Covid-19 Update

58,645
मामले (हिमाचल)
57,332
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,111,851
मामले (भारत)
114,541,104
मामले (दुनिया)

Padmavati का विरोधः भंसाली की अर्थी निकाल किया प्रदर्शन, धमकी भी दी

Padmavati का विरोधः भंसाली की अर्थी निकाल किया प्रदर्शन, धमकी भी दी

- Advertisement -

बद्दी। यहां आज संजय लीला भंसाली की अर्थी उठाकर हिंदू जागरण मंच के बैनर तले दो किलोमीटर लंबा विरोध-प्रदर्शन किया गया। बद्दी साई मार्ग पर ऑटो स्टैंड से लेकर सनसिटी सिनेमा तक प्रदर्शन में सैकड़ों हिंदुओं ने हुंकार भरी। बता दें कि पूरे देश में जहां फिल्म पद्मावति को लेकर विरोध हो रहा है। अब हिमाचल भी इस आग से अछूता नहीं रहा। बद्दी में हिंदू जागरण मंच ने जोरदार प्रदर्शन कर दो टूक शब्दों में कहा कि अगर फिल्म रिलीज हुई तो भंसाली पहले ही अपने चौथे की तैयारी कर लें।

आंदोलित युवाओं ने कहा कि हिंदू की चुप्पी का बॉलीवुड ने मजाक बना रखा है। लहराती तलवारों और नारों के बीच युवाओं का काफिला बद्दी के सनसिटी सिनेमा पहुंचा। जहां राजपूत कल्याण सभा के अध्यक्ष राविंद्र सिंह ठाकुर, मुख्य वक्ता राजेश जिंदल, युवा मंडल के अध्यक्ष संजीव ठाकुर, परमजीत सिंह पम्मी, हिंदू जागरण मंच नालागढ़ के संयोजक ऋषि ठाकुर, धर्म जागरण प्रमुख शिमला मंडल के संदीप सचदेवा, पतंजलि युवा भारत सोलन के किशोर ठाकुर, हिमालय जन कल्याण समिति के अध्यक्ष रणेश राणा , राजस्थान विकास परिषद के एसपी वर्मा व नरेंद्र सिंह शेखावत समेत अन्य वक्ताओं ने प्रदर्शन में युवाओं को संबोधित किया।

भारत के इतिहास को तोड़ मरोड़ कर पेश कर रहे फिल्मकार

वक्ताओं ने कहा कि भारत के गौरवशाली इतिहास को फिल्मकार पैसे कमाने के लिए तोड़ मरोड़ कर पेश कर रहे हैं। इससे पहले टैक्सी स्टैंड पर हिंदू मजदूर सभा के प्रदेशाध्यक्ष मेला राम चंदेल, राजपूत कल्याण बोर्ड सदस्य शिवकुमार ठाकुर, जनशक्ति मजदूर सभा के प्रदेश अध्यक्ष राज कुमार चौधरी, ईश्वर ठाकुर, बद्दी विकास मंच के अध्यक्ष बेअंत ठाकुर, संजीव कौशल, जितेंद्र जिंदू, गोगू ठाकुर, टीहरा, रवि, रिंकू, काकू, नीलू, मंजोत, हनी, चंदन सिंह, रविश ठाकुर, सोढी, राजू, सोनू, विक्की, बिल्लू, महेश, विशाल, रोहित, रिकूं, विपिन, शशि कांत बिहारी  व अन्य वक्ताओं ने संबोधित किया। बद्दी के सनसिटी सिनेमा में संजय लीला भंसाली की अर्थी को छोटे से हिंदू बालक शशि कांत बिहारी ने विधिवत तरीके से मुखाग्नि दी। 

Padmavati का विरोधः राजपूत सभा की दो टूक, इतिहास से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है