगे कोई भी फर्जी शिकायत

देव आदि ब्रह्मा का मूल स्थान मंडी जिला के इलाका उत्तरशाल के टिहरी गांव में है। देवता के कारदार झाबे राम बताते हैं कि वर्षों पूर्व जब राजाओं के शासनकाल में मंडी शहर (Mandi city) पर बुरी आत्माओं का प्रभाव बढ़ने लगा और लोगों को कई प्रकार की बीमारियां घेरने लगी। ऐसे में राजा ने अपनी रियासत के सभी देवी-देवताओं से इसका उपाय करने की गुहार लगाई। अधिकतर ने इनकार कर दिया लेकिन देव आदि ब्रह्मा ने इस कार्य को करने की हामी भरी। देव आदि ब्रह्मा ने उस वक्त पूरे मंडी शहर की परिक्रमा की और शहर को बुरी शक्तियों तथा बीमारियों से मुक्ति दिलाई। तब से लेकर आज तक यह परंपरा इसी प्रकार से निभाई जाती है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

शिवरात्रि महोत्सव के समापन से पहले देव आदि ब्रह्मा के रथ को पूरे शहर में घुमाया जाता है। जब देवता का रथ परिक्रमा के लिए निकलता है तो अभिमंत्रित किया हुआ आटा हवा में फेंका जाता है। मान्यता है कि इससे बुरी शक्तियों (Bad powers) का नाश होता है। इस देव परिक्रमा में हजारों की संख्या में लोग भाग लेते हैं। देव आदि ब्रह्मा के कारदार झाबे राम के अनुसार देवता की यह परिक्रमा सिर्फ दो ही स्थानों पर होती है जिसमें एक मंडी शहर और दूसरा स्थान पराशर है। देव आदि ब्रह्मा मंडी शहर को सुरक्षा कवच देने के बाद अपने मूल स्थान के लिए रवाना हो जाते हैं। लोगों की आस्था ही है कि वह देवता की इस परिक्रमा में भाग लेकर खुद को अपने शहर को सुरक्षित (Safe) रखने की कामना करते हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है