×

वाह री पुलिस ! “वो ” ट्रैक्टर-ट्राली और ट्रक में आए तो सिर्फ चालान, हमारी बसों के परमिट रद्द

वाह री पुलिस ! “वो ” ट्रैक्टर-ट्राली और ट्रक में आए तो सिर्फ चालान, हमारी बसों के परमिट रद्द

- Advertisement -

ऊना। हिमाचल प्रदेश निजी बस ऑपरेटर यूनियन का कहना है ट्रैक्टर-ट्राली, खुली जीप, टैंपो-ट्रक में प्रदेश के धार्मिक स्थलों के लिए श्रद्धालु आ रहे हैं और पुलिस उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही जबकि ओवरलोडिंग (Overloading) पर बसों के चालान किए जा रहे हैं और परमिट रद्द किए जा रहे हैं। बाहरी राज्यों से श्रद्धालुओं को ठूंस कर लाए जा रहे इन वाहनों का मात्र चालान ही किया जाता है वाहन जब्त नहीं किया जाता।


ये भी पढ़ें : जहां खनन माफिया ने दिखाई थी “धौंस” ऊना के एसपी ने आज किया वहां का दौरा

निजी बस ऑपरेटर यूनियन के अध्यक्ष राजेश पराशर, महासचिव रमेश कमल जिला निजी बस ऑपरेटर यूनियन कांगड़ा के अध्यक्ष हैप्पी अवस्थी, जिला बिलासपुर के अध्यक्ष राजेश पटियाल, हमीरपुर से नरेश दर्जी, चंबा से रवि महाजन, सिरमौर से मामराज शर्मा ने पुलिस द्वारा बसों के ओवरलोडिंग के चालान करने के उपरांत निजी बसों के परमिट (Private bus permits) रद्द करने बारे संबंधित आरटीओ कार्यालय को पत्र भेजे हैं। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न जिलों में माल वाहनों में यात्रियों को बिठाकर विभिन्न धार्मिक स्थलों पर लाया जाया जा रहा है। पुलिस केवल चालान करके उन्हें छोड़ देती है।

स्थानीय निजी बस ऑपरेटर जब इस प्रक्रिया का विरोध करते हैं तो पुलिस अधिकारियों (Police officers) का तर्क होता है कि एक ट्रक में 150 से 200 लोग होते हैं, हम ऐसे वाहनों को जब्त नहीं कर सकते। इसका मतलब यह है कि क्या बसों में केवल ड्राइवर और कंडक्टर ही होते हैं। निजी बस ऑपरेटर यूनियन ने प्रशासन व पुलिस विभाग से पूछा है कि एक मालवाहक वाहन में जब 100 से अधिक यात्री सफर कर रहे हो क्या उस ट्रक का 1000 रुपए का चालान काटने के बाद यात्रियों का जीवन सुरक्षित हो जाता है जबकि हाईकोर्ट आदेशों (High court orders) के अनुसार माल वाहन वाहनों में यात्रियों को लाने ले जाने पर पूर्ण प्रतिबंध है। प्रदेश पुलिस को हाईकोर्ट के आदेशों की कोई भी परवाह नहीं है। बेहतर होगा कि पुलिस हाईकोर्ट के आदेशों का पालन करें।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है