Covid-19 Update

36,659
मामले (हिमाचल)
28,754
मरीज ठीक हुए
579
मौत
9,266,697
मामले (भारत)
60,719,949
मामले (दुनिया)

एनएटीएम तकनीक से बनेंगी पंडोह से औट के बीच की 10 टनलें

एनएटीएम तकनीक से बनेंगी पंडोह से औट के बीच की 10 टनलें

- Advertisement -

मंडी। कीरतपुर से मनाली तक बन रहे फोरलेन का एक बहुत बड़ा भाग टनलों से होकर गुजरेगा। ऐसे में इन टनलों से गुजरते वक्त यात्रियों को कोई परेशानी न हो और उन्हें यहां से गुजरने का सुखद अनुभव मिले, इसलिए टनलों में अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। इन टनलों का निर्माण एनएटीएम यानी “न्यू ऑस्ट्रियन टनलिंग मैथोड” से किया जा रहा है। रोहतांग टनल में भी इसी तकनीक का इस्तेमाल किया गया है।
कीरतपुर-मनाली फोरलेन की मंडी जिला में बात करें तो यहां पर पंडोह से लेकर औट तक दस टनलों का निर्माण होगा। इन टनलों के निर्माण में अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। औट के पास पहले से ही एक टनल मौजूद है और इस टनल को में भी आधुनिक सुविधाएं मुहैया करवाने की योजना बनाई जा रही है। यहां बन रही दस टनलों की चौड़ाई 12.5 मीटर होगी और इनमें हवा व रोशनी से लेकर गाड़ियों को खड़ा करने की व्यवस्था भी होगी।
टनल में किसी को भी घुटन महसूस न हो इसके लिए पूरे बंदोबस्त किए जाएंगे। दस टनलों में औट के पास सबसे लंबी टनल बनेगी, जिसकी लंबाई 2.9 किलोमीटर होगी, जबकि हणोगी के पास सबसे छोटी टनल बनेगी, जिसकी लंबाई 600 मीटर होगी। इस कार्य को पूरा करने के लिए एनएचएआई ने एफकॉन कंपनी को कार्य सौंपा है और यह कार्य 42 महीनों में पूरा करने का लक्ष्य भी निर्धारित किया है। एफकॉन कंपनी के प्रोजैक्ट मैनेजर आरके सिंह ने बताया कि टनलों में एनएटीएम तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है और निर्माण के शुरूआत में ही सभी बातों को ध्यान में रखकर कार्य आगे बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 36 महीनों में सिविल वर्क को पूरा करना है, जबकि 42 महीनों में टनलों का कार्य कंपलीट करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है