ब्रेकिंगः आशा वर्कर को इनसेंटिव न मिलने के मामले पर विचार करेगी सरकार

ब्रेकिंगः आशा वर्कर को इनसेंटिव न मिलने के मामले पर विचार करेगी सरकार

- Advertisement -

ऊना। हरोली विधानसभा क्षेत्र के दुलैहड़ में आयोजित जनमंच (Jan Manch) के दौरान जिला ऊना (Una) की आशा वर्कर्स यूनियन का एक प्रतिनिधिमंडल स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार (Health and Family Welfare Minister Vipin Singh Parmar) से मिला। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार के समक्ष इनसेंटिव का मुद्दा उठाया। कहा किआशा वर्कर्स को मिलने वाला इनसेंटिव (Incentive) काट लिया गया है और उन्हें उनका हक मिलना चाहिए।



यह भी पढ़ें: सड़क किनारे चल रहे राहगीर को कार ने मारी टक्कर, पीजीआई ले जाते मौत

 

आशा वर्कर्स यूनियन अंब ब्लॉक की प्रधान रीटा देवी ने कहा कि आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर काम करती हैं और उन्हें मानदेय भी कम मिलता है। सिर्फ 1200 रुपए से घर का गुजारा नहीं चलता। ऐसे में उन्हें कम से कम 18 हजार रुपए वेतन दिया जाए। साथ ही दुर्घटना बीमा करने की भी मांग की। इस पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इनसेंटिव (Incentive) न दिए जाने का मामला उनके ध्यान में है। सरकार आशा कार्यकर्ताओं की मागों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगी।

 

वन विभाग को बोले परमार-पेशेवर शूटर बुलाओ, लोगों को बंदरों से राहत दिलवाओ

हरोली विधानसभा क्षेत्र के दुलैहड़ में आयोजित जनमंच (Jan Manch) के दौरान ग्राम पंचायत पालकवाह के प्रधान संदीप कुमार ने क्षेत्र में बंदरों की समस्या का मामला उठाया। उन्होंने स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार को बताया कि बंदरों ने हमला कर अब तक 50 से अधिक लोगों को घायल किया है और क्षेत्र के लोगों में दहशत है। इस पर विपिन सिंह परमार ने वन विभाग को पेशेवर शूटर (Professional Shooter) बुलाकर लोगों को राहत देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बंदरों को प्रदेश सरकार ने मारने की अनुमति दी है और मारने वाले को मिलने वाली राशि 500 रुपए से बढ़ाकर 700 रुपए कर दी है।

 

बालीवाल निवासी मीरा देवी ने गांव में पिछले छह महीने से पानी न आने की शिकायत की और कहा कि गांववासी बारिश का पानी पीने को मजबूर हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने इस मामले पर कड़ा संज्ञान लेते हुए आईपीएच (IPH) विभाग को प्राइवेट टैंकरों के माध्यम से पानी की सप्लाई करने के निर्देश दिए। जनमंच के दौरान नंगल कलां निवासी नरेंद्र राणा ने आरोप लगाया कि उन्हें प्रदेश सरकार की ओर से उन्हें घर तथा शौचालय बनाने के लिए आर्थिक सहायता मिलनी थी, लेकिन किसी ने जाली हस्ताक्षर कर उनका पैसा हड़प लिया।

परमार ने इस मामले की जांच कराने के निर्देश दिए। दुलैहड़ निवासी राजीव कुमार ने कहा कि बेटी का इलाज पीजीआई चंडीगढ़ में चल रहा है और डॉक्टरों ने साढ़े सात लाख रुपए का खर्च बताया है। कुठार बीत निवासी मनप्रीत कौर ने भी बेटे के इलाज के लिए आर्थिक सहायता देने की मांग की। इस पर डीसी ऊना (DC Una) संदीप कुमार ने हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Delhi के टैक्सी ड्राइवर की Manali में गई जान, जांच में जुटी पुलिस

बीजेपी अध्यक्ष बनने के बाद Solan पहुंचे बिंदल, कहीं यह बात

जयराम के हाथ बढ़ाने, Anurag के हाथ न मिलाने के पीछे आखिर क्या है सच-वीडियो

ऊना अस्पताल में प्रसव के बाद महिला की गई जान, परिजनों का हंगामा

Air India ने धर्मशाला-चंडीगढ़ की फ्लाइट के किराए में की कटौती

BJP अध्यक्ष बनने के बाद जोश में बिंदल, जोशीले अंदाज में कार्यकर्ताओं को नमन

आखिर किससे आजाद हुए डॉ. राजीव बिंदल, सुने Jai Ram की जुबानी

Pictures: शुभकामना संदेश तक सिमट गए Dhumal-Shanta,बिंदल की ताजपोशी के नहीं बने गवाह

CAA पर शांता बोले- विपक्ष को आंदोलन भड़काने में क्या शर्म नहीं आती

कारीगरीः कार मैकेनिक ने ठीक कर दी Mandi के ऐतिहासिक घंटाघर की घड़ियां

मां बनने के बाद सानिया की कोर्ट पर शानदार वापसी, जीता खिताब

ब्रेकिंग: Bindal बने हिमाचल BJP के अध्यक्ष, आधिकारिक घोषणा के साथ ही खूब गूंजे नारे

Bindal की ताजपोशी से पहले पीटरहॉफ का माहौल भगवा हुआ, नाटियों के बीच जश्न

गश्त के दौरान पुलिस टीम ने Charas के साथ धरा लवांजी निवासी

केरल के लोगों ने Rahul Gandhi को चुनकर भयानक गलती की : रामचंद्र गुहा

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है