Covid-19 Update

13110
मामले (हिमाचल)
9173
मरीज ठीक हुए
141
मौत
5,700,508
मामले (भारत)
31,935,983
मामले (दुनिया)

BPL हूं : घर के बाहर नहीं लगने दूंगा पट्टिका

BPL हूं : घर के बाहर नहीं लगने दूंगा पट्टिका

- Advertisement -

गफूर खान/धर्मशाला। बीपीएल सूची में धांधली होने और पात्रों के स्थान पर अपात्र परिवारों के चयन की शिकायतों से निपटने के लिए, प्रदेश सरकार ने बीपीएल सूची में शामिल परिवारों के घरों के बाहर बीपीएल पट्टिका लगाने का निर्णय लिया था।सरकार के इस निर्णय के बाद प्रदेशभर में सैकड़ों अपात्र लोग जो साधन सम्पन्न होने के बावजूद इस श्रेणी का लाभ ले रहे थे, इस सूची से बाहर भी हुए हैं। 


  • कहा, गरीब हूं तो क्या सम्मान से जीने का अधिकार नहीं
  • प्रशासन के पट्टिका लगाने के कई प्रयास रहे बेनतीजा

बीपीएल सूची में शामिल अधिकतर परिवारों के मकानों के बाहर बीपीएल पट्टिकाएं लगाई भी जा चुकी हैं, लेकिन पूरे प्रदेश में एक परिवार ऐसा भी है जो कि बीपीएल सूची में तो है, पर अपने मकान के बाहर बीपीएल पट्टिका लगवाने से इंकार कर रहा है। यह मामला जिला कांगड़ा के विकास खंड कांगड़ा में सामने आया है।

प्रशासन ने उस मकान के बाहर कई बार यह पट्टिका लगाने का प्रयास भी किया, लेकिन हर बार विरोध का सामना करना पड़ा और नतीजतन प्रशासन के अब तक के सभी प्रयास बेनतीजा ही रहे। अपनी तरह के इस मामले के बाद प्रशासन भी पशोपेश में है। इस बारे में जब हिमाचल अभी अभी ने उक्त परिवार के मुखिया से संपर्क किया तो परिवार के मुखिया का कहना था कि गरीब हूं तो क्या हुआ, लेकिन सम्मान के साथ जीने का हक उन्हें भी है। यह हक देश के संविधान ने उन्हें दिया है और उसी हक के तहत वह अपने घर के बाहर यह पट्टिका नहीं लगवाने दे रहे हैं। उनका तर्क है कि पट्टिकाएं लगाने से गरीबों की पहचान करना उनकी गरीबी का मजाक उड़ाने जैसा है। सरकार ने बीपीएल परिवारों की पहचान करने की जो प्रक्रिया अपनाई है वह भी कारगर नहीं है। साधन संपन्न लोगों ने अपनी गौशालाओं के बाहर यह पट्टिकाएं लगवाकर सरकार को गुमराह करने का काम किया है। ऐसे लोगों का यह कदम सरकार की इस योजना की प्रासंगिकता को आईना दिखाने के लिए काफी है। सरकार की नाक के नीचे हेराफेरी करने वाले लोग गौशालाओं और अपने पुराने मकानों के बाहर यह पट्टिका लगवाकर गरीबों का ही मजाक उड़ा रहे हैं। इस परिवार के मुखिया का कहना है कि सरकार बीपीएल पट्टिकाओं के नाम पर गरीबों की भावनाओं को आहत करने का काम कर रही है।

उनका कहना है कि सरकार संगीन अपराधों में शामिल लोगों के घरों के बाहर भी उनके अपराधों और उनको मिली सजा आदि की पट्टिका लगाये तो इससे सुरक्षित समाज को बनाने में बहुत लाभ होगा। समाज में सिर्फ गरीब वर्ग को ही क्यों निशाने पर रखा जाता है, यह उनकी समझ से परे है। यदि सरकार ने अपने इस निर्णय पर गौर नहीं किया तो वह मानवाधिकार आयोग और जरूरत पड़ी तो अदालत का दरवाजा भी खटखटाएंगे। इस बारे में डीसी कांगड़ा सीपी वर्मा का कहना है कि सरकार ने बीपीएल सूची में चयन की प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए यह पट्टिकाएं लगाने का यह निर्णय लिया था। यह किसी की भावनाओं को आहत करने के लिए नहीं किया गया है। जो लोग सही मायने में बीपीएल में हैं उन्हें इस श्रेणी की सुविधाएं प्रदान की जा सकें इसलिए यह योजना चलाई गई हैं। किसी का उपहास उड़ाना या आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाने के लिए यह कदम कतई नहीं उठाया गया है। अगर किसी को कोई शिकायत है तो उनके साथ कर सकता है लेकिन जिस योजना का लाभ कोई ले रहा है तो उसकी पट्टिका लगवाने में किसी को कोई शर्म नहीं होनी चाहिए। बीपीएल पट्टिका लगाने से पात्र लोगों का चयन आसानी से हो सकेगा और इस श्रेणी को मिलने वाली सुविधाएं अधिक से अधिक पात्र लोगों को मिल सकें यही सरकार का प्रयास है।

