Covid-19 Update

36,566
मामले (हिमाचल)
28,080
मरीज ठीक हुए
575
मौत
9,266,697
मामले (भारत)
60,719,949
मामले (दुनिया)

मानसून सत्र : पी चिदंबरम की गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने किया वॉकआउट

मानसून सत्र : पी चिदंबरम की गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने किया वॉकआउट

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के मानसून सत्र (Monsoon session) के चौथे दिन आज प्रश्नकाल के बाद कांग्रेस ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chindambaram) की गिरफ्तारी पर वॉकआउट किया। प्रश्नकाल खत्म होते ही नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने प्वाइंट ऑफ आर्डर के तहत पूर्व मंत्री चिदंबरम की गिरफ्तारी का मुद्दा उठाया। उनका कहना था कि लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। केंद्र सरकार तानाशाह की तरह काम कर रही है।

यह भी पढ़ें :-ई-विधान की जानकारी लेने शिमला पहुंचे उड़ीसा के विधायक


इस पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल ने कहा कि इस मामले को लेकर विपक्ष की तरफ से किसी तरह का नोटिस प्राप्त नहीं हुआ है इसलिए इस पर कोई बात नहीं होगी। इस पर विपक्ष भड़क गया और पीएम मोदी व अमित शाह के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। थोड़ी देर बाद इसी को लेकर विपक्ष ने सदन से वाकआउट (walkout) कर दिया।।


नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि पी चिदंबरम को आधी रात को गिरफ्तार (Arrest) कर देश में लोकतंत्र की हत्या की गई। जब उनकी जमानत का मामला कोर्ट में है ऐसी क्या जरूरत आ गई थी कि आधी रात को उन्हें गिरफ्तार किया गया। इतने दिनों से वह जांच में सहयोग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को निशाना बनाया जा रहा है।

जयराम बोले, विपक्ष का वॉकआउट निंदनीय

सीएम जयराम ठाकुर ने विपक्ष के वाकआउट की निंदा करते हुए कहा कि यह मामला कोर्ट से जुड़ा है। उन्होंने कहा कि यह मामला गंभीर है, लेकिन केंद्र सरकार से जुड़ा नहीं है। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत रद्द होने के बाद ही पी. चिदंबरम की गिरफ्तारी हुई है। उन्होंने कहा कि सीबीआई और ईडी ने उन्हें सामने आने को कहा था, लेकिन वे नहीं आए। उन्होंने हाईकोर्ट की इस मामले में की गई टिप्पणी का भी जिक्र किया और कहा कि जो कोर्ट के आदेश में चिदंबरम को किंग पिन बताया गया है और अहम साजिशकर्ता बताया गया है। उन्होंने कहा कि यह आर्थिक अपराध है और इसकी जांच में वे सहयोग नहीं कर रहे थे। सीएम ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार की भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने की प्रतिबद्धता है और इसे जड़मूल से उखाड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि यह मामला 305 करोड़ रूपए का है और मामले को केंद्र सरकार से जोड़ना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि मामला कोर्ट का है और इसमें शोर करने से कुछ होने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि विपक्ष ने जो वाकआउट किया है वह राजनीतिक था और यह न्यायपालिका पर भी टिप्पणी है। उन्होंने इस वाकआउट को निंदनीय करार दिया।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है