बजट सत्रः आर्मी ट्रेनिंग कमांड को शिफ्ट करने पर विपक्ष खफा

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्रिहोत्री ने नियम 62 के तहत सदन में उठाया मामला

बजट सत्रः आर्मी ट्रेनिंग कमांड को शिफ्ट करने पर विपक्ष खफा

- Advertisement -

लेखराज धरटा/शिमला। हिमाचल से आर्मी ट्रेनिंग कमांड को शिफ्ट करने और SJVNL का NTPC में विलय किए जाने को लेकर विपक्ष खफा हो गया। प्रश्नकाल के बाद सदन में बड़े संस्थानों को शिफ्ट व विलय करने का मुद्दा जोर शोर से उठा। नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने नियम 62 के तहत इस मामले को सदन में उठाया और चर्चा की मांग की। मुकेश अग्निहोत्री ने सदन के ध्यान में लाया कि प्रदेश में सामरिक और ऐतिहासिक दृष्टि से स्थापित आर्मी ट्रेनिंग कमांड (आरट्रेक) को शिमला से हटाकर अंबाला शिफ्ट किया जा रहा है। मुकेश ने कहा कि शिमला में आर्मी ट्रेनिंग कमांड यहां की सुरक्षा और सामरिक महत्व के हिसाब से स्थापित की गई है, जिसे यहां से स्थानांतरित करना किसी भी लिहाज से उचित नहीं है। सरकार को इस दिशा में केंद्र से मामला उठाना चाहिए।


यह भी पढ़ेंः बजट चर्चाः सीएम के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने फिर किया वॉकआउट

नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने प्रदेश में सबसे बड़ी बिजली परिजोना SJVNL का NTPC में विलय किए जाने के केंद्र सरकार के प्रस्ताव को हिमाचल के हितों के खिलाफ बताया और इस रोक लगाने की मांग की। मुकेश ने आरोप लगाया कि केंद्र हिमाचल के हितों को अनदेखी कर प्रदेश की ऐतिहासिक और सामरिक महत्व की परियोजनाओं को मनमाने तरीके से हिमाचल से छीनने का प्रयास कर रहा है। सरकार को इस दिशा में केंद्र से इन मसलों को उठाना चाहिए और हिमाचल के हितों की रक्षा करनी चाहिए।

केंद्र सरकार के समक्ष उठाए जाएंगे मामलेः जयराम

मुकेश द्वारा उठाए मसले का जवाब देते हुए सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि उनके ध्यान में ये दोनों मसले आए हैं और इन्हें लेकर सरकार संवेदनशील है और दोनों विषयों को केंद्र सरकार और मंत्रालयों से उठा कर हिमाचल के हितों की पैरवी करेगी। सीएम ने कहा कि एसजेवीएनएल का मामला पहले से ही सरकार और मंत्रालय से उठाया जा रहा है। पीएम मोदी से भी इस संबध में चर्चा की गई है। सरकार दोनो ही विषयों पर गंभीरता से संबंधित मंत्रालय से उठाएगी और किसी भी कीमत पर इन संस्थानों को हिमाचल से बाहर नहीं जाने देने के लिए हर सभवः प्रयास करेगी।

पूर्व विधायक केडी धर्मांणी को सदन में श्रद्धांजलि दी

हिमाचल प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र ( Budget session of Himachal Pradesh vidhan sabha) के 10वें दिन की कार्यवाही शुरू होते ही सदन में पूर्व विधायक केडी धर्मांणी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। सीएम जयराम ठाकुर ( CM Jai Ram Thakur) ने शोकोदगार पर कहा कि 67 साल के धर्माणी बीती शाम बाज़ार घूमने आए हुए थे कि अचानक दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हो गई। 24 जनवरी 1951 को जन्में धर्माणी दो बार हिमाचल विधानसभा में सदस्य रहे। उनके निधन पर मुख्यमंत्री ने शोक व्यक्त किया ओर उनके जीवनवृत पर प्रकाश डाला।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

अनुराग की सोनिया-मनमोहन पर चुटकीः बोले, भ्रष्टाचारी तिहाड़ के रास्ते के जानकार

सड़क किनारे लंगर लगाने पर रोक,डीजे सिस्टम, आतिशबाजी और रेहड़ी को भी हो गई "नो"

गुस्साए रेहड़ी-फड़ी धारक पहुंचे डीसी ऑफिस के गेट पर, जमकर की नारेबाजी

Video : भोरंज में "थर्ड डिग्री" से पिटाई का लाइव वीडियो वायरल, पुलिस कर रही छानबीन

पुलिस ने चंडीगढ़ से धरा शिमला सेक्स रैकेट का सरगना

हिमाचल की सीनियर बॉक्सिंग टीम भूटान रवाना, 24-25 को होगी प्रतियोगिता

बंद हुई दुनिया की सबसे पुरानी ट्रेवल कंपनी, खतरे में 22 हजार नौकरियां

Breaking: कांग्रेस गुरुवार को खोल देगी धर्मशाला-पच्छाद में अपने पत्ते, आज होगी "ये डवेलपमेंट"

अमेरिका में हाउडी मोदी के बाद अब पीएम मोदी का मिशन न्यूयॉर्क, ये है कार्यक्रम

चिदंबरम से मिलने तिहाड़ जेल पहुंचे सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह

धर्मशालाः नया वन-वे ट्रैफिक प्लान लागू, खनियारा से इस मार्ग से होगा आना

हिमाचल में बारिश और हिमपात ने बढ़ाई ठंडक, जाने कब तक खराब रहेगा मौसम

धर्मशाला उपचुनावः टिकट के तलबगारों की बढ़ी धुकधुकी, लंबी है फेहरिस्त

पच्छाद से उठी आवाज, गंगूराम मुसाफिर ही इस बार-बैठक कर जताई सहमति

9 मजदूरों को लेकर शिंकुला दर्रा पार कर मनाली पहुंची टेंपो ट्रैवलर

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है