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Agricultural Bill-निजीकरण के खिलाफ भीम आर्मी और आजाद समाज पार्टी ने खोला मोर्चा

300 में से मात्र 100 को ही मिल पाए Driving Test Tokens,सोशल डिस्टेंसिंग की भी उड़ी धज्जियां

#HRTC_Bus की चपेट में आया वन विभाग का अधिकारी, IGMC में गई जान

IIT Mandi के पूर्व निदेशक को दी गई उपाधि पर उठे सवाल, पढ़ें क्या है सारा माजरा

बीच बाजार खड़ी कार के टायर में लिपटा अजगर, #Video में देखिए कैसे निकाला बाहर

#Corona_Update: कई दिनों बाद 300 से कम केस आए, आज 5 की मौत; कुल मामले 13 हजार पार

Baddi में टैंक की सफाई में जुटे एक मजदूर की Death, दो की हालत गंभीर

खुशखबरी: HPSSC में 1661 पदों पर निकली वैकेंसी, 12वीं पास के लिए भी है मौका; पढ़ें पूरा ब्योरा

पालमपुर के सुलाह में बनेगा Pharmacy College और संयुक्त कार्यालय परिसर

Mandi में सिर्फ 0.1 प्रतिशत लोग ही Corona संक्रमित, नहीं हुआ Community spread

Language Teacher की बैच वाइज भर्ती के लिए इस दिन होगी Counseling, साथ लाएं जरूरी कागज

Agricultural Bill के खिलाफ Himachal Congress भी उतरेगी सड़कों पर

Car से टकराकर Truck के नीचे आया बाइक सवार, मौके पर मौत, साथ बैठा बच्चा बाल-बाल बचा

Kullu Police ने हेरोइन के साथ पकड़े Haryana के दो लोग

#Corona_Virus को मार देगा ये डिवाइस ! जापान में खास यूवी लैंप लॉन्च

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

#HPBose: SOS मैट्रिक व जमा दो कक्षाओं की प्रैक्टिकल परीक्षा की डेटशीट जारी

तकनीकी विवि में द्वितीय, चतुर्थ और छठे समेस्टर के छात्रों को किया जाएगा Promote

शिक्षकों-गैर शिक्षकों को स्कूल बुलाने के लिए Notification जारी, विभाग ने ये दिए निर्देश

#HPBose: बोर्ड की अनुपूरक परीक्षाओं से संबंधित जानकारी के लिए घुमाएं ये नंबर

D.El.Ed. CET -2020 की स्पोर्टस कोटे की काउंसिलिंग अब 17 को डाइट में होगी

#HPBose: बोर्ड ने D.El.Ed.CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग की तिथि की तय

#HPBose: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट- जानिए

Himachal के सरकारी स्कूलों में नौवीं से 12वीं के #OnlineExam आज से शुरू

#HPBose: D.El.Ed. CET स्पोर्ट्स कैटेगरी की काउंसलिंग स्थगित- जाने कारण

#HPBose_ Dharamshala: बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट, वेबसाइट में देखें

बड़ी खबर: हिमाचल में सितंबर के बाद स्कूल खुलने के संकेत; छात्रों के #Syllabus को लेकर भी बड़ा फैसला

Himachal: तकनीकी शिक्षा बोर्ड विद्यार्थियों को अगली कक्षा में करेगा प्रमोट, इनकी होंगी परीक्षाएं

मार्च की 10वीं और 12वीं SOS की Practical परीक्षा में Absent छात्रों को विशेष अवसर

#HPBose: D.El.Ed. CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग की तिथियां घोषित

#HPBose: बड़ा फैसला- SOS के तहत जमा दो मेडिकल व नॉन मेडिकल की हो सकेगी पढ़ाई



×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है