×

विधायकों ने करुणामूलक नौकरी का सवाल उठाया, सरकार ने जवाब दिया सूचना जुटा रहे हैं

ठियोग से विधायक राकेश सिंघा ने एससी/एसटी एक्ट से जुड़ा सवाल उठाया

विधायकों ने करुणामूलक नौकरी का सवाल उठाया, सरकार ने जवाब दिया सूचना जुटा रहे हैं

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल विधानसभा (Himachal Vidhansabha) में विधायकों द्वारा करुणामूलक नौकरियों को लेकर सवाल किया गया। सरकार से सवाल पूछा गया था कि सरकार करुणामूलक (Compassionate Job) आश्रितों के हितों को ध्यान में रखते हुए कोई नीति (Compassionate Job Policy) बनाने का विचार रख रही है तो कब यह नीति बनेगी। इसके अलावा दूसरा सवाल पूछा गया कि प्रदेश में करुणामूलक आधार पर नियुक्तियों के लिए कितने आवेदन (Application) आए लंबित हैं। तीसरे सवाल में पूछा गया कि सरकार द्वारा करुणामूलक आधार पर नौकरी मांगने वाले आवेदनों के निपटारे के लिए क्या कदम उठाए गए हैं। चौथा सवाल पूछा गया कि जनवरी 2018 से 31 जनवरी, 2021 तक कितने लोगों को करुणामूलक आधार पर नियुक्तियां दी गईं। इसका जिलावार ब्यौरा मांगा गया था, लेकिन सरकार की ओर से जवाब दिया गया अभी इन सभी प्रश्नों से संबंधित जानकारियां जुटाई जा रही हैं।


यह भी पढ़ें: सतपाल रायजादा ने उठाया हिमाचली हिंदू युवक को सऊदी अरब में दफनाने का मामला

करुणामूलक नौकरियों से संबंधित सवाल नेता प्रतिपक्ष और हरोली से कांग्रेस विधायक मुकेश अग्निहोत्री (Mukesh Agnihotri), जोगिंद्रनगर से विधायक प्रकाश राणा, बड़सर से विधायक इंद्र दत्त लखनपाल, कांगड़ा से विधायक पवन काजल (Pawan Kajal), नैना देवी से विधायक राम लाल ठाकुर ने उठाया था, , लेकिन सवाल पर सरकार की तरफ से जवाब आया कि अभी सूचना एकत्रित की जा रही है। आपको बता दें कि यह जानकारी सीएम जयराम ठाकुर से मांगी गई थी।

यह भी पढ़ें: सीएम जयराम के घर-द्वार वाली पंचायत का है ये बवाल, सफाई देते फिर रहे ये लोग

हिमाचल प्रदेश में पिछले तीन साल के दौरान SC/ST (Prevention Atrocities) एक्ट के तहत 629 मामले दर्ज़ हुए, जिसका कन्विक्शन रेट 9 फीसदी है। कन्विक्शन रेट मतलब नौ फीसदी मामलों में ही अभी तक फैसला आया है। विधानसभा प्रश्नकाल में यह सवाल ठियोग के विधायक राकेश सिंघा ने सीएम से पूछा था। इसके लिखित जबाब में यह आंकड़ा सामने आया है। यह भी पूछा गया था कि क्या रोहड़ू के एक मामले में पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज़ करने से मना किया था। इसके लिखित जबाब में आया कि ऐसा नहीं हुआ।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है