Covid-19 Update

1,37,766
मामले (हिमाचल)
1,02,285
मरीज ठीक हुए
1965
मौत
22,992,517
मामले (भारत)
159,607,702
मामले (दुनिया)
×

चार घंटे पैदल चली Himachal Police-आगे देखा तो मत पूछो क्या था,Video स्टोरी बताएगी सच

मंडी पुलिस ने दस बीघा जमीन से नष्ट किए अफीम के 1,42,686 पौधे, 6 मामले दर्ज

चार घंटे पैदल चली Himachal Police-आगे देखा तो मत पूछो क्या था,Video स्टोरी बताएगी सच

- Advertisement -

मंडी। हिमाचल पुलिस (Himachal Police)ने जिला मंडी में अफीम की सबसे बड़ी खेती को नष्ट करने में सफलता हासिल की है। अफीम की यह खेती (Poppy Cultivation) द्रंग के तहत आने वाली उपतहसील टिक्कन के एक दुर्गम क्षेत्र में जाकर नष्ट की गई है। मंडी जिला पुलिस (Mandi district police) को गुप्त सूचना मिली थी कि क्षेत्र में भारी मात्रा में अफीम की खेती की गई है। इसपर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए डीएसपी पधर लोकेंद्र नेगी (DSP Padhar Lokendra Negi) के नेतृत्व में तीन टीमों का गठन किया और मौके पर पहुंची। यहां पुलिस ने देखा कि दस बीघा जमीन पर अफीम की खेती लहलहा रही थी। पुलिस ने तुरंत प्रभाव से इसे नष्ट करने का कार्य शुरू कर दिया। एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि टीम ने 1 लाख 42 हजार 686 अफीम के पौधों को नष्ट किया है।


यह भी पढ़ें: Himachal: नशे में धंसता युवा वर्ग, 21 वर्षीय युवक के पास मिली डेढ़ किलो चरस

वहीं इस मामले में एनडीपीएस एक्ट के तहत छह मामले भी दर्ज किए गए हैं। दस बीघा जमीन में से कुछ निजी भूमि है तो कुछ सरकारी है। अब पुलिस राजस्व विभाग के माध्यम से जमीन के मालिकों की तलाश में जुट गई है जिनसे पूछताछ की जाएगी। बताया जा रहा है कि यह जिला में अब तक अफीम की खेती की सबसे बड़ी खेप पकड़ी गई है। इससे पहले जिला में एक साथ 30 हजार अफीम के पौधों को ही नष्ट किया गया था। एसपी मंडी, शालिनी अग्निहोत्री (SP Mandi Shalini Agnihotri) ने बताया कि इलाका इतना दुर्गम था कि टीम को वहां पर पहुंचने के लिए चार घंटों की कठिन चढ़ाई को पैदल चढ़ना पड़ा। ऐसे स्थान पर खेती की जा रही थी जहां तक किसी का पहुंच पाना ही संभव नहीं था। यह आपरेशन 21 घंटों तक चला, जिसमें मौके पर गई तीनों टीमें दिन-रात अफीम की खेती को नष्ट करने में जुटी रही। एसपी मंडी ने लोगों से नशे की इस प्रकार की सूचनाओं को पुलिस के साथ सांझा करने का आहवान किया है, ताकि अधिक से अधिक मात्रा में नशा तस्करों पर शिकंजा कसा जा सके।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है