Covid-19 Update

3497
मामले (हिमाचल)
2278
मरीज ठीक हुए
16
मौत
2,325,026
मामले (भारत)
20,378,854
मामले (दुनिया)

कुलदीप बोले: बोर्ड प्रबंधन के मिसमैनेजमेंट से घाटे में जा रहा बिजली बोर्ड

मंडी में संपन्न हुआ बिजली बोर्ड के कर्मचारियों का जिला स्तरीय सम्मेलन

कुलदीप बोले: बोर्ड प्रबंधन के मिसमैनेजमेंट से घाटे में जा रहा बिजली बोर्ड

- Advertisement -

मंडी। प्रदेश में बिजली बोर्ड (Electricity board) के घाटे में जाने का मुख्य कारण बोर्ड प्रबंधन के मिस मैनेजमेंट (mismanagement)है, जिसके चलते आज बिजली बोर्ड में होने वाले अधिकतर कार्यों को निजी कंपनियों को सौंपा जा रहा है। यह बात हिमाचल प्रदेश बिजली बोर्ड यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह खरबाड़ा ने मंडी (Mandi) में संपन्न हुए बोर्ड के सम्मेलन के दौरान कही।


यह भी पढ़ें: मानसून सत्रः अवैध खनन से किसी को भी रातोंरात करोड़पति नहीं बनने देगी सरकार

उन्होंने बोर्ड प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रबंधन की लचर कार्यप्रणाली के चलते आज सभी कार्य कर्मचारियों से न करवाकर महंगे दाम देकर निजी कंपनियों के द्वारा करवाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि हाल ही में प्रदेश में 25 हजार से अधिक मीटर बदलने का टेंडर (Tender) जम्मू की एक कंपनी को दिया गया है।

जिसमें 982 रुपये प्रति मीटर की दर से मीटर बदलने का रेट रखा गया। जबकि मीटर का रेट ही 986 रुपए का है। अब कंपनी 50 से 100 रुपए देकर नौजवानों से मीटर बदलवाने का काम करवा रही है। खरबाड़ा ने बताया कि बिजली बोर्ड के कर्मचारियों ने 18 लाख मीटर बदले हैं। 4 लाख मीटर बदलने को थे लेकिन अब इसे ठेकेदारों के माध्यम से बदलवाया जा रहा है। इस कार्य पर अब 2.50 करोड़ खर्च किया जा रहा है जबकि लागत 25 लाख है।

प्रदेश अध्यक्ष ने सरकार से इस प्रक्रिया को बंद करने का आहवान किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 2600 का सीमेंट का एक पोल 8 हजार में खरीदा जा रहा है। 11 रुपए मीटर वाली तार को 53 रुपए में दिया जा रहा है व 15 रुपए मीटर वाली तार के 177 रुपए दिए जा रहे हैं। उन्होने सीएम जयराम ठाकुर से आग्रह किया है कि वे बिजली बोर्ड के इस प्रकार के कार्य की जांच करें। इसके साथ ही उन्होने बिजली बोर्ड में रिक्त पड़े 7 हजार के लगभग पदों को जल्द भरने की मांग भी उठाई है। यूनियन ने प्रदेश में आउटसोर्स भर्तियों पर प्रतिबंध लगाने और न्यू पेंशन स्कीम को भी बंद करने का आहवान किया है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

















सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है