Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

बिजली बोर्ड एक्सईन को 2 लाख तक की अग्रिम राशि स्वीकृत करने की मिलें शक्तियां

बिजली बोर्ड एक्सईन को 2 लाख तक की अग्रिम राशि स्वीकृत करने की मिलें शक्तियां

- Advertisement -

नादौन। हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड कर्मचारी यूनियन ने बिजली बोर्ड के प्रबंधक वर्ग से किसी भी दुर्घटना में घायल (Injured) होने वाले कर्मचारी के इलाज के लिए संबंधित अधिशाषी अभियंता (XEN) को फौरी तौर पर कम से कम 2 लाख तक की अग्रिम राशि स्वीकृत करने की शक्तियां प्रदान करने की मांग की है। साथ ही कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए टी बेल्ट, हैंड ग्लब्स, टी शूज, रैन सूट, फोक्स लाइट (टॉर्च), सीढ़ियां, चैन पुली ब्लॉक, मैग्गर, अर्थ टैस्टर व टोंग टैस्टर मुहैया करवाएं।


यह भी पढ़ें: हिमाचल में बनेगी ई-वाहन नीति, पहली इलेक्ट्रिक कार में सफर करेंगे जयराम

बिजली बोर्ड के कार्यालयों व शिकायत कक्षों में स्टाफ को बैठने के लिए अच्छी गुणवत्ता वाला पर्याप्त मात्रा में फर्नीचर उपलब्ध करवाने की मांग भी की है। स्पॉट बिलिंग मशीनों के लिए बढ़िया किस्म का कागज उपलब्ध करवाने और हर विद्युत उप-मंडल में नोटों की गिनती के लिए मशीनें भी उपलब्ध करवाने को आवाज बुलंद की है। यूनियन ने यह भी मांग की है कि कार्यालयों के काम के संचालन के लिए उत्तम श्रेणी के आधुनिक कम्प्यूटर (Computer) उपलब्ध करवाए जाएं।

हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड कर्मचारी यूनियन प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह खरवाड़ा ने नादौन में पत्रकार वार्ता में कहा है कि राज्य विद्युत बोर्ड लिमिटेड का प्रबंधक वर्ग अगर प्रदेश की जनता को सुचारू रूप से विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करना चाहता है, तो पर्याप्त मात्रा में स्टाफ उपलब्ध करवाए, क्योंकि विभाग के पास 5 बजे के बाद शिफ्ट ड्यूटी (Duty) लगाने के लिए कर्मचारी नहीं हैं। अगर 5 बजे के बाद देर रात को बिजली गुल हो जाती है तो बिजली आपूर्ति बहाल करने के लिए स्थानीय कर्मचारियों पर जनता का भारी दबाव रहता है। कई बार बिजली कर्मचारी स्थानीय जनता के दबाव में देर रात को भी विद्युत आपूर्ति बहाली के लिए अपने बिजली ट्रांसफार्मर व लाइनों पर काम करने के लिए चढ़ जाते हैं और जरा सी भी चूक होने की बजह से दुर्घटनाओं में मारे जा रहे हैं या फिर गंभीर रूप से घायल हो कर के सदा के लिए अपाहिज हो रहे हैं।


एक अप्रैल से लेकर 31 जुलाई तक 10 तकनीकी कर्मचारियों की मौत

यूनियन प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह खरवाड़ा ने बताया कि बिजली बोर्ड में एक अप्रैल 2019 से लेकर 31 जुलाई 2019 तक विभिन्न दुर्घटनाओं में 10 तकनीकी कर्मचारियों की मौत हो चुकी है, जबकि 9 कर्मचारी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। जबकि अगस्त महीने में हमीरपुर जिले में ही 6 तकनीकी कर्मचारी करंट लगने से दुर्घटना का शिकार हुए हैं। प्रदेश स्तर पर अधिकतर जूनियर टी-मेट (Junior T-Mate) व आउटसोर्स श्रेणी के कर्मचारी ही दुर्घटनाओं का शिकार हो रहे हैं।

यूनियन बिजली बोर्ड के कर्मचारियों से भी कहा है कि वे अपनी ड्यूटी (Duty) खत्म होने के बाद किसी के भी दबाव में आकर तब तक बिजली बहाली करने का जोखिम न उठाएं, जब तक बिजली बोर्ड के अधिकारी खुद उपस्थित होकर समुचित व्यवस्था मुहैया नहीं करवाते हैं, क्योंकि बिजली व्यवस्था को सुचारू बनाए रखना एक सामूहिक जिम्मेदारी है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है