×

Vikramaditya के बोलः Jaitley देखते तो वित्त मंत्रालय पर करते रहे Scam

Vikramaditya के बोलः Jaitley देखते तो वित्त मंत्रालय पर करते रहे Scam

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष विक्रमादित्य सिंह का कहना है कि मोदी कैबिनेट के सदस्य अरूण जेटली देखते तो वित्त मंत्रालय हैं  पर करते रहे घोटाले हैं। उन्होंने कहा कि यही अरूण जेटली हैं जो दिल्ली एडं डिस्ट्रिक क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) के अध्यक्ष रहते हुए मात्र घोटाले ही करते रहे। विक्रमादित्य का कहना है कि अगर पीएम बनने के बाद नरेंद्र मोदी, जेटली पर तरस ना खाते और उन्हें कैबिनेट में ना लेते तो आज अरूण जेटली कहां होते.. इस बात से वह भी वाकिफ हैं। विक्रमादित्य का कहना है कि  अरूण जेटली को याद रखना चाहिए की क्रिकेटर कीर्ति आजाद ने उनपर जो आरोप लगाए थे क्या वे सत्य नहीं थे ,सत्य थे इसलिए ही जेटली की बोलती बंद होकर रह गई थी। युवा कांग्रेस अध्यक्ष ने यह बातें अरूण जेटली द्वारा आज कांगड़ा के चम्बी में आयेजित बीजेपी के त्रिदेव सम्मेलन के दौरान अरूण जेटली द्वारा प्रदेश सरकार पर किए गए हमले के परिपेक्ष्य में कही हैं।


  • कहा, जो शख्स खुद चुनाव ना जीत सकता हो वह चुनी हुई सरकार पर लगा रहा है आरोप
  • नहीं भूलना चाहिए कि वित्तमंत्री की जिम्मेदारी मिली है ना कि एक परिवार के वकील की
  • कसूर जेटली का यही, वह अपने दिमाग से ना सोचकर धूमल एंड संज के दिमाग से सोचते हैं 

विक्रमादित्य ने कहा कि जो शख्स खुद चुनाव ना जीत सकता हो वह कैसे एक चुनी हुई सरकार पर आरोप लगा सकता है। उन्होंने कहा कि अरूण जेटली को यह नहीं भूलना चाहिए कि वह देश के वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं ना कि किसी एक परिवार के वकील की। क्योंकि अरूण जेटली तो एक मोहरा है, उनके पीछे खड़ा धूमल परिवार ही यह सब कुछ  उन्हें कहने के लिए मजबूर और बाध्य करता है। उन्होंने कहा कि अरूण जेटली आज किस आधार पर यह बात कह सकते हैं कि जो आरोप सीएम व परिवार पर लगे हैं वह पूरी तरह से पुख्ता हैं। उन्होंने कहा कि यही बातें इस तरफ ईशारा करती हैं कि अरूण जेटली एक राजनीतिक परिवार के कहने पर सब कुछ बोलते हैं। उन्होंने कहा कि अरूण जेटली आज आए तो  बीजेपी कार्यकर्ताओं से मिलने थे पर बात वह प्रदेश सरकार की करते रहे। इसी से साफ झलकता है कि उन्हें वीरभद्र सरकार नाम से कितना भय व खौफ नजर आता है। 

वास्तव में इसमें कसूर जेटली का यही है कि वह अपने दिमाग से ना सोचकर धूमल एंड संज के दिमाग से काम लेते हैं।  विक्रमादित्य ने कहा कि जेटली को कम से कम अपने पद की गरिमा का ध्यान रखना चाहिए,वरना देश की जनता उनसे क्या उम्मीद कर सकती है। साथ ही जेटली को अपने ऊपर लगे आरोपों की तरफ भी ध्यान देना चाहिए कि वह वास्तव में हैं क्या। उसके बाद ही वह किसी पर दोषारोपण करने की सोचें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है