Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,594,803
मामले (भारत)
231,514,397
मामले (दुनिया)

उपलब्धिः ई-संजीवनी पोर्टल पर परामर्श पंजीकृत में हिमाचल देश में तीसरे स्थान पर

उपलब्धिः ई-संजीवनी पोर्टल पर परामर्श पंजीकृत में हिमाचल देश में तीसरे स्थान पर

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश ने पूरे देश में ई-संजीवनी पोर्टल (E-Sanjeevani Portal) पर सबसे अधिक परामर्श पंजीकृत करने में तीसरा स्थान हासिल किया है। प्रदेश सरकार (State Govt) के एक प्रवक्ता ने बताया कि हिमाचल प्रदेश ने ई-संजीवनी और ई-संजीवनी ओपीडी के माध्यम से 24,527 परामर्श पंजीकृत किए हैं। 32,035 परामर्श के साथ तमिलनाडू और 28,960 परामर्श के साथ आंध्र प्रदेश के बाद सबसे अधिक परामर्श पंजीकरण करने वाला हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) तीसरा राज्य है। हिमाचल प्रदेश सरकार ने लोगों के हितों को ध्यान में रखते हुए मार्च, 2020 से टेलीमेडिसन सेवा शुरू की है। प्रदेश में 31 मार्च, 2020 को ई-संजीवनी पोर्टल शुरू किया गया था। इस पोर्टल का उद्देश्य अधिकतर स्वास्थ्य संस्थानों जैसे स्वास्थ्य उपकेन्द्र और प्राथमिक उपकेंद्रों को विशेषज्ञ और उत्तम विशेषज्ञ सुविधाओं के साथ प्रदेश के स्वास्थ्य महाविद्यालयों के साथ जोड़ना है।

यह भी पढ़ें: Kullu जिले के इस गांव ने पूरे देश में जमाई धाक, जुड़ी यह बड़ी उपलब्धि

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने लोगों को प्राथमिक उपचार सुविधा (First aid facility) प्रदान करने के उद्देश्य से 504 स्वास्थ्य उपकेंद्रों, 518 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को स्वास्थ्य एवं आरोग्य केंद्र के रूप में स्तरोन्नत करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि टेली-परामर्श सेवाएं प्रदान करने के लिए स्वास्थ्य एवं आरोग्य केन्द्रों को 867 डैस्कटॉप और वेबकॉम के साथ जोड़ा गया है ताकि लोगों को कम्प्यूटर के माध्यम से परामर्श प्रदान किया जा सके। इसके अतिरिक्त, 199 और डैस्कटॉप की आपूर्ति की जा रही है। अभी तक 303 सक्रिय स्वास्थ्य उप-केंद्रों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नेरचौक जिला मंडी के साथ जोड़ा जा चुका है, जिन्हें परामर्श की सुविधा प्रदान की जा रही है।

राज्य में आईजीएमसी शिमला, डॉ. राजेंद्र प्रसाद राजकीय आयुर्विज्ञान महाविद्यालय टांडा और श्री लाल बहादुर शास्त्री राजकीय आयुर्विज्ञान महाविद्यालय नेरचैक में विशेषज्ञ केंद्र स्थापित किए गए हैं। मेडिसिन, कार्डियोलॉजी, ऑर्थोपेडिक्स, ऑब्सटेट्रिक्स, गायनेकोलॉजी, डर्मेटोलॉजी, न्यूरोलॉजी, पेडियाट्रिक्स, गैस्ट्रोएंटरोलॉजी और साइकियाट्री के क्षेत्र में विशेषज्ञ इन केंद्रों में तैनात किया गया है। अब तक इन तीन केंद्रों में विभिन्न विभागों के 112 चिकित्सकों को तैनात किया गया है। विशेषज्ञों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सभी कार्य दिवस पर प्रातः 9:30 बजे से सांय 4:00 बजे तक टैली-परामर्श सेवाएं प्रदान कर रहे हैं।  इसके अतिरिक्त राज्य में ई-संजीवनी ओपीडी पोर्टल भी आरंभ की गई है, जो विशेषकर टैली-परामर्श सेवा उपलब्ध करवा रही है। इस पोर्टल के माध्यम से राज्य का कोई भी व्यक्ति घर बैठे तीन विशेष केंद्रों के चिकित्सकों से परामर्श ले सकता है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है