Covid-19 Update

3463
मामले (हिमाचल)
2209
मरीज ठीक हुए
15
मौत
2,257,572
मामले (भारत)
20,121,222
मामले (दुनिया)

चंबा सीमेंट प्लांट पर तपा सदन : सरकार के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष का हंगामा

नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने पूछा था सवाल

चंबा सीमेंट प्लांट पर तपा सदन : सरकार के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष का हंगामा

- Advertisement -

लेखराज धरटा/शिमला। बजट सत्र के तीसरे दिन आज चंबा सीमेंट प्लांट पर सीएम के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने हंगामा किया वह अंदर नारेबाजी शुरू कर दी। इसी बीच विधानसभा अध्यक्ष ने प्रश्नकाल समाप्ति की घोषणा कर दी और विपक्ष सदन में शांत बैठ गया। नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने चंबा सीमेंट प्लांट का मामला उठाते हुए उद्योग मंत्री से पूछा था कि चंबा में प्रस्तावित सीमेंट प्लांट को स्थापित करने के लिए सरकार ने कितनी बार निविदाएं आमंत्रित की हैं। इस प्लांट के लिए कितनी कंपनियों ने आवेदन किया और प्लांट को स्थापित करने के लिए सरकार ने कोई परिवर्तन किया है। अग्निहोत्री ने पूछा कि उद्योग मंत्री ऐसा क्यों कहते रहे कि अक्टूबर माह में प्लांट का शिलान्यास किया जाएगा, साथ में 26 किलोमीटर सड़क बनाने की हामी क्यों भरी।


हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें… 

सवाल के जवाब में उद्योग मंत्री विक्रम ठाकुर ने बताया कि चंबा में प्रस्तावित सीमेंट प्लांट को स्थापित करने हेतु सरकार ने 21-8-18 व 1-12-2018 को दो बार निविदाएं आमंत्रित की गईं। विभाग द्वारा खनन पट्टे की प्रथम नीलामी में किसी भी कंपनी ने आवेदन नहीं किया। इसमें तीसरी बार फिर से टेंडर आमंत्रित किए थे लेकिन किसी भी कंपनी द्वारा टेंडर नहीं भरा। विक्रम ठाकुर ने बताया कि टेंडर होने की सूरत में उन्होंने कहा था कि इसका शिलान्यास किया जाएगा। इसमें कोई राजनीतिक मंशा नहीं थी। रही सड़क की बात तो ये प्लांट को लगाने के लिए निवेशक आए इस लिहाज़ से की थी।

डलहौज़ी की विधायक आशा कुमारी ने पूछा कि क्या विभाग ने इस प्लांट के टेंडर से पहले उस जगह का सर्वे किया। क्योंकि जिस जगह प्लांट लगना है उसके आसपास रिज़र्व फोरेस्ट है वहां कभी प्लांट लग नहीं सकता फिर सरकार वहां सड़क क्यों बनाई जा रही है। नादौन से विधायक सुखविंदर सिंह सुक्खू ने इस सवाल को आगे बढ़ाते हुए पूछा कि पहले ही हिमाचल में जो सीमेंट प्लांट लगे हैं, उनसे हिमाचल को क्या लाभ हो रहा है। सीमेंट हिमाचल में महंगा मिल रहा है। स्वास्थ्य हिमाचल के लोगों का खराब हो रहा है। इस बीच सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार को अभी एक साल हुआ है। सरकार की मंशा चंबा के क्षेत्र को विकास की राह पर ले जाने की है। सीमेंट प्लांट ही ऐसा कारखाना है। जो बेरोजगारी दूर कर सकता है। इसपर विपक्ष को क्या एतराज़ हैं। इस जबाब से असंतुष्ठ विपक्ष ने सदन में हंगामा शुरू कर दिया और सदन के अंदर नारेबाज़ी शुरू कर दी।

नहीं खर्च हो पाया अनुसूचित जाति उपयोजना का धन

चिन्तपूर्णी के विधायक बलबीर सिंह ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री से पूछा कि प्रदेश में अनुसूचित जाति उपयोजना के विकास कार्यों की धनराशि को कम खर्च किया जा रहा है और इस धन को अन्य मदों में स्थानांतरित किया जा रहा है। ये राशि इसी मद में खर्च को इस के लिए सरकार क्या कदम उठा रही है। जवाब में सामाजिक न्याय मंत्री राजीव सहजल ने बताया कि किन्ही कारणों से अनुसूचित जाति उपयोजना का धन खर्च नहीं किया जा सका। इस मद का धन किसी अन्य जगह में खर्च करने का प्रावधान नहीं है। इस मद की योजनाओं की धनराशि इसी मद में व्यय के लिए राज्य व जिला स्तरीय समीक्षा एवं मूल्यांकन समितियों का गठन किया गया है।

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

















सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